विश्व सनातन फेडरेशन करेगा विश्व स्तर पर हिंदुओं के अधिकारों के लिए संघर्ष : संदीप कालिया

 

नई दिल्ली। ( सत्यजीत कुमार ) विश्व सनातन फेडरेशन के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप कालिया ने कहा है कि वर्तमान काल में जब इस्लामिक और ईसाई दो गुटों में सारा संसार बंटा हुआ है तब सारे संसार में हिंदुओं के एक वैश्विक संगठन की अनिवार्यता लंबे काल से अनुभव की जा रही थी। क्योंकि वैश्विक स्तर पर हिंदुओं के हितों के लिए संघर्ष करने वाली कोई ऐसी सर्वमान्य संस्था नहीं थी जो प्रत्येक देश में हिंदुओं के हितों के लिए संघर्ष कर सके। इसी दृष्टिकोण से विश्व सनातन फेडरेशन की स्थापना की गई है।
श्री कालिया ने ‘उगता भारत’ के साथ एक विशेष बातचीत में कहा कि वैश्विक जगत में हिंदू अपने आप को अकेला अनुभव करता है। यही कारण है कि उसके लिए अनेकों देशों में ऐसी समस्याएं मुंह बाए खड़ी रहती हैं जिनका सामना वह नहीं कर पाता। इसी दृष्टिकोण से विश्व सनातन फेडरेशन स्थापित किया गया है। जिससे कि हिंदुओं को अपनी समस्याओं के समाधान के लिए प्रत्येक देश में एक संघर्षशील मंच प्राप्त हो सके।
श्री कालिया ने कहा कि हम भारत में विश्व सनातन फेडरेशन को एक राजनीतिक मोर्चा के रूप में भी स्थापित करेंगे। जिसके भीतर अनेकों ऐसे राजनीतिक व सामाजिक संगठनों को लिया जाएगा जो अखिल भारत हिंदू महासभा की सावरकरवादी सोच के साथ समन्वय बनाकर राजनीतिक गठबंधन का स्वरूप तैयार कर सकें । इसके लिए अनेकों राजनीतिक दलों और संगठनों से बातचीत का क्रम शुरू हो चुका है ।
उन्होंने कहा कि इसके लिए हिंदू महासभा की ओर से एक समिति का गठन कर दिया गया है जो अन्य समान विचारधारा वाले दलों के साथ समन्वय बनाने का काम कर रही है। आगामी चुनावों में यह फेडरेशन निश्चय ही एक सक्षम विकल्प बनकर रहेगा। श्री कालिया ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनावों में हम मजबूती के साथ अपने कैंडिडेट उतार चुके हैं, और अन्य राज्यों में भी फेडरेशन के माध्यम से हम अपने उम्मीदवार चुनावों में उतारेंगे।
श्री कालिया ने कहा कि यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारतवर्ष जो कि ‘हिंदूस्थान’ के नाम से भी जाना जाता है हिंदुओं की अंतिम क्षण स्थली है, लेकिन यहां भी हिंदू को ही मौलिक अधिकारों की प्राप्ति के लिए जूझना पड़ रहा है।
श्री कालिया ने जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की इस बात के लिए आलोचना की कि वह चीन के हाथों खेलकर भारत के हितों को नुकसान पहुंचाने पहुंचा रहे हैं । इसी प्रकार कांग्रेस और कम्युनिस्टों के बारे में भी अपनी बेबाक राय रखते हुए उन्होंने कहा कि ये राजनीतिक दल भी पहले दिन से ही चीन को लाभ पहुंचाते रहे हैं । जिनका राष्ट्रवाद दोगला है और भारत को नुकसान पहुंचाने वाला है – ऐसे राजनीतिक दलों को अब जनता माफ नहीं करेगी। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि ऐसे दोगले राजनीतिक दलों को जनता चुनावों में अच्छा सबक सिखाएगी।

डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

मुख्य संपादक, उगता भारत

More Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *