प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक मामले पर आर्य समाज ने किया निंदा प्रस्ताव पारित

ग्रेटर नोएडा। (विशेष संवाददाता ) आर्य समाज जनपद गौतमबुद्धनगर ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के मामले पर निंदा प्रस्ताव पारित करते हुए कहा है कि इस मामले की गंभीरता से जांच की जाए और दोषी लोगों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही की जानी चाहिए। इस संबंध में जानकारी देते हुए आर्य प्रतिनिधि सभा जनपद गौतम बुद्ध नगर के अध्यक्ष महेंद्र सिंह आर्य ने बताया कि बैठक में यह निंदा प्रस्ताव पारित किया गया कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री , डीजीपी, एसएसपी सहित उन सभी लोगों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए जो इस मामले से किसी न किसी प्रकार से सीधे जुड़े हुए थे।
  श्री आर्य ने कहा कि प्रधानमंत्री किसी पार्टी का नहीं होता बल्कि वह देश का होता है । इसलिए उसकी सुरक्षा के विषय को न्यायालय को गंभीरता से लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जनवरी 2021 में लाल किले पर एक संप्रदाय विशेष के झंडारोहण की घटना को भी गंभीरता से लेना चाहिए था। यदि उसी समय देशद्रोही लोगों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही की जाती तो आज उनके हौसले बुलंद नहीं होते। प्रधानमंत्री ने उस समय उस घटना को अंजाम देने वाले लोगों के विरुद्ध उदारता का प्रदर्शन करके अच्छा नहीं किया था।
    इसके अतिरिक्त आर्य समाज सूरजपुर में यह निर्णय भी लिया गया कि कोरोना हेतु कुछ टोलियां बनाकर चलता फिरता यज्ञ कार्यक्रम किया जाए। जिससे यज्ञ की सुगंध  और विशेष औषधियों से तैयार सामग्री के माध्यम से कोरोना महामारी से मुक्ति पाई जा सके।
   इस बैठक में की अध्यक्षता सरपंच रामेश्वर सिंह द्वारा की गई बैठक में आचार्य करण सिंह ,डॉ राकेश कुमार आर्य, आर्य सागर खारी , मुकेश नागर एडवोकेट, भूदेव आर्य, विजेंदर सिंह आर्य, धर्मवीर सिंह आर्य, प्रधान धर्मवीर सिंह आर्य, जयप्रकाश आर्य आदि उपस्थित थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest Posts