ताज़ा लेख

इतिहास के पन्नों से

संपादकीय

आओ कुछ जाने

सृष्टि का सबसे पुराना और सबसे दूर का ब्लैक होल खोज लिया गया है

भारत के परिवारों और मंदिरों में शंख बजाने की परंपरा कितनी वैज्ञानिक ?

भारत के इतिहास के विषय में कितना प्रामाणिक है यूरोपियन लेखन, भाग 2

भारत के इतिहास के विषय में कितना प्रामाणिक है यूरोपियन लेखन

जन्म प्रमाण पत्र और मृत्यु प्रमाण पत्र के पंजीकरण में आधार कार्ड की कोई अनिवार्यता नहीं

धर्म-अध्यात्म

ईश्वर की उपासना का उद्देश्य एवं कृतज्ञता ज्ञापन और ईश्वर साक्षात्कार करना है

ओ३म् ========= संसार की जनसंख्या का बड़ा भाग ईश्वर के अस्तित्व को स्वीकार करता है और अपने ज्ञान व परम्पराओं के अनुरूप ईश्वर की स्तुति,...

जीवात्मा का जन्म मरण और आवागमन अनादि काल से चला आ रहा है

ओ३म् ========= मनुष्य जन्म व मरण भोग एवं अपवर्ग की प्राप्ति के लिए प्राप्त एक सुअवसर होता है। यह अवसर सनातन, शाश्वत, अनादि व नित्य...

स्वाध्याय से जीवन की उन्नति सहित अनेक रहस्यों का ज्ञान होता है

ओ३म् =========== मनुष्य जीवन में सबसे अधिक महत्व ज्ञान का बताया जाता है और यह बात है भी सत्य। हम चेतन आत्मा हैं। हमारा शरीर...

अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के साथ ही यह एक राष्ट्र मंदिर भी होगा

पूज्य भगवान श्रीराम हमें सदैव ही मर्यादा पुरुषोत्तम के रूप में दिखाई देते रहे हैं। पूरे विश्व में भारतीय नागरिकों को प्रभु श्रीराम के वंशज...

मानव जाति की सबसे उत्तम संपत्ति ईश्वर और वेद

ओ३म ========== वर्तमान समय में मनुष्य का उद्देश्य धन सम्पत्ति का अर्जन व उससे सुख व सुविधाओं का भोग बन गया है। इसी कारण से...

वेद वर्णित ईश्वर की न्याय व्यवस्था आज भी सर्वत्र प्रभावी है

ओ३म् -मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून। हमारा यह संसार स्वयं नहीं बना अपितु एक सच्चिदानन्दस्वरूप, निराकार, सर्वशक्तिमान, सर्वज्ञ, अनादि, नित्य, न्यायकारी तथा दयालु सत्ता जिसे ईश्वर...

हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

वामपंथियों ने अपने झूठों की लपेट में लेने से नहीं छोड़ा स्वामी विवेकानंद को भी

देश की युवा पीढ़ी के लिए शास्त्री जी का संपूर्ण जीवन ही है प्रेरणा का स्रोत

स्वामी विवेकानंद : भारत के विश्व पुरुष

अनूठी देशभक्ति और अंगूठे व्यक्तित्व के स्वामी थे लाल बहादुर शास्त्री

युगदृष्टा भारतेंदु हरिश्चंद्र थे असाधारण प्रतिभा के धनी