LAC के आसपास उड़े तो तुम्हारे तोते उड़ा देंगे….!?

आज आप लोगों के सामने एक बड़ा खुलासा करने जा रहा हूं इसलिए अपने अपने दिल थामकर बैठे..!! आज भारत ने चीन को क्यों कहा कि हम ताइवान नहीं हैं, LAC के आसपास उड़े तो तुम्हारे तोते उड़ा देंगे….!?

चाइना का ताइवान के साथ उभरे तनाव के बीच चीन भारतीय सीमा LAC के पास भी.. उकसावे वाली कार्रवाई कर रहा था और अपने लडाकू विमानों को, LAC के पास उडान भरने के लिए भेज रहा था !! पहले से करार था कि दोनों देश LAC के 15 किलोमीटर उस पार ओर 15 किलोमीटर इस पार… यानी नो फ्लाइंग जोन में अपने अपने फाइटर विमानों को उड़ा नहीं सकते,लेकिन चमगादड़ चीन LAC के अपने और नो फ्लाइंग जोन में बार बार अपनी फाइटर प्लेनों को उड़ा रहा था, भारत के कड़े विरोध के बाबजूद भी वह मान नहीं रहा था, तो भारत ने भी चीनी चमगादड़ों को सबक सिखाने के लिए पहले अपने स्टील्थ टेक्नोलॉजी से लैस एक जासूस विमान को पिछले 22 तारिख रात को एक अज्ञात समय पर LAC को पार करा कर तिब्बत तक उड़ान भराया ओर सकुशल वापस भी लौट लिया परंतु इसकी भनक चीन को दुसरे दिन लगा (में यहां पर भारत की उस गुप्त जासूसी प्लेन के बारे में कुछ नहीं बताऊंगा.. जो फिलहाल पाकिस्तान में भी हंगामा मचाया हुआ है) फिर उसी रात को चीनी वायुसेना के 9 विमान, जब अपने बेस से उडान भरे ओर LAC के ओर आने लगे तो…… हमारे रेडारों ने उन्हें पकड़ लिया, ओर हमारी वायुसेना ने भी, अपने 7 विमानों को उनकी काऊंटर करने के लिए खुले छुट दे दिया ! चीनी विमान LAC के नजदीक आने से पहले.. भारत के विमान LAC को पार करते हुए 35 किलोमीटर अंदर तक घुस गए, फिर रेडियो के जरिए चीनी विमानों के पायलटों ने ओर चाइनीज बेस कैंप से भारतीय विमानों के पायलटों को मैसेज भेजा गया के आप चीन की सीमा में घुसपैठ किया है और यह मसला नियंत्रण से वाहर हो जाए.. इस से पहले आप अपनी बैस पर वापस लौट जाएं… तब भारतीय विमानों में बैठे एक पायलट ने प्रति उत्तर दिया कि यह तो लद्दाख है जो हमारी धरती है, आपके विमान बार बार सीमा के पास उड़ान भर रहे हैं, जो संधि के खिलाफ हैं, इसलिए आप इस कार्रवाई को एक…. “Warnings” की तरह लें. उधर भारतीय बैस से भारतीय विमानों को लौट आने का आदेश दिया गया, ओर आइंदा कभी भी इस तरह की भुल न करने के लिए हिदायत दिया गया… जिसे चाइनीज बैस कैंप पर बैठे अफसर भी इस रेडियो वार्ता को सुन रहे थे…. क्यूं की भारतीय विमानों के पायलटों ने…. आपस में हो रहे इस रेडियो वार्ता को डुअल मोड़ पर रख दिया था.. फिर अगले दिन चीनी सेना द्वारा भारतीय सेना को हट लाइन से, एक आपातकालीन बैठक बुलाने के लिए अनुरोध किया गया !! ओर भारतीय सेना ने अगले महिने के 2 तारीख… यानी इसी अगस्त महीने की 2 तारीख को बैठक में भाग लेने के लिए सहमत हुआ. 2 तारिख को बैठक प्रारंभ होते ही भारतीय पक्ष ने.. चीन द्वारा LAC पर उकसावेपूर्ण कार्रवाई को आडे हाथों लेते हुए.. कड़ी प्रतिक्रिया दी…….. भारत ने चीन को साफ साफ शब्दों में कहा है कि वो अपने फाइटर जेटों को LAC से दूर रखे. तबसे चीनी वायुसेना के विमानों को LAC के आसपास भी…भटकते हुए नहीं देखा गया है….. अंदरूनी खबर के मुताबिक एक समय तो भारत ने भी अपनी तरफ से….. एक बड़ी जवाबी कार्रवाई के लिए पूरी तैयारी भी कर ली थी……….. इससे पहले मई के महिने में भी चीनियों ने इस तरह के एक हरकत किया था..!? जिस पर मैंने एक पोस्ट किया था सांकेतिक शब्दों के तैर पर…. शायद आप लोगों को वह पोस्ट याद होगा…

(यह तस्वीर प्रतीकात्मक है)

🇮🇳🇮🇳 जय भारत 🇮🇳🇮🇳

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *