अंतरजातीय वैवाहिक परिचय सम्मेलन समारोह को लेकर बैठक संपन्न

जमशेदपुर ।( संवाददाता )अखिल भारतीय अंतर्जातीय वैवाहिक परिचय सम्मेलन समारोह की सफलता के लिए क्षेत्रवार बैठकों का दौर प्रारंभ किया जा चुका है । इसके अंतर्गत प्रथम क्षेत्रवार बैठक श्रीमती अर्चना बरनवाल की अध्यक्षता में हुई ।
बैठक में मुख्य अतिथि के नाते उपस्थित अखिल भारतीय अंतर्जातीय वैवाहिक परिचय सम्मेलन समिति के संयोजक धर्म चंद्र पोद्दार ने बताया कि इस परिचय सम्मेलन की तैयारियां अनेक स्तरों पर प्रारंभ की जा चुकी है ।इसके तहत पंपलेट , पोस्टर एवं बैनर आदि का प्रारूप तैयार किया जा रहा है ।
श्री पोद्दार ने जानकारी देते हुए बताया कि कोल्हान प्रमंडल के सभी जिलों यथा पूर्वी सिंहभूम , पश्चिमी सिंहभूम एवं सरायकेला – खरसावां में पोस्टर चिपकाने व पंपलेट बांटने का काम किया जाएगा ।

कोल्हान प्रमंडल के विभिन्न स्थानों पर बैनर भी लगाए जाएंगे । बताया कि बायो डाटा आने शुरू हो गए है ।
उन्होंने बताया कि गोलपहाड़ी स्थित गायत्री परिवार के मंदिर कमेटी के द्वारा मात्र 2000 ( दो हज़ार ) रुपये लिए जाते हैं एवं लड़के और लड़की का आधार कार्ड की कॉपी लेते हैं ।
दोनों पक्ष के दो – दो गवाह लेते हैं जिनका डिक्लेरेशन उन्हें देना होता है और अपने अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी भी देनी होती है ।
विवाह वैदिक रीति से संपन्न कराते हैं साथ ही विवाह प्रमाण पत्र भी निर्गत करते हैं । इसके बाद विवाह का सरकारी प्रमाण पत्र प्राप्त किया जा सकता है ।
इसमें अल्प व्यय है जो वर पक्ष के लोग वहन कर सकेंगे फिर उन्हें अगर कोई पार्टी वगैरा देनी है तो अपने स्थान पर जाकर दे सकेंगे । चाहेंगे तो यह व्यवस्था भी गायत्री परिवार मंदिर प्रांगण में उपलब्ध हो सकेगी ।
सह – संयोजक इंजीनियर सरस्वती कुमारी ने कहा कि कन्या पक्ष के लोगों से किसी भी प्रकार का कोई रजिस्ट्रेशन शुल्क नहीं लिया जाए । उन लोगों को भरपूर सहयोग दिया जाए । जोड़े तय होने की स्थिति में भी विवाह में होने वाले अल्प खर्च को वर पक्ष के लोग ही वहन करें ।
बैठक में उपस्थित लोगों ने अपने विचारों का आदान प्रदान किया और यह भी विचार किया गया कि पंपलेट और पोस्टर तीनों जिला के सभी प्रखंड में पहुंच सके ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए ।
बैठक में अधिकाधिक प्रचार-प्रसार किए जाने को लेकर काफी चर्चा हुई और तय किया गया कि प्रचार – प्रसार करने के लिए जहां-जहां आवश्यकता होगी हम सब इसके लिए अनेक क्षेत्रों में जा सकेंगे ।
प्रचार – प्रसार पर ही इस कार्यक्रम की मुख्य रूप से सफलता निर्भर करती है इसलिए इस कार्य को बहुत ही सुचारु रुप से करने की आवश्यकता पर बल दिया गया ।
बैठक की अध्यक्षता कर रही श्रीमती अर्चना बरनवाल ने कहा कि हम लोगों को मौखिक रूप से एवं मीडिया के द्वारा भी प्रचार-प्रसार जारी रखना चाहिए ।
क्षेत्रवार बैठकों का दौर शुरू किया गया है जो कि काफी सराहनीय है । इसके द्वारा क्षेत्र विशेष में प्रचार-प्रसार भी होगा और वहां के अनेकानेक लोग इस महान कार्य में जुट भी सकेंगे ।
जुगसलाई की इस बैठक में अनेक लोगों को आने के लिए मना किया जा चुका है चूंकि प्रशासन का आदेश है 5 लोग एक जगह इकट्ठा नहीं हो सकते है ।
कन्या पक्ष के लोगों से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जायेगा और उन्हें भरपूर सहायता दी जाएगी । जोड़े तय होने पर सामूहिक विवाह कराए जाने पर कन्या पक्ष के लोगों का कुछ भी खर्च नहीं हो इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा । गायत्री परिवार की पद्धति से जोड़ों का सामूहिक विवाह करवाना अति उत्तम होगा ।दोनों पक्ष के लोग आपसी सहमति एवं सुविधानुसार अन्य स्थान में एवं अपनी रीति – रिवाज से भी विवाह कर सकते हैं ।
बैठक के अंत में धन्यवाद ज्ञापन श्रीमती शिलु सिंह के द्वारा किया गया । बैठक में श्री पोद्दार के अलावे सरस्वती कुमारी ,अर्चना बरनवाल , शिलु सिंह सम्मिलित थी । यह जानकारी अखिल भारतीय अंतर्जातीय वैवाहिक परिचय सम्मेलन द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में दी गई है ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *