ताज़ा पोस्ट

इतिहास के पन्नों से

संपादकीय

धर्म-अध्यात्म

पुरुष सूक्त पढ़ और सुन कर लाभ लें व शंकायें दूर करें। (ऋग्वेद १०।९०।०१ से १६)

🌺 पुरुष सूक्त पढ़ और सुन कर लाभ लें व शंकायें दूर करें। (ऋग्वेद १०।९०।०१…

श्रीहरि के मुख्य पार्षद हैं विश्वक्सेन

जिस प्रकार संसार में कार्य चलाने के लिये मनुष्यों को सहायकों की आवश्यकता होती है।…

बाईबल की अभद्र (immoral) शिक्षाएं… ——————————

कहा जाता है कि बचपन में बच्चों के निर्दोष मस्तिष्क पर जो कुसंस्कार अंकित हो…

ऋग्वेद यज्ञ एवं वेदकथा का भव्य आयोजन- ‘जो मनुष्य यज्ञ करता है उसका अगला जन्म मनुष्य का ही होता हैः शैलेशमुनि सत्यार्थी’

ओ३म् ========== देहरादून में श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, मंत्री, वैदिक साधन आश्रम तपावेन, देहरादून के निवास…

“विश्व में ईश्वरीय ज्ञान वेद का धारक, रक्षक एवं प्रचारक केवल आर्यसमाज है”

ओ३म् ========== प्रश्न क्या परमात्मा है? क्या वह ज्ञान से युक्त सत्ता है? क्या उसने…

चारों वेदों की सरल शब्दों में जानकारी

सरल शब्दों में वेद प्रायः यह कहा जाता है कि वेद केवल विद्वानो के लिए…

हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

महाराजा सयाजी गायकवाड़ जिन्होंने अंबेडकर को बनाया था बाबा साहेब

शहीद शिरोमणि मृत्युञ्जय वीर भगतसिंह

*भगत सिंह व्यक्ति नहीं विचार थे*।

महात्मा नारायण स्वामी के जीवन का कर्मफल की चर्चा से जुड़ा एक पठनीय संस्मरण”

गुलामी के दिनों में अपनी प्रतिभा से लोहा मनवाने वाले सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया

Latest Posts