Categories
इतिहास के पन्नों से

नेहरू और हरि सिंह का वह पत्राचार जो बताता है कि कश्मीर मसले को संयुक्त राष्ट्र में ले जाने के पीछे क्या थी रणनीति

पीयूष बबेले 1958 में जवाहर लाल नेहरू । ‘हम यह मामला संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा समिति के सामने प्रस्तुत करेंगे. उसके बाद सुरक्षा समिति शायद अपना एक कमीशन भारत भेजेगी. अलबत्ता, इस बीच हम आज की तरह (कश्मीर में) अपनी सैन्य कार्रवाई को जारी ही रखेंगे. बेशक इन कार्रवाइयों को हम अधिक जोरों से […]

Categories
राजनीति

एनडीए को नवंबर में होने वाले राज्यसभा चुनावों में आठ से नो सीट मिलने की संभावना

संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की दस सीटों के लिए होने वाले चुनाव में मतदान की संभावना काफी कम नजर आ रही है। बिखरा विपक्ष और इनमें एकजुटता की कमी से किसी एक दल के पास पर्याप्त विधायक न होने के कारण शायद ही शक्ति प्रदर्शन जैसी स्थिति उत्पन्न हो। चुनाव आयोग ने उत्तर […]

Categories
भारतीय संस्कृति

भारतीय संस्कृति का आधार- धर्म, समन्वय और आचार

सुशील कुमार शर्मा संस्कृति जीवन की विधि है। संस्कृति हमारे जीने और सोचने की विधि में हमारी अंत:स्थ प्रकृति की अभिव्यक्त है। सभ्यता और संस्कृति को समानार्थी समझ लिया जाता है, जबकि ये दोनों अवधारणाएं अलग-अलग हैं। संसार के सभी विद्वानों ने ‘संस्कृति’ शब्द की विभिन्न परिभाषाएं, व्याख्याएं की हैं। कोई सर्वमान्य परिभाषा नहीं मिल […]

Categories
इतिहास के पन्नों से

जब मनाया गया था बंग भंग के विरोध में अद्भुत रक्षाबंधन

16 अक्तूबर/इतिहास-स्मृति   भारतीय स्वतन्त्रता के इतिहास में बंग भंग विरोधी आन्दोलन का बहुत महत्व है। इसमें न केवल बंगाल, अपितु पूरे भारत के देशभक्त नागरिकों ने एकजुट होकर अंग्रेजों को झुकने पर मजबूर कर दिया था। उन दिनों देश के मुसलमान भी हिन्दुओं के साथ मिलकर स्वतन्त्रता के लिए संघर्ष कर रहे थे। अंग्रेज […]

Categories
हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

आर्य समाज की महान धरोहर थे महात्मा आनंद स्वामी

  …………………………………. 15 अक्तूबर/जन्म-दिवस   आर्य समाज के वरिष्ठ नेता महात्मा आनन्द स्वामी का जन्म 15 अक्तूबर, 1883 को हुआ था। उनके पिता मुंशी गणेश दास हिन्दू समाज की कुरीतियों से दुखी होकर ईसाई बनने जा रहे थे; पर तभी उनकी भेंट महर्षि दयानन्द सरस्वती से हो गयी। उन्होंने मुंशी जी को बताया कि ये […]

Categories
हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

भारत के मिसाइल मैन डॉक्टर अब्दुल कलाम

15 अक्तूबर/जन्म-दिवस   क्या हम कल्पना कर सकते हैं कि उस युवक के मन पर क्या बीती होगी, जो वायुसेना में विमान चालक बनने की न जाने कितनी सुखद आशाएं लेकर देहरादून गया था; पर परिणामों की सूची में उसका नाम नवें क्रमांक पर था, जबकि चयन केवल आठ का ही होना था। कल्पना करने […]

Categories
विश्वगुरू के रूप में भारत

भारतीय विज्ञान की पहुंच वर्तमान विज्ञान से कम नहीं

गुरूदत्त विज्ञान और विज्ञान से हमारा अभिप्राय है भारतीय विज्ञान और पाश्चात्य विज्ञान। इसका अर्थ प्राचीन विज्ञान और अर्वाचीन विज्ञान भी है। क्या प्राचीन काल में भी किसी प्रकार का विज्ञान था? अन्य देशों की बात तो हम नहीं जानते, किन्तु भारतवर्ष में विज्ञान नाम प्रचलित था और उसमें बहुत उन्नति भी हुई थी। भगवद्गीता […]

Categories
मुद्दा

अब्दुल्ला परिवार का कश्मीर

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री (वरिष्ठ स्तंभकार) अलबत्ता फारूक अब्दुल्ला ने अपनी पारिवारिक परंपरा को निभाते हुए एक ध्यान रखा है। वह बात सदा अपने कुनबे के हित की करते हैं लेकिन नाम आम कश्मीरियों का लेते हैं। यदि ऐसा न होता तो नेशनल कान्फ्रेंस के पास जब सत्ता आती है तो सदा परिवार में ही […]

Categories
राजनीति

बिहार विधानसभा चुनाव में लालू यादव की अनुपस्थिति में उनके दोनों बेटे पार्टी को सत्ता में ला पाते हैं या नहीं?

अंकित सिंह 2015 की ही तरह तेजस्वी यादव इस बार भी वैशाली जिले के राघोपुर सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। 2015 के विधान सभा चुनाव में तेजस्वी यादव ने सतीश यादव को करारी शिकस्त दी थी। पर इस बार भाजपा और जेडीयू के साथ होने के कारण राघोपुर में सतीश यादव मजबूत दावेदार […]

Categories
वैदिक संपत्ति

आर्य समाज ही सनातन धर्म का विशुद्ध रूप है

🛕 कौन कहता है आर्य समाज नया पंथ है? श्रीराम, श्री कृष्ण, भगवान परशुराम,आचार्य चाणक्य आदि हमारे पूर्वज प्रतिदिन जिन श्रेष्ठ कार्यों को करते थे हमारा समाज उन्हें भूल कर अंधविश्वास और कुरीतियों में फंस गया था। उन्हीं कुरीतियों से निकालकर पुनः राम-कृष्ण की परंपरा के पुनर्जागरण अभियान को ही आर्य समाज कहते हैं(आर्य=श्रेष्ठ तथा […]

Exit mobile version