Categories
देश विदेश

मज़बूरी का फायदा उठाने की कला

24 मार्च 2015 को पोप फ्रांसिस ने ट्वीट किया था- ‘आपदा कन्वर्जन का आह्वान है।’ अप्रैल 2015 में नेपाल में बहुत बड़ा भूकम्प आया. लाखों लोग बेघर हो गए. नेपाली गांव रिचेट भी नष्ट हो गया। रिचेट में सबसे पहले चर्च का पुनर्निर्माण हुआ. राहत शिविरों में बड़ी संख्या में हिन्दूओं को ईसाई बनाया गया. […]

Categories
भारतीय संस्कृति

वैदिक सृष्टि संवत और वैदिक चिंतन

आप व आपके परिवार को वैदिक नववर्ष, चैत्र शुक्ल प्रतिपदा विक्रमी संवत् 2081 अर्थात् 9 अप्रैल 2024 की हार्दिक शुभकामनाएं! प्राता रत्नं प्रातरित्वा दधाति तं चिकित्वान्प्रतिगृह्या नि धत्ते। तेन प्रजां वर्धयमान आयू रायस्पोषेण सचते सुवीर:।। -ऋ० १/१२५/१ Bhavarth:- The learned hero who is in the habit of getting up early in the morning, enjoys and […]

Categories
भारतीय संस्कृति

जातिवाद को मिटाने के हमारे पूर्वजों का एक विस्मृत प्रयास

#डॉविवेकआर्य आर्यसमाज और शुद्धि आंदोलन। ₹500 (डाक खर्च सहित) मंगवाने के लिए 7015591564 पर वट्सएप द्वारा सम्पर्क करें। 1926 में पंजाब में आद धर्म के नाम से अछूत समाज में एक मुहिम चली। इसे चलाने वाले मंगू राम, स्वामी शूद्रानन्द आदि थे। ये सभी दलित समाज से थे। स्वामी शूद्रानन्द का पूर्व नाम शिव चरन […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

जब गांधीजी ने स्वामी श्रद्धानंद के हत्यारे अब्दुल रशीद को भाई कहकर संबोधित किया तो सावरकर ने क्या जवाब दिया?

डॉ विवेक आर्य गांधीजी द्वारा इस बात को तर्कसंगत बनाने और स्पष्ट निंदा न करने से सावरकर को घृणा हुई। गांधी के इन कथनों का तीखा जवाब देते हुए सावरकर ने 10 फरवरी 1927 को ‘गांधीजी और निर्दोष हिंदू’ शीर्षक से एक निबंध लिखा। एक हिंसक हत्यारे को ‘भाई’ कहने की निंदा करते हुए सावरकर […]

Categories
हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

महान स्वतन्त्रता सेनानी वैदिक धर्म रक्षक स्वामी ओमानन्द सरस्वती की जयंती पर उन्हें कोटि कोटि नमन-

(22 मार्च 1911-23 मार्च 2003) स्वामी जी के बचपन का नाम भगवान सिंह खत्री था। आपका जन्म एक जाट परिवार में हुआ था। आप कट्टर आर्य समाजी थे। भगत सिंह के बलिदान से आपको देश की अंग्रेज सरकार से घृणा हो है।आपने 10000 से ऊपर हिन्दू जो इसाई बन चुके थे उन्हें वापस हिन्दू बनाया।ईसाई […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

मालाबार में मोपला हिंसा और गाँधी जी

#डॉविवेकआर्य मोपला के इतिहास से जुड़ी पुस्तकें मंगवाने के लिए 7015591564 पर वट्सएप द्वारा सम्पर्क करें देश के इतिहास में सन् 1921 में केरल के मालाबार में एक गांव में मोपलाओं ने हिन्दू जनता पर अमानवीय क्रूर हिंसा की थी। इस घटना पर देशभक्त जीवित शहीद वीर सावरकर जी ने ‘मोपला’ नाम का प्रसिद्ध उपन्यास […]

Categories
भारतीय संस्कृति

हिंदू संगठन शक्ति समय की आवश्यकता

हिंदुओं अब तो संगठित हो जाओ! #डॉविवेकआर्य एक बार एक कसाई के पास उसका एक दोस्त उससे मिलने गया। वहाँ उसने देखा कि एक बड़े से पिंजरे नुमा घर में ढेर सारे बकरे कैद है। और आपस में बड़े ही मस्ती के साथ खेल रहे हैं। उस पिंजरे से वह कसाई एक एक करके बकरे […]

Categories
पुस्तक समीक्षा

आर्यसमाज और शुद्धि आन्दोलन

शुद्धि आर्यसमाज और शुद्धि आन्दोलन ₹500 Arya samaj and Shuddhi Movement ₹300 मंगवाने के लिए 07015 591564 पर वट्सएप करें। वैदिक धर्म का भक्त ‘काले खाँ’ अर्थात् ‘कृष्णचन्द्र’ प्रियांशु सेठ यह कहना तो नितान्त उचित है कि ऋषि दयानन्द की वैचारिक क्रान्ति ने न केवल किसी मत अथवा व्यक्ति विशेष को कल्याण का मार्ग दिखाया […]

Categories
आतंकवाद

शहरी नक्सली और आतंकवाद

‘शहरी नक्सली’ की परिभाषा #डॉविवेकआर्य वामपंथी इतिहासकार रोमिला थापर ने सरकार से ‘शहरी नक्सली’ शब्द को परिभाषित करने की मांग की है। कमाल देखिये अपने आपको बुद्धिजीवी कहने वाली और दशकों से सत्ता का समर्थन लेकर भारत के शिक्षा संस्थानों के पाठयक्रम को निर्धारित करने वाली रोमिला थापर ‘शहरी नक्सली’ की परिभाषा तक नहीं जानती। […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

इतिहास की अमर गाथा

  आर्यसमाज के इतिहास में अनेक प्रेरणादायक संस्मरण हैं जो अमर गाथा के रूप में सदा सदा के लिए प्रेरणा देते रहेंगे। एक ऐसी ही गाथा रोपड़ के लाला सोमनाथ जी की हैं। आप रोपड़ आर्यसमाज के प्रधान थे। आपके मार्गदर्शन में रोपड़ आर्यसमाज ने रहतियों की शुद्धि की थी। यूँ तो रहतियों का सम्बन्ध […]

Exit mobile version