पूरी भव्यता से मनाया गया ग्राम महावड़ में स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव

दादरी ( विशेष संवाददाता ) यहां स्थित ग्राम महावड में 76 वें स्वतंत्रता दिवस को बहुत ही धूमधाम से हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया। इस ऐतिहासिक अवसर पर ग्राम महावड में अमृत सरोवर का उद्घाटन किया गया । जिसमें ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि एवं ग्राम सचिव उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि ग्राम के तालाब की सफाई का कार्य एवं सौंदर्यकरण बहुत ही श्रेष्ठ तरीके से किया गया। जिसे भारत सरकार के केंद्रीय मंत्रालय द्वारा भी प्रशंसा प्राप्त हुई है।
इस अवसर पर श्री देवेंद्र सिंह आर्य एडवोकेट द्वारा स्वतंत्रता दिवस का संक्षिप्त इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय ध्वज में 3 रंगों का महत्व, स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को नमन करते हुए उनकी भूमिका से अवगत कराया गया। श्री आर्य ने अपने पैतृक गांव के विषय में बोलते हुए कहा कि इस पवित्र धरती ने भी भारत की आजादी की लड़ाई में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वजों का चिंतन देश भक्ति से भरा हुआ था। जिन्होंने अनेक प्रकार के कष्ट झेलते हुए यहां रहकर किसी न किसी प्रकार से भारत की आजादी की लड़ाई के साथ अपने आप को जोड़े रखा।
इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि ने बोलते हुए अपने उद्बोधन में गांव निवासियों की इस मांग को भी पूरी करने का आश्वासन दिया कि शीघ्र ही तालाब के चारों ओर आरसीसी अथवा ईटों का खड़ंजा लगाया जाएगा। इसको और अधिक सौंदर्य युक्त किया जाएगा।
इस अवसर पर ग्राम महावड‌ के मुकदम अतरसिंह, इंदर महाशय, मनमोहन प्रधान जी, टीकम सिंह, राकेश कुमार एडवोकेट, अनिल कुमार एडवोकेट, राहुल कुमार एडवोकेट, ज्ञानेंद्र सिंह एडवोकेट, वेद प्रकाश शर्मा, विजय सिंह शर्मा, ओम प्रकाश शर्मा, किशन लाल शर्मा, अमरजीत आर्य, अशोक आर्य , राजेश कुमार, मंगत सिंह, डॉ राजेंद्र विकल, रामधन सिंह, गोविंद सहाय, वीर सिंह ,जय सिंह, भजनलाल उर्फ भज्जू,ठेकेदार मुंशी, राहुल, चाहत राम पूर्व प्रशासनिक अधिकारी सार्वजनिक निर्माण विभाग, आदि अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।
मुकद्दम् अतर सिंह ने सभा की अध्यक्षता व संचालन ‌श्री करतार सिंह वरिष्ठ अधिवक्ता द्वारा किया गया। ज्ञात रहे कि 1857 की क्रांति के समय इस गांव के रहने वाले चौधरी सुलेख सिंह को अंग्रेजों ने बुलंदशहर के काले आम पर फांसी पर ले जाकर चढ़ा दिया था। जिनकी मधुर स्मृतियां का जिक्र आते ही प्रत्येक गांव वासी का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। आज उस शहीद का सम्मान गांव के ही रहने वाले सूबेदार जतन सिंह ने एसडीएम दादरी से तहसील दादरी में आयोजित किए गए एक विशेष कार्यक्रम में प्राप्त किया। जिससे गांव का हर व्यक्ति गर्व और गौरव से भर उठा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *