कोरोना :167 देशों से आगे दिल्ली , मौत में 166 देशों को पिछड़ा: केजरीवाल बोले काबू में हालात

दिल्ली, कोरोनामहाराष्ट्र के बाद दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 3390 नए मामले सामने आए हैं। इसके चलते स्थिति काफी भयावह हो गई है।
वहीं 74 हजार के करीब मामले सामने आने के बावजूद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि हालात नियंत्रण में हैं।
केजरीवाल ने कहा कि संक्रमण के मामले इसलिए ज्यादा आ रहे हैं क्योंकि दिल्ली में टेस्टिंग ज्यादा करवाई जा रही है। लोगों को ज्यादा नहीं बस हल्का सा कोरोना है और मरीज घर पर रह कर ही ठीक हो जाएँगे। उन्होंने कहा कि लोगों को आँकड़े देख कर बिल्कुल भी चिंता करने जरूरत नहीं है।
आखिर मुख्यमंत्री केजरीवाल कब तक दिल्ली वालों को पागल बनाते रहेगे? हद हो गयी झूठ बोलने और जनता को पागल बनाने की। News18 पर आप नेता संजय सिंह ने कहा था कि “हमने रोज एक लाख लोगों को खाना बांटा और 5000 रूपए बांटे, जबकि मेरे मोहल्ले में बंटे मात्र 2000 रुपये। जब पार्टी ने जनता के लिए 5000 रूपए दिए थे, फिर 3000 रूपए कौन डकार गया? 
दिल्ली में 23 जून को कोरोना संक्रमण के मरीजों के इतने आँकड़े सामने आ गए थे, जिसने पूरी दुनिया में फैले हर देश के आँकड़ों को पछाड़ दिया था। यहाँ तक कि पाँच गुना ज्यादा संख्या वाले महाराष्ट्र की तुलना में दिल्ली में संक्रमितों के मामले दिन पर दिन दुगने होते जा रहे हैं।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में बढ़ते कोरोना के आँकड़े दुनिया भर के 167 देशों से भी ज़्यादा हैं। इसके अलावा संक्रमण से हो रहीं मौतों ने भी 166 देशों को पीछे कर दिया है। ये सभी देश कम जनसंख्या वाले ही नहीं हैं। इनमें इंडोनेशिया, जापान और मिस्त्र जैसे बड़े देश भी शामिल हैं।
चरम सीमा पर पहुँचते हुए आँकड़ों के बीच अरविंद केजरीवाल ने यह भी बताया कि प्‍लाज्‍मा थेरेपी की वजह से कोरोना से होने वाली मौतों में 50 फीसद तक की कमी देखी गई है। केजरीवाल ने बताया गंभीर बीमारी के चलते हो रही मौतों को रोकने में प्लाज्मा थेरेपी बहुत ही कारगर साबित हो रही है। साथ ही अस्पतालों में संख्या कम करने के लिए घरों पर इलाज कराने वाले मरीजों के लिए घर पर ही ऑक्सीमीटर का इंतज़ाम किया जा रहा है।
दिल्ली में बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने अब मोर्चा सँभाला है। आईटीबीपी की टीम ने नई दिल्ली स्थित राधास्वामी व्यास छतरपुर में 10,000 से भी ज्यादा बिस्तरों वाले प्रस्तावित कोविड केयर सेंटर में तैयारियों के साथ और 26 जून से प्रारंभ होने वाले राजधानी के इस विशालतम कोविड केयर सेंटर के संचालन की नोडल एजेंसी के तौर पर कार्यभार को सँभाल लिया है। यह एशिया का सबसे बड़ा कोविड सेंटर है।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर आईटीबीपी के अनुभवी डॉक्टरों और प्रशासकों की टीम द्वारा केयर सेंटर की तैयारियाँ युद्ध स्तर पर की जा रही है। दिल्ली में बिगड़ते हालात को लेकर गृहमंत्री ने सबसे पहले एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इसके बाद स्थिति का जायजा लेने के लिए एलएनजेपी अस्पताल में कोरोना वायरस की तैयारियों को देखते हुए अस्पताल का दौरा भी किया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *