मोदी सरकार सबकी रायुशुमारी से समान नागरिक संहिता लागू कर सकती है

saman nagrik sanhitaभाजपा के एजेंडे में शामिल ”समान नागरिक संहिता” को लागू करने के ‘मोदी सरकार’ ने संकेत दिए हैं ! इस मामले पर सरकार ने पहली बार अपना पक्ष रखा है ! संसद में सरकार ने पूरी तरह स्प’ष्टं  कर दिया कि वह ”समान नागरिक संहिता” लागू करने की दिशा में अन्यतम पार्टियों से राय लेगी। इस मुद्दे पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार इसे लागू करने से पहले सभी पक्षों की राय लेगी !कानून मंत्री प्रसाद ने भाजपा सांसद ”योगी आदित्यनाथ” के सवाल पर लोकसभा में समान नागरिक संहिता पर सरकार का पक्ष रखा ! योगी आदित्यनाथ ने पूछा कि क्या समान नागरिक संहिता लागू करने के लिए सरकार के पास कोई प्रस्ताव है ! आदित्यनाथ ने कहा, ‘समान नागरिक संहिता देश की ”एकता” और ”अखंडता” के लिए आवश्यसक है !वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ‘पूरा देश समान नागरिक संहिता चाहता है ! सभी राष्ट्रवादी पार्टियां चाहती हैं कि सबके लिए एक कानून हो ! सरकार को इस दिशा में सफल प्रयास अभी से शुरू कर देनी चाहिये! शिवसेना इस मुद्दे पर सरकार का पूरा  समर्थन करने का आश्वा सन दिया !

वहीं यूपीए सरकार में रहेपूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेसी नेता ”मनीष तिवारी” ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुये कहा है कि वह समान नागरिक संहिता के मसले पर कोई कदम उठाने की ना सोचे और पर्सनल लॉ के साथ भी कोई छेड़छाड़ न करे ! तिवारी ने कहा, ‘समान नागरिक संहिता संघ का एजेंडा रहा है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत एक विविधतापूर्ण देश है ! यहां लोग अपने पर्सनल लॉ का भी अनुसरण करते हैं ! ये सामाजिक और पर्सनल लॉ हजारों, हजार साल की परंपरा से बनते हैं ! इनके साथ छेड़छाड़ हुई तो देश में ”तबाही” मच जाएगी !

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *