Categories
व्यक्तित्व

यूपी सरकार के ढाई साल:अभी फीका नहीं पड़ा है योगी का करिश्मा

संजय सक्सेना बात चाहं ढाई साल की हो या फिर पांच साल की। इतना तय है कि 2017 का विधान सभा चुनाव बीजेपी ने मोदी के चेहरे पर लड़ा था और 2022 का चुनाव भी बीजेपी मोदी को ही आगे करके लड़ेगी। बीजेपी ने 2017 का चुनाव योगी को चेहरा बनाकर नहीं लड़ा था, इसलिए […]

Categories
व्यक्तित्व

सुषमा स्वराज : स्वराज्य की साधिका

यक्ष युधिष्ठिर संवाद में यक्ष ने युधिष्ठिर से पूछा कि किमाश्चर्यम ?- अर्थात आश्चर्य क्या है ? यक्ष के इस प्रश्न का उत्तर देते हुए तब धर्मराज युधिष्ठिर ने बड़े संतुलित , सटीक और तार्किक ढंग से कहा कि — ” महाराज ! हम प्रतिदिन अपनी इन नग्न आंखों से देखते हैं कि हजारों लोग […]

Categories
व्यक्तित्व

नोबेल पुरस्कार विजेता : गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर

7 अगस्त को उनकी पुण्यतिथि पर विशेष भारत की पावन धरती पर कितनी ही महान विभूतियों ने जन्म लिया है, कितने ही विदेशी महापुरूषों ने इस पावन धरती को अपनी कर्म स्थली बनाया है। प्राचीन काल से ही भारत की पावन धरा ने मातृवत मानवता को अपने पुनीत पयोधर से पावन पयपान कराकर उसे सत्कृत्यों […]

Categories
व्यक्तित्व साक्षात्‍कार

समुज्ज्वल भविष्य के लिए अतीत के गौरव को वर्तमान से जोड़ना आवश्यक : डॉक्टर सत्यव्रत शास्त्री

दिल्ली की पॉश कालोनियों में कोई यह कल्पना भी नहीं कर सकता कि यहां किसी आलीशान बंगले के भीतर कोई तपा तपाया ऋषि रह रहा होगा । जी हां , एक ऐसा ऋषि जिसे संसार की सभी ऐषणाओं ने मुक्त कर संसार में भूसुर की उच्चतम श्रेणी तक पहुंचा दिया हो । यदि आपसे हमारा […]

Categories
व्यक्तित्व

डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के अवसर पर विशेष

आज हमारे देश के एक महान क्रांतिकारी नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म दिवस है । ब्रिटिश भारत के बंगाल प्रांत में आज के दिन ही हमारे इस महानायक का जन्म हुआ था ।सन 1929 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी के टिकट पर बंगाल विधान परिषद् में प्रवेश कर अपने राजनीतिक जीवन का शुभारंभ किया था […]

Categories
व्यक्तित्व

सबके चहेते और सबके आदरणीय अटल जी

प्रसिद्द दार्शनिक सुकरात ने कहा था कि जिस देश का राजा कवि होगा उस देश में कोई दुखी न होगा – अटल जी के प्रधानमंत्रित्व काल में यह बात चरितार्थ हो रही थी। स्वातंत्र्योत्तर भारत के नेताओं में कुछ ही ऐसे नेता हुए हैं जो विपक्षियों से भी सम्मान पातें हों। और ऐसे जननेता तो […]

Categories
व्यक्तित्व

महामना मालवीय का सपना

सदानंद शाही अंग्रेजों ने शिक्षा के माध्यम से भारत की चेतना पर काबिज होने का असली कोशिश 1835 में की। लार्ड मैकाले ने अंग्रेजी शिक्षा की सिफारिश की। 1854 में कलकत्ता विश्वविद्यालय, 1858 में बंबई और मद्रास विश्वविद्यालय बना। 1882 में शिक्षा आयोग बैठा और इसी साल में लाहौर विश्वविद्यालय की स्थापना हुई। 1887 में […]

Categories
व्यक्तित्व

अभिनंदनीय व्यक्तित्व के धनी आर्यपुत्र बाबा रामदेव

भारत प्राचीन काल से योगगुरू रहा है। इसके ‘योग’ में जीवन व्यवस्था है, जिसे अपनाकर व्यक्ति निरोग रह सकता है और शोकमुक्त हो सकता है। हमारे ऋषि पतंजलि ने प्राचीनकाल में हमें योगदर्शन दिया। जिसे अपनाकर भारत ने दीर्घकाल तक योग के क्षेत्र में संसार का मार्गदर्शन किया।   वर्तमान में ऋषि पतंजलि के ऋषि […]

Categories
व्यक्तित्व संपादकीय स्वास्थ्य

स्वामी रामदेव जी और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली

हमें बाबा रामदेवजी और आचार्य बालकृष्ण जी जैसी महान विभूतियों का इस बात के लिए ऋणी होना चाहिए कि उन्होंने भारत को विश्वगुरू बनाने की दिशा में ठोस पहल की है और भारतीय धर्म, संस्कृति और चिकित्सा प्रणाली सहित भारत की महान विरासत अर्थात योग की ओर भी संसार का ध्यानाकर्षित करने में महान सफलता […]

Categories
व्यक्तित्व

योगी आदित्यनाथ का चिंतन सरदार पटेल की याद दिलाता है

योगी आदित्यनाथ इस समय भारत की राजनीति के एक जाने माने चेहरे हैं। उत्तर प्रदेश में वह जहां-जहां भी चुनावी सभाएं कर रहे हैं, वहीं-वहीं बड़ी संख्या में लोग उन्हें सुनने आ रहे हैं। लोग उन्हें इसलिए भी सुनना  पसंद करते हैं कि वे जो कहते हैं उसे करके दिखाते हैं। लोगों को बरगलाकर या […]

Exit mobile version