सोनिया गांधी से नहीं मिलती है कांग्रेस की विधायिका अदिति सिंह

गाँधी पारिवारिक की सीट अमेठी से राहुल गाँधी के पराजित होने के बावजूद पार्टी और परिवार कुम्भकर्ण की नींद से नहीं जागा। लगता है वही स्थिति अब 2024 में रायबरेली की होने वाली है।

अदिति सिंह उत्तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से कांग्रेस की विधायक हैं। पिछले कुछ अरसे से पार्टी के साथ उनके रिश्ते सहज नहीं हैं। वो लगातार पार्टी की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठाती रहती हैं। अब उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष और रायबरेली की सांसद सोनिया गॉंधी पर निशाना साधा है।

विधायक अदिति सिंह ने सोनिया गाँधी पर आरोप लगाया है कि चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के बाद से वह दो बार ही रायबरेली में आम जनता से मिली हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा बाद उन्होंने कभी भी जिले की जनता से मुलाकात करने की कोशिश नहीं की और न ही वह किसी कार्यक्रम में शामिल होने आई हैं।

उन्होंने कहा, “अगर जनता आपको वोट देकर चुनती है, तो उस जनता की आपको प्रत्येक तरह से मदद और मुलाकात करते रहनी चाहिए। हम किसी पार्टी विशेष की बात नहीं कर रहे हैं। हम सभी राजनीतिक नेताओं की बात करते हैं जो भी चुनाव जीत कर आता है वह अपनी जनता के प्रति पूरी तरह से जिम्मेदार होना चाहिए। जो अच्छा काम करेगा, उसकी तारीफ भी करूँगी।”

अदिति सिंह की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने की गुजारिश कांग्रेस ने कुछ महीने पहले विधानसभा अध्यक्ष से की थी, लेकिन उनका अनुरोध खारिज कर दिया गया था गौरतलब है कि कुछ समय पहले अदिति सिंह ने सबके सामने मुख्यमंत्री योगी की भी जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा था, “मैं खुले मुँह से कहना चाहती हूँ कि गरीबों की जो दुकानें बची हैं वह मेरे राजनीतिक गुरु और हमारे माननीय मुख्यमंत्री महाराज योगी आदित्यनाथ की वजह से है। उनकी वजह से हम यह लड़ाई लड़ रहे हैं।
प्रियंका वाड्रा ने फिर शेयर की फर्जी तस्वीर

प्रियंका वाड्रा ने फिर शेयर की फर्जी तस्वीर
सोनिया गाँधी के अध्यक्ष बनने के बाद से चुनाव-दर-चुनाव कांग्रेस सिर्फ चुनाव ही नहीं
पिछले दिनों रायबरेली कांग्रेस में बड़ी बगावत भी सामने आई थी। पार्टी के मजबूत नेता के रूप में जाने जाने वाले शिव कुमार पाण्डेय समेत 35 अन्य पदाधिकारियों ने सोनिया गाँधी को अपना इस्तीफा दे दिया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *