आदर्श गुर्जर परिवार द्वारा शिक्षा नीति पर किया गया वेबीनार का आयोजन

आज दिनांक 20 सितंबर, 2020 दिन रविवार को मुजफ्फरनगर में आदर्श गुर्जर परिवार द्वारा राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया।


गूगल मीट पर आयोजित इस वेबिनार में नई राष्ट्रीय *शिक्षा नीति और युवाओं के लिए नए अवसर* विषय पर गंभीर विचार विमर्श किया गया। इस राष्ट्रीय वेबीनार में देश भर से लोगो ने सहभागिता की। राजस्थान से डॉ सुनीता गुर्जर, मध्य प्रदेश से श्री जितेन्द्र जी, उत्तराखंड से डॉ सतीश शास्त्री, दिल्ली से हितेंद्र जी तथा हरियाणा से डॉ प्रदीप पोसवाल जी जुड़े। श्री पोसवाल जी की अध्यक्षता में संगोष्ठी संपन्न हुई। संगोष्ठी में विचार रखने वालो में मुख्य रूप से डॉ दिनेश कटारिया, सहायक प्रोफेसर दिल्ली विशवविद्यालय रहे। उन्होंने नई शिक्षा नीति का समीक्षात्मक स्वरूप सबके सामने रखा। अभी और क्या बेहतर नई शिक्षा नीति अपने में समाहित कर सकती है, इस पर विशेष जोर दिया। प्रदीप पोसवाल जी ने नई शिक्षा नीति को युवाओं के लिए ढेरों नए अवसर प्रदान करने वाली बेहतरीन शिक्षा नीति बताया। एम् एम् एच कालेज गाजियाबाद में अंग्रेजी विभाग की अध्यक्षा डॉ सुता कुमारी ने कहा कि नई शिक्षा नीति के माध्यम से युवा पीढ़ी को उभरते नए करियर का चुनाव करना चाहिए। जिन क्षेत्रों में भविष्य के जॉब्स हो। डॉ सतीश शास्त्री जी ने भाषाओं में उभरते नए अवसरों के रूप में नई शिक्षा नीति को महत्त्वपूर्ण बताया। डी ए वी कालेज, मुज़फ्फरनगर के विधि विभाग के प्रोफेसर डॉ कुलदीप पंवार ने युवाओं को 21वी सदी के स्किल सीखने का मौका नई शिक्षा नीति से मिलेगा ऐसी संभावनाओं को रेखांकित किया। वहीं शहर के सजग युवा कुलदीप चौहान ने नई शिक्षा नीति में युवा पीढ़ी के लिए अपार संभावनाओं की गुंजाइश बताई। एस डी कॉलेज, मुज़फ्फरनगर के शारीरिक शिक्षा विभाग में सहायक प्रोफेसर डॉ नितिन रोस्सा जी ने खेल, योगा और शारीरिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई शिक्षा नीति के तहत उभरती नई संभावनाओं पर महत्वूर्ण चर्चा की। वहीं प्रदीप चौहान ने बालिकाओं कि शिक्षा पर विशेष ध्यान देने का आग्रह किया ताकि नई शिक्षा नीति का अधिकतम सदुपयोग पिछड़े समाज अपने विकास में कर सके। कार्यक्रम के सह-संयोजक डॉ राकेश राणा ने नई शिक्षा नीति को एक उज्जवल दस्तावेज बताते हुए सांस्कृतिक उद्यमिता में उभरते क्षेत्र में युवाओं को कैरियर बनाने के लिए प्रेरित किया। योग, अध्यात्म, आयुर्वेद, भारतीय कृषि पद्धति और भारतीय संस्कृति के क्षेत्र में नए अवसर नई नीति के जरिए उभरेंगे युवा उनका लाभ उठाए। युवाओं को इन क्षेत्रों में बढ़ना चाहिए। इस राष्ट्रीय वेबिनार में देशभर से सहभागिता कर रहे युवाओं ने सार्थक विचार रखे। कार्यक्रम के मुख्य संयोजक श्री हिमांशु तोमर जी ने संगोष्ठी का सफल संचालन किया। सभी का अंत में धन्यवाद् करते हुए कहा *आदर्श गुर्जर परिवार* नियमित रूप से ऐसे अकादमिक आयोजन करता रहेगा। इसके लिए सभी से सहयोग की अपेक्षा है। आदर्श गुर्जर परिवार आप सबका आभार व्यक्त करता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *