Categories
महत्वपूर्ण लेख

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने बचाई कांग्रेस की गिरती साख

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कांग्रेस के लिए फिर तारण हार सिद्घ हुए हैं। उन्होंने पाकिस्तानी आतंकी आमिर कसाब की दया याचिका खारिज कर उसे फांसी पर चढ़ाने के लिए जितनी जल्दी दिखाई है उतना ही भ्रष्टाचार की दल दल में फंसी कांग्रेस को राहत मिली है। कांग्रेस के पास इस समय प्रणव मुखर्जी जैसा […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

ऐसे नहीं होगी वनों की रक्षा

इंदिरा गांधी ने वन और पर्यावरण रक्षा कानून बनाये थे, ताकि केंद्र सरकार इनकी रक्षा को कदम उठा सके। इसे लागू करने के लिए वन एवं पर्यावरण मंत्रलय स्थापित किया गया था। लेकिन इंदिरा गांधी के अनुयाइयों के नेतृत्व में पर्यावरण मंत्रलय का कार्य यह रह गया है कि वन रक्षा कानून को तोड़-मरोड़ कर […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

ऐसे नहीं होगी वनों की रक्षा

इंदिरा गांधी ने वन और पर्यावरण रक्षा कानून बनाये थे, ताकि केंद्र सरकार इनकी रक्षा को कदम उठा सके। इसे लागू करने के लिए वन एवं पर्यावरण मंत्रलय स्थापित किया गया था। लेकिन इंदिरा गांधी के अनुयाइयों के नेतृत्व में पर्यावरण मंत्रलय का कार्य यह रह गया है कि वन रक्षा कानून को तोड़-मरोड़ कर […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

राह से भटक गये हैं केजरीवाल: सिद्धार्थ मिश्र ‘स्वतंत्र’

अन्ना आंदोलन की उपज अरविंद केजरीवाल सत्ता के गलियारों में आज अपनी सशक्त उपस्थिती दर्ज करा चुके हैं । लगभग दो साल चला उनका ये संघर्ष अपनी अंतिम परिणीती को प्राप्त कर चुका है । अर्थात स्वयं को एक राजनेता के रूप में पहचान दिलाने का । हांलाकि उनके इस सफर में कई पुराने साथी […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

राह से भटक गये हैं केजरीवाल: सिद्धार्थ मिश्र ‘स्वतंत्र’

अन्ना आंदोलन की उपज अरविंद केजरीवाल सत्ता के गलियारों में आज अपनी सशक्त उपस्थिती दर्ज करा चुके हैं । लगभग दो साल चला उनका ये संघर्ष अपनी अंतिम परिणीती को प्राप्त कर चुका है । अर्थात स्वयं को एक राजनेता के रूप में पहचान दिलाने का । हांलाकि उनके इस सफर में कई पुराने साथी […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

सत्तावन के बाद पहली चिनगारी-4

गतांक से आगे…..तीन वर्ष पहले उस महान क्रातिकारी की आत्मा जेल के सींखचों से ऊब गयी थी। उसे शिवाजी का स्मरण हो आया, उसे भगवान कृष्ण का स्मरण हो आया। जिन्होंने जेल के बंधन को तोड़, अपने जीवन के मार्ग को प्रशस्त किया था। तब उसके हृदय ने उससे पूछा था, क्या मेरा जन्म जेल […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

सत्तावन के बाद पहली चिनगारी-4

गतांक से आगे…..तीन वर्ष पहले उस महान क्रातिकारी की आत्मा जेल के सींखचों से ऊब गयी थी। उसे शिवाजी का स्मरण हो आया, उसे भगवान कृष्ण का स्मरण हो आया। जिन्होंने जेल के बंधन को तोड़, अपने जीवन के मार्ग को प्रशस्त किया था। तब उसके हृदय ने उससे पूछा था, क्या मेरा जन्म जेल […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

वक्त से पहले वक्त से आगे कमलनाथ का छिन्दवाड़ा

विकास का श्रेष्ठतम स्वरूप है छिन्दवाड़ा!उद्योग क्षेत्र-1 पैक हाउस अठारह करोड़ की लागत से बने मोहखड विकास खण्ड के ग्राम तन्सरामाल में संतरा उत्पादक किसानों के लिए निर्मित।2 मसाला पार्क-20 करोड़ की लागत से मसाला फसलों के उत्पादक किसानों को उनकी कृषि उपज का उचित मूल्य दिलवाने तथा रेाजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से निर्मित।3 […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

वक्त से पहले वक्त से आगे कमलनाथ का छिन्दवाड़ा

विकास का श्रेष्ठतम स्वरूप है छिन्दवाड़ा!उद्योग क्षेत्र-1 पैक हाउस अठारह करोड़ की लागत से बने मोहखड विकास खण्ड के ग्राम तन्सरामाल में संतरा उत्पादक किसानों के लिए निर्मित।2 मसाला पार्क-20 करोड़ की लागत से मसाला फसलों के उत्पादक किसानों को उनकी कृषि उपज का उचित मूल्य दिलवाने तथा रेाजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से निर्मित।3 […]

Categories
महत्वपूर्ण लेख

महाभारत में भी उल्लेख मिलता है उज्जैयिनी का

प्राचीन संस्कृत और पाली साहित्य में इस नगर का सैकड़ों बार उल्लेख हुआ है। महाभारत में सहदेव द्वारा अवंती को जीतने का वर्णन मिलता है। (सभापर्व 31-10) अंगुत्तर निकाय के अनुसार बौद्घकाल में उत्तरी भारत के सोलह महाजनपदों में इस नगर की गिनती थी और जैन धर्म के भगवती सूत्र में इसी जनपद को मालवा […]

Exit mobile version