Categories
राजनीति

आम आदमी पार्टी के तीन नेता जेल के भीतर, चौथे केजरीवाल की जाने की तैयारी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 2 नवंबर 2023 को शराब घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समक्ष पूछताछ के लिए पेश होना था। लेकिन उन्होंने ED को चिट्ठी लिखकर पेशी से बचने की चाल चली। लेकिन सवालों का सामना करने में देरी क्यों ? केजरीवाल को यह समझना चाहिए कि वे जितना लंबा इंतजार […]

Categories
राजनीति

जाति आधारित जनगणना और देश की राजनीति

हिंदू समाज के खिलाफ गहरी साजिश है जाति आधारित जनगणना मृत्युंजय दीक्षित भविष्य की राजनीति में जातिगत जनगणना की इस रिपोर्ट से सर्वाधिक लाभ भारतीय जनता पार्टी को ही होने वाला है। जातिगत सर्वे के बाद आई.एन.डी.आई.ए. गठबंधन द्वारा जिसकी जितनी संख्या उतनी उसकी हिस्सेदारी का नारा बुलंद किया जा रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री […]

Categories
राजनीति

आम चुनाव में क्या भाजपा के हिन्दुत्व पर भारी पड़ेगा विपक्ष का नया मण्डल फॉर्मूला

अजय कुमार जातिवाद के नाम पर लोग अलग-अलग दलों के लिए वोट करने लगे थे। पिछड़े मुलायम के साथ चले गए और दलित मायावती के साथ हो लिए। भाजपा मात्र अगड़ों की पार्टी बनकर रह गई, जिनकी समाज में भागीदारी काफी कम थी। भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव […]

Categories
राजनीति

चुनावी मौसम और जनहित योजनाएं

चुनावी रथ में ही क्यों सवार होती हैं जन-हित योजनाएं ललित गर्ग निश्चित ही राजस्थान में लोकलुभावनी योजनाओं का जनता को लाभ मिला है, राजस्थान का कायाकल्प भी हुआ। गहलोत अपने राजनीतिक जीवन की सबसे चुनौतीपूर्ण पारी खेलते हुए एक कद्दावर नेता के रूप में सामने आ रहे हैं। लेकिन मतदाता के मन में ये […]

Categories
राजनीति

वोट बटोरने का शॉर्टकट ‘रेवड़ी की राजनीति’

मुफ्तखोरी की संस्कृति इतने खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है कि कुछ राजनीतिक दलों का अधिकांश चुनावी एजेंडा, एक सोची-समझी रणनीति के तहत केवल मुफ्त की पेशकशों पर आधारित है, जो मतदाताओं को स्पष्ट रूप से एक संदेश भेज रहा है कि यदि राजनीतिक दल जीतता है तो उन्हें ढेर सारी मुफ्त चीजें मिलेंगी। इससे […]

Categories
राजनीति

भाजपा के कुछ बड़े नेताओं की हो सकती है छुट्टी

रमेश सर्राफ धमोरा कभी चाल, चरित्र व चेहरा की बात करने वाली भाजपा में अब बड़े बदलाव की बयार चल रही है। इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक नई भाजपा बन रही है। पार्टी के सभी पुराने छत्रपों को एक-एक कर किनारे लगाया जा रहा है। प्रदेशों में भाजपा के बड़े नेताओं […]

Categories
राजनीति

राजा भैया की दबंगई और यूपी की राजनीति

अजय कुमार यहीं से शुरू होती है मायावती और राजा भैया के बीच राजनीतिक अदावत की कहानी। साल 2002 में जब फिर से बीजेपी और बीएसपी की सरकार बनी तो गठबंधन सरकार फिर हिचकोले खाने लगी। इसी बीच मायावती ने पांच साल पुरानी सियासी रंजिश का बदला राजा भैया से ले लिया। हर ‘दल’ अजीज […]

Categories
राजनीति

राजनीति और महिलाएं

निर्मला – विनायक फीचर्स आजादी की लड़ाई में अनेक महिलाओं ने पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर संघर्ष किया और आजादी के बाद भी महिलाओं का राजनीति में उल्लेखनीय योगदान रहा। राजनीति में महिलाओं का प्रवेश एक अ’छी बात है। लेकिन, तब के और आज के राजनीतिक माहौल में जमीन-आसमान का फर्क है। आज […]

Categories
राजनीति

गांधी के उत्तराधिकारी-नाम से नहीं कर्म से तय होंगे*

-विष्णुदत्त शर्मा – विनायक फीचर्स अखिल विश्व में स्वयं के अहिंसावादी मूल्यों के लिए विख्यात महात्मा गांधी आज भी उतने ही प्रासंगिक हैं जितने वह अपने जीवनकाल में थे। दो अक्टूबर को बापू की 154वीं जयंती के अवसर पर भारत ही नहीं अपितु विश्व के अनेक देश मानवता और मानवीय मूल्यों के लिए आजीवन संघर्ष […]

Categories
राजनीति

सामूहिक नेतृत्व और मोदी फेक्टर होगा 2023 के विधानसभा चुनावों में भाजपा का मुख्य लक्ष्य

अंकित सिंह राजस्थान में भी भाजपा ने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि वह सामूहिक नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी। इससे वसुंधरा राजे की उम्मीदों पर एक पानी फिरता दिखाई दे रहा है। वसुंधरा राजे दो बार राजस्थान में भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। 2024 में लोकसभा चुनाव होने हैं। […]

Exit mobile version