रक्षा मंत्री को सौंपा गया ज्ञापन : अग्निवीर बनकर गुर्जर करेंगे देश की सेवा

नोएडा। गुर्जर जाति की देश भक्ति सदा सिर चढ़कर बोली है। इसने देश भक्ति के किसी भी अवसर को हाथ से जाने नहीं दिया है। यही कारण है कि चाहे मुगलों का काल रहा चाहे अंग्रेजों का काल रहा इसने भारत की संस्कृति की रक्षा के लिए बढ़-चढ़कर अपना योगदान और बलिदान दिया है। बलिदानी इतिहास को समेटे अपने गौरवपूर्ण इतिहास पर आज भी इस जाति को ही नहीं बल्कि पूरे देश को घमंड है। अपनी देशभक्ति की इसी परंपरा को आज भी आगे बढ़ाना इस समाज के लोगों के लिए गौरव का विषय माना जाता है।
गुर्जर जाति की देशभक्ति की इसी पवित्र भावना का सम्मान करते हुए अखिल भारतीय गुर्जर संस्कृति शोध संस्थान के प्रतिनिधि मंडल ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में भारत सरकार की अग्निवीर योजना का समर्थन करते हुए गुर्जर समुदाय के युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर भर्ती करने की मांग की गई है।
।शोध संस्थान के उपाध्यक्ष महेश अवाना ने जानकारी देते हुए बताया कि रक्षा मंत्री को दिए गए पत्र में कहा गया है कि गुर्जर समुदाय के लोगों ने अपनी राष्ट्र सेवा में सदैव मिसाल कायम की है। गुर्जर समाज का पराक्रम एवं राष्ट्रभक्ति से सारा देश भलीभांति परिचित है। उन्होंने कहा कि गुर्जरों के पराक्रम और शौर्य से विदेशी सत्ताधारी लोग सदा भयभीत रहे। इस जाति ने अपने शौर्य और पराक्रम से अनेक युद्धों में देश को जीत दिलाने का गौरवशाली कार्य किया है।
पत्र में मांग की गई है कि दादरी, सहारनपुर, मेरठ, व राजस्थान के विभिन्न स्थानों पर कैंप लगाकर प्राथमिकता के आधार पर गुर्जर समाज के लोगों को इस योजना का लाभ उठाने के लिए मौका दिया जाए। रक्षा मंत्री से मुलाकात करने वालों में अखिल भारतीय गुर्जर संस्कृति शोध संस्थान ग्रेटर नोएडा के संरक्षक हरीश चंद्र भाटी, अध्यक्ष योगेंद्र चौधरी, उपाध्यक्ष महेश अवाना, सुदेश अवाना, हरिपाल प्रधान मौजूद रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *