Categories
भयानक राजनीतिक षडयंत्र

तमिलनाडु में चल रहा इसी मिशनरियों का षड्यंत्र

तमिलनाडु के लोगों को अक्सर हिंदी भाषी क्षेत्रों के लोगों से तालमेल की कमी और ईर्ष्या भाव देखा जाता है। तमिल को कई बार राष्ट्रीय भाषा भी बनाने का दबाव बनाया गया। वह लोग कभी भी नोर्थ के लोगों से प्रेमपूर्वक नहीं मिलते, कुछ एक को छोड़कर और सबसे बड़ी बात कि साउथ में खाकर […]

Categories
राजनीति

सोनिया गांधी की चिट्ठी और रायबरेली के लोग

प्रभुनाथ शुक्ल “मैं अपने बच्चों को भीख मांगते देख लूंगी, परंतु मैं राजनीति में कदम नहीं रखूंगी।” यह पीड़ा सोनिया गांधी की थी जो अपने पति एवं पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को खोने के बाद कहा था। यह एक माँ और औरत की पीड़ा थी। क्योंकि राजीव गांधी को खोने के बाद सोनिया गांधी अकेली […]

Categories
आज का चिंतन

महापुरुषों के जीवन की कुछ महत्वपूर्ण घटनाएं

महापुरुषों के जीवन की घटनाएं पढ़ने पढ़ाने और सुनने सुनाने से उत्साह का संचार होता और प्रेरणा मिलती है। इसलिए आइए, स्वामी दयानंद जी के 200वें जन्म जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में महर्षि दयानन्द के व्यक्तित्व को जानें! ▶ महर्षि दयानन्द अपने समकालीनों की अपेक्षा शारीरिक, बौद्धिक एवं अध्यात्मिक दृष्टि से सर्वोच्च शिखर पर थे| […]

Categories
हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

आर्य समाज के सुप्रसिद्ध विद्वान पंडित चमूपति जी

पंडित चमूपति आर्यसमाज के प्रसिद्ध विद्वान और प्रचारक थे। आप हिन्दी, संस्कृत, अंग्रेजी, उर्दू, अरबी व फारसी आदि अनेक भाषाओं के विद्वान थे। आप अच्छे कवि एवं लेखक भी थे। आपने कई भाषाओं में अनेक प्रसिद्ध ग्रन्थों की रचना की है। उन्होने गुरुकुल में अध्यापन भी किया और आर्य प्रतिनिधि सभा पंजाब के उपदेशक व […]

Categories
कृषि जगत

बंदरों के आतंक से प्रभावित होती कृषि

सपना कपकोट, बागेश्वर उत्तराखंड “बंदरों की बढ़ती संख्या से हमारे खेती सबसे अधिक प्रभावित हो रही है। कहा जाए तो बिल्कुल नष्ट होने की कगार पर है। हम जो भी सब्जियां लगाते हैं बंदर आकर सब कुछ नष्ट कर देते हैं। कई बार अगर आंगन में मैं अपने बच्चों को अकेले छोड़ देती हूं तो […]

Categories
विविधा

वक्फ बोर्ड के कानून ने लटकाया, चौवन साल में सच निकल पाया, लाक्षागृह हिंदुओं के अधीन आया

डॉ. राधे श्याम द्विवेदी ‘मजार नहीं , महाभारत काल का लाक्षागृह :- अयोध्या में श्रीराम मंदिर बनने और वर्षों पुराना विवाद खत्म होने के बाद अभी भी काशी और मथुरा के विवाद अदालतों में चल ही रहे थे । ज्ञानवापी के बाद हिंदुओं को एक और जीत हुई है। बागपत के सिविल कोर्ट ने 5 […]

Categories
आर्थिकी/व्यापार

बेरोज़गारी पलायन को मजबूर कर रहा है

पूनम नायक बीकानेर, राजस्थान “हम बहुत गरीब हैं, ऊपर से कोई स्थाई रोजगार भी नहीं है. मुझे कभी कभी दैनिक मज़दूरी मिल जाती है और कई बार तो हफ़्तों नहीं मिलती है. मेरी पत्नी लोगों के घरों में जाकर काम करती है. उसी से अभी घर का किसी प्रकार गुजारा चल रहा है. ऐसा लगता […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

भरपूर बिजली से जगमगाता मध्यप्रदेश

(विभूति फीचर्स) आम नागरिकों के जीवन में खुशहाली बढ़ाने और आर्थिक जीवन को समृद्ध बनाने के लिये ऊर्जा सुरक्षा देने और क्षमता बढ़ाने की नई रणनीति पर मध्यप्रदेश सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है। विद्युत क्षेत्र के विकास और विस्तार के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। प्रतिदिन गैर कृषि उपभोक्ताओं […]

Categories
कविता

कितना कुछ सिमट जाता था एक “नीले से कागज में”…

खो गईं वो चिठ्ठियाँ जिसमें “लिखने के सलीके” छुपे होते थे “कुशलता” की कामना से शुरू होते थे। बडों के “चरण स्पर्श” पर खत्म होते थे…!! “और बीच में लिखी होती थी “जिंदगी” नन्हें के आने की “खबर” “माँ” की तबियत का दर्द और पैसे भेजने का “अनुनय” “फसलों” के खराब होने की वजह…!! कितना […]

Categories
उगता भारत न्यूज़

आर्य समाज का रहा था भारत की स्वाधीनता में विशेष योगदान : चंद्रमणि सिंह

आर्य महासम्मेलन में भारत से पहुंचे डॉ. चंद्रमणि सिंह ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि भारत ने सैकड़ो सालों की गुलामी को भोगा। पर जब आर्य समाज जैसी संस्था की स्थापना स्वामी दयानंद जी महाराज के द्वारा हुई तो अनेक क्रांतिकारियों के पुरुषार्थ और पराक्रम के चलते अंग्रेजों को भारत छोड़ना पड़ा। उन्होंने […]

Exit mobile version