कृष्ण जी के इस मंदिर को जब बना दिया गया था मस्जिद तो एक हिंदू वीर ने भुजबल से इसे फिर से हासिल किया था

#धर्मरक्षक_राजामान

यह हिंदुओ का महातीर्थ द्वारिकाधीश मंदिर , द्वारिका है, पौराणिक मान्यता के अनुसार इस मंदिर का निर्माण श्रीकृष्ण ने पौत्र ने करवाया था । 1472 ईस्वी में इस मंदिर पर महमूद बेगड़ा ने आक्रमण करके इसे मस्जिद में परिवर्तित कर दिया ।।

उसके बाद आमेर के राजा मानसिंहजी ने गुजरात पर आक्रमण कर गुजरात मुसलमान सल्तनत को समाप्त किया, ओर द्वारिकाधीश से मस्जिद बने मंदिर को दुबारा मंदिर बनवाया ।। मात्र यही मंदिर नही है, जिसकी रक्षा मानसिंहजी ने की, उड़ीसा का जगन्नाथ मंदिर भी अगर आज मस्जिद नही है, तो वह मानसिंहजी की ही देन है । 1592 में उड़ीसा के जगन्नाथ मंदिर के लिए मानसिंहजी ने उड़ीसा में काफी कत्लेआम मचाया था ।

काशी में हजारो मंदिर बनवाने का जिक्र मानसिंहजी के इतिहास में है, बिहार पटना स्तिथ पौराणिक सूर्यमन्दिर मानसिंहजी ने बनवाया है, भारत का कोई ऐसा कौना नही है, जहां जहां के पौराणिक मंदिर मानसिंहजी में ना बनवाये हो । मीराबाईजी जैसी कृष्णभक्त भी आमेर पधारी थी, उनकी स्मृति में भी मानसिंहजी ने जगशिरोमणि नाम से एक मंदिर का निर्माण किया, जिसमे भगवान विष्णु के साथ मीराबाई की मूर्ति लगी है ।

हिंदुओ को समझना चाहिए, की मानसिंहजी का इतिहास योजनाबद्ध तरीके से क्यो बर्बाद किया ? आज आप फिल्मों को सनातन का शत्रु मानते है, आपको विचार करना चाहिए, की बार बार क्यो आमेर जयपुर परिवार को ही फिल्मों के माध्यम से बदनाम किया गया ??

बंगाल, बिहार, झारखंड, उड़ीसा, गुजरात हर जगह अपने हिंदुओ भाइयो के लिए लड़ने वाले, ओर जितने वाले मानसिंहजी का इतिहास इतना क्यो कलंकित किया गया, की हिन्दू अपने विजेता का नाम लेते भी संकोच करें !!

आपको इतिहास का एक बार फिर से मूल्यांकन करना चाहिए, हमपर ऐसा बहुत कुछ थोपा गया है, जो हमारे पतन का कारण है ।

#धर्मरक्षक_राजामान

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *