Categories
हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

आर्य समाज मेरे लिए माता के समान है और वैदिक धर्म मुझे पिता के तुल्य प्यारा है : लाला लाजपत राय

आज़ादी के महानायकों में लाला लाजपत राय का नाम ही देशवासियों में स्फूर्ति तथा प्रेरणा का संचार कराता है। अपने देश धर्म तथा संस्कृति के लिए उनमें जो प्रबल प्रेम तथा आदर था उसी के कारण वे स्वयं को राष्ट्र के लिए समर्पित कर अपना जीवन दे सके। भारत को स्वाधीनता दिलाने में उनका त्याग, […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

जब तैमूर को हराया था मेरठ के वीर योद्धा गुर्जरों व जाटों ने

  डॉ. विवेक आर्य पिछले दिनों करीना कपूर ने जब अपने बेटे का नाम तैमूर रखा तो देश में एक चर्चा चल पडी कि एक विदेशी आक्रांता और निर्मम हत्यारे के नाम पर कोई अपने बेटे का नाम कैसे रख सकता है? इस क्रम में यह बात तो सबने कहा कि तैमूर ने लाखों लोगों […]

Categories
आओ कुछ जाने

दिल्ली में अत्याचारी बाबर के नाम से विधानसभा और मेट्रो स्टेशन आदि के नाम क्यों?

  डॉ विवेक आर्य सभ्य समाज में किसी स्थान, मार्ग, स्मारक, शहर आदि का नामकरण ऐसे नामों से किया जाता है। जो इतिहास में बड़ी विभूति अथवा महान कार्यावेता हो। जिनसे हमें प्रेरणा मिले। सम्पूर्ण विश्व में इस नियम का पालन होता हैं। मगर हमारे भारत देश में इस नियम के विपरीत विदेशी आक्रांताओं जैसे […]

Categories
इतिहास के पन्नों से स्वर्णिम इतिहास

अकबर को जब वीर हिंदू रमणी किरण देवी ने सिखाया था सबक

  डॉ विवेक आर्य अकबर घोर विलासी, अय्याश बादशाह था। वह एक ओर हिन्दुओं को मायाजाल में फंसाने के लिए “दीने इलाही” के नाम पर माथे पर तिलक लगाकर अपने को सहिष्णु दिखाता था, दूसरी ओर सुन्दर हिन्दू युवतियों को अपनी यौनेच्छा का शिकार बनाने की जुगत में रहता था। दिल्ली में वह “मीना बाजार” […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

हिंदू धर्म और सामी मजहब

—————————————————— “ईसाइयत अथवा इस्लाम का केन्द्रबिन्दु है इतिहास-प्रसिद्ध पुरुष; हिन्दू धर्म का केन्द्रबिन्दु है मनुष्य की उर्ध्वस्थ चेतना में विद्यमान सत्य। यदि ईसा मसीह अथवा मुहम्मद ने जन्म नहीं लिया होता, तो न ईसाइयत का उदय होता न इस्लाम का। किन्तु हिन्दू धर्म के अनुसार मनुष्य का धर्म इस प्रकार के किसी संयोग पर निर्भर […]

Categories
राजनीति

अवसरवादी राजनीति और सत्य इतिहास

  डॉ विवेक आर्य भीमा कोरेगांव की घटना को कुछ तथाकथित बुद्धिजीवी लोग दलित और आदिवासियों पर हुए अत्याचार के विरुद्ध संघर्ष के रूप में दर्शाने का प्रयास कर रहे है। सत्य यह है कि हमारे देश की कुछ विभाजनकारी मानसिकता को बढ़ावा देने वाली ताकतें अपना राजनीतिक भविष्य बनाने के चक्कर में देशवासियों को […]

Categories
आज का चिंतन

क्या है जीवन में सुख का आधार?

  एक बार एक महात्मा ने अपने शिष्यों से अनुरोध किया कि वे कल से प्रवचन में आते समय अपने साथ एक थैली में बडे़ आलू साथ लेकर आयें, उन आलुओं पर उस व्यक्ति का नाम लिखा होना चाहिये जिनसे वे ईर्ष्या, द्वेष आदि करते हैं । जो व्यक्ति जितने व्यक्तियों से घृणा करता हो, […]

Categories
उगता भारत न्यूज़

हिन्दू विरोध का गढ़ बन चुका है बॉलीवुड

  डॉ विवेक आर्य सैफ अली खान ने आदिपुरुष के नाम से नई फ़िल्म की घोषणा की है। इस फ़िल्म की घोषणा के साथ सैफ ने यह कहा कि वो रावण के उस प्रारूप के से परिचित करवाएंगे जिससे लोग परिचित नहीं है अर्थात रावण द्वारा माता सीता के अपहरण को उचित ठहराएंगे। बॉलीवुड जिहाद […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

हिंदुस्तान में शैतान तैमूर के काले कारनामे

  (21 दिसंबर, 1398 को आज ही के दिन तैमूर ने दिल्ली के कत्लेआम को विराम दिया था) डॉ विवेक आर्य सैफ अली खान और करीना कपूर खान ने अपने बेटे का नाम नवाब तैमूर अली खान पटौदी रखा है। वैसे तो इन दोनों से अपेक्षा रखना बेकार है कि इन्हें यह मालूम होगा कि […]

Categories
धर्म-अध्यात्म भारतीय संस्कृति

ब्राह्मण शब्द के संबंध में भ्रांतियां और उनका समाधान

  डॉ विवेक आर्य ब्राह्मण शब्द को लेकर अनेक भ्रांतियां हैं। इनका समाधान करना अत्यंत आवश्यक है। क्यूंकि हिन्दू समाज की सबसे बड़ी कमजोरी जातिवाद है। ब्राह्मण शब्द को सत्य अर्थ को न समझ पाने के कारण जातिवाद को बढ़ावा मिला है। शंका 1 ब्राह्मण की परिभाषा बताये? समाधान- पढने-पढ़ाने से,चिंतन-मनन करने से, ब्रह्मचर्य, अनुशासन, […]

Exit mobile version