Categories
राजनीति

केंद्र और राज्य सरकार के बीच पिसता आम आदमी

एक दशक से देश की सियासत में एक तरह की राजनीति कुछ अलग ही तरीके से चल पड़ी है, जिसके चलते छोटे-छोटे मामलों पर बड़े-बड़े पदों पर बैठे लोगों को अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। केंद्र से अलग पार्टी की सरकार वाले राज्यों के पास अक्सर इस बात का रोना रहता […]

Categories
राजनीति

सत्ता में लौटने के लिए बदलनी होगी राजस्थान कांग्रेस को अपनी चाल

रमेश सर्राफ धमोरा राजस्थान में अगले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी चुनावी तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। प्रदेश में सत्तारुढ़ कांग्रेस पार्टी, मुख्य विपक्षी दल भाजपा, तिकोनी टक्कर बनाने में जुटी बसपा, आम आदमी पार्टी, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन, वामपंथी दल, भारतीय ट्राइबल […]

Categories
राजनीति

राजनीति में राजनीतिक वफादारी और नैतिकता

मेरा अनुभव है कि सरकार बदलने के साथ ही बहुत सारी बातें अनायास ही बदल जाती हैं या अमल में आती हैं.नयी नीतियाँ,नये नियम,नये आदेश,नये लोग,और नयी समझ का आगाज़ होता है.यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है क्योंकि “तिल तिल नूतन होय”—वाला आप्त-वचन प्रकृति और राजनीति दोनों पर लागू होता है.पिछले दिनों मेरे एक मित्र आग […]

Categories
राजनीति

भारत में पैदल यात्राओं का इतिहास और राहुल गांधी

हमारे देश में पैदल-यात्राओं का लम्बा इतिहास रहा है।राजनेताओं ने भी ये यात्राएँ की हैं और सामाजिक कार्यकर्त्ताओं ने भी।राजनीतिक यात्राएँ अपेक्षाकृत ज्यादा हुयी हैं। राजनीतिक पदयात्राओं की शुरुआत का श्रेय महात्मा गांधी को दिया जाता है। एक तरह से महात्मा गांधी को राजनीतिक पदयात्राओं का जनक कहा जा सकता है।महात्मा गांधी अक्सर पैदल ही […]

Categories
राजनीति

महंगी पड़ेगी कांग्रेस को मध्य प्रदेश में अनुसूचित जाति- जनजाति की अनदेखी ?**

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी आजादी के बाद से लेकर 2003 तक (1977-1980 को छोड़ दिया जाए) लगातार सत्ता में रही। इस बीच कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने प्रदेश की बागडोर संभाली। लेकिन 10 साल लगातार बागडोर संभालने के बाद दिग्विजय सिंह जब 2003 में उमा भारती के करिश्माई नेतृत्व के कारण सत्ता से […]

Categories
राजनीति

मोदी के 2024 के मिशन की अंतिम कील और खलनायक साबित होंगे नड्डा*

जेपी नड्डा की भस्मासुरी करतूत पढ़ाता हूं मैं ================= आचार्य श्री विष्णुगुप्त नरेन्द्र मोदी के अभियान 2024 के लिए नड्डा भस्मासुर साबित होंगे, खलनायक साबित होंगे, कमजोर कड़ी साबित होंगे? नड्डा के अंहकार, जातिवादी मानसिकताएं, अति महत्वाकांक्षाएं अब मोदी और भाजपा के लिए भारी नुकसान के कारण बन रहीं हैं। दिल्ली नगर निगम और हिमाचल […]

Categories
राजनीति

आज के परिवेश में 2024 में विपक्ष में प्रधानमंत्री पद के कितने दावेदार?

अशोक भाटिया गुजरात व हिमाचल प्रदेश विधान सभा के और दिल्ली एम सी डी के चुनाव नतीजे आ चुके है । भाजपा से केवल 1 प्रतिशत वोट ज्यादा लेकर कांग्रेस उत्साहित है और सरकार बना रही है । दिल्ली एम सी डी के चुनाव में आप पार्टी भाजपा से केवल 2 लाख वोट ज्यादा लेकर […]

Categories
राजनीति

कौन जीता, कौन हारा

वीरेंद्र सिंह परिहार 8 दिसंबर को संपन्न हुए गुजरात एवं हिमाचल के विधानसभा के नतीजे एवं दिल्ली महानगरपालि के चुनाव नतीजे को लेकरसभी अपने अपने जीत के दावे कर सकते हैं. जहां भाजपा गुजरात विधानसभा में जीती, वहीं कांग्रेस पार्टी हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में स्पष्ट बहुमत प्राप्त की. दिल्ली महानगर पालिका के चुनाव […]

Categories
राजनीति

हालिया तीनों जनादेशों ने देश की राजनीति की आगे की दशा-दिशा तय कर दी है

भारत के दो राज्यों गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश और एक नगर निगम दिल्ली के चुनावों में इन क्षेत्रों के मतदाताओं ने जो जनादेश दिया है उससे एक बार फिर सिद्ध हो गया है कि भारत में लोकतंत्र कायम है और इसकी जीवंतता के लिये मतदाता जागरूक है। मतदाता को ठगना या लुभाना अब नुकसान का […]

Categories
राजनीति

ब्रांड मोदी का नहीं है कोई विकल्प, समझिये गुजरात चुनाव से मिले कुछ बड़े संदेशों को

गुजरात विधानसभा चुनावों में भाजपा ने प्रचंड जीत हासिल कर 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए अपना दावा तो मजबूत किया ही है साथ ही यह भी साबित किया है कि किसी भी अन्य पार्टी के पास ब्रांड मोदी का कोई विकल्प नहीं है। इन चुनावों ने यह भी दर्शाया कि प्रधानमंत्री मोदी जैसी मेहनत […]

Exit mobile version