Categories
कृषि जगत

कृषि प्रधान देश में बेरोज़गार किसान

मनीषा / मोनिका लूणकरणसर, राजस्थान किसी देश के विकास में आने वाली समस्याओं में एक प्रमुख समस्या बेरोज़गारी है. भारत जैसे विशाल देश में आज भी कई छोटे छोटे गांव ऐसे हैं जहां नौजवानों की एक बड़ी आबादी बेरोज़गार है. नौकरी के लिए या तो उनके पास कोई स्रोत नहीं है या फिर उन्हें शहरों […]

Categories
कृषि जगत

यज्ञ से बायोफोर्टीफाइड फसलें*

*______ लेखक आर्य सागर खारी 🖋️ आज हमें भोजन से केवल ऊर्जा मिल रही है लेकिन पोषण नहीं मिल रहा है बुजुर्ग अक्सर कहते हुए मिलते हैं कि अब खाने पीने की किसी चीज में पहले जैसा स्वाद नहीं रहा |यह समस्या हमारे देश के बुजुर्गों की नहीं है यह जलवायु परिवर्तन की तरह एक […]

Categories
कृषि जगत

सब्जी उत्पादन से सालाना लाखों कमाता किसान फूलदेव पटेल

मुजफ्फरपुर, बिहार आधुनिक समय में नौकरी को उत्तम मानने वाली युवा पीढ़ियों के लिए खेतीबाड़ी सबसे निकृष्ट कार्य समझा जाता है, जबकि कृषि हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ है. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में कृषि का योगदान इस बार बेहतर रहा है. पिछली तिमाही में कृषि क्षेत्र का 4.7 से बढ़कर 5.5 प्रतिशत तक रिकाॅर्ड दर्ज […]

Categories
कृषि जगत

राजस्थान, गांव और पानी

सरिता आचार्य बीकानेर, राजस्थान भारत जैसे विशाल भूभाग पर भिन्न भिन्न जलवायु और भौगोलिक परिस्थिति देखने को मिलती है. मेघालय स्थित मासिनराम और चेरापूंजी जहां सबसे अधिक वर्षा वाले स्थान के रूप में दर्ज है, तो वहीं राजस्थान का जैसलमेर सबसे अधिक सूखा वाला स्थान माना जाता है. जहां देश के अन्य सभी ज़िलों की […]

Categories
कृषि जगत

बकरी पालन से ग्रामीण महिलाएं आत्मनिर्भर हो रही हैं

सिमरन सहनी मुजफ्फरपुर, बिहार गांव की अर्थव्यवस्था को मज़बूत करने व गरीबों की आजीविका को सुदृढ़ करने के लिए सरकार से लेकर कई गैर-सरकारी संगठन विभिन्न योजनाएं चला रही हैं. गरीबों के लिए मजदूरी के साथ-साथ मवेशी, मुर्गी, बत्तख, बकरी पालन आदि कृषि आधारित रोजगार है. परंतु जागरूकता के अभाव में बहुत से ऐसे ग्रामीण […]

Categories
कृषि जगत

*पत्ते -पत्ते की हरित अभियंत्रिकी*।☘️

🍃 लेखक आर्य सागर खारी 🖋️ पृथ्वी पर जीवन की श्रंखला में सर्वप्रथम पेड़ पौधों का आविर्भाव हुआ….. जलचर नभचर थलचर जीव धारियों के नथुनो से पहले ईश्वर ने पेड़ों के नथूनो में प्राण शक्ति को फूंका…. हमारे पास केवल दो ही नथुने हैं जिनसे हम स्वास लेते हैं,छोड़ते है , जिनसे हम प्राणवायु ऑक्सीजन […]

Categories
Uncategorised कृषि जगत

खेती के नए स्वरुप को अपना रहे हैं पहाड़ों के किसान

नरेन्द्र सिंह बिष्ट हल्द्वानी, उत्तराखंड वर्तमान समय में सभी क्षेत्रों में जलवायु परिवर्तन का असर किसी न किसी रूप में देखने को मिल रहा है. चाहे वह बढ़ता तापमान हो, उत्पादन की मात्रा में गिरावट की बात हो, जल स्तर में गिरावट हो या फिर ग्लेशियरों के पिघलने इत्यादि सभी जगह देखने को मिल रहे […]

Categories
कृषि जगत

प्राणी जगत के उत्तम तैराक*

लेखक आर्य सागर खारी 🖋️ इन दिनों उत्तर भारत चरणबद्ध तरीके से प्राकृतिक जलीय आपदा बाढ़ की चपेट में जाता हुआ दिखाई दे रहा है पर्वत से लेकर मैदानी क्षेत्रों तक…… सेना व एनडीआरएफ की टीमें लगी हुई है बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में निरंतर बचाव कार्य चल रहा है…. पहली प्राथमिकता मनुष्य को दूसरी प्राथमिकता […]

Categories
कृषि जगत

आम से मैंगो की यात्रा*

आम से मैंगो की यात्रा____________________ लेखक आर्य सागर खारी 🖋️ फलों का राजा आम भारत ,पाकिस्तान व फिलीपींस का राष्ट्रीय फल होने के साथ -साथ बांग्लादेश का राष्ट्रीय वृक्ष भी है.. ।वर्ष 2010 में ही बांग्लादेश ने आम के वृक्ष को राष्ट्रीय वृक्ष का दर्जा दिया है| आम का वृक्ष भारतवर्ष का मूल देशज वृक्ष […]

Categories
कृषि जगत

किसानों तक नहीं पहुंच रहा कृषि योजना का पूरा लाभ

फूलदेव पटेल मुजफ्फरपुर, बिहार कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था का मेरुदंड है. कृषि से जुड़ी सरकार की रिपोर्ट के अनुसार साल 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने में कृषि व वानिकी का सकल घरेलू उत्पाद में 20.2 प्रतिशत हिस्सा रहा है. देश-दुनिया में अनेक प्रकार के रोजगार के साधन हैं, लेकिन उन सभी संसाधनों को […]

Exit mobile version