वीर सावरकर फाउंडेशन करेगा सावरकर के सपनों को साकार : डीसी पोद्दार

जमशेदपुर । यहां पर वीर सावरकर फाउंडेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री धर्मचंद पोद्दार ने कहा कि वीर सावरकर फाउंडेशन सावरकर जी के सपनों को साकार करने के प्रति कृतसंकल्प है । श्री पोद्दार ने ‘उगता भारत ‘ को बताया कि सावरकर जी जिस प्रकार हिंदुओं के सैनिकीकरण की बात करते थे वही आज इस देश की एक आवश्यकता बन चुका है । उन्होंने कहा कि सावरकर जी की दूरदर्शिता की हमें प्रशंसा करनी चाहिए ।आज जब सारी दुनिया सांप्रदायिक ध्रुवीकरण से दो खेमों में बांट चुकी है, तब भारत के हिंदू अपने आप को वैश्विक मंचों पर अकेला अनुभव करते हैं । ऐसे में सावरकर जी का दर्शन और चिंतन स्वीकार किया जाना समय की आवश्यकता है ।उन्होंने कहा कि वीर सावरकर फाउंडेशन राजनीति का हिंदूकरण करने का भी पक्षधर है । क्योंकि यह मंत्र भी सावरकर जी ने ही हमें प्रदान किया था । श्री पोद्दार ने कहा कि राजनीति का हिंदूकरण करने का अभिप्राय राजनीति का संप्रदायिकीकरण करना नहीं है , अपितु राजनीति को मानवीय संवेदनाओं के प्रति सहज , सरल और गंभीर बना देना है ।श्री पोद्दार ने कहा कि मानवीय संवेदनाओं का सम्मान करना और व्यक्ति व्यक्ति के बीच धर्म , जाति , लिंग , संप्रदाय आदि के आधार पर किसी प्रकार का भेदभाव न करते हुए दोषी को उचित अनुपात में कठोर दंड देना भारतीय राजनीति का प्रमुख अंग है। यदि इस प्रकार की राजनीति निष्पक्ष होकर न्याय प्रिय आचरण करने लगेगी तो उसे ही राजनीति का हिंदूकरण कहा जाएगा ।श्री पोद्दार ने कहा कि हम वीर सावरकर फाउंडेशन के माध्यम से इस बार ‘ उगता भारत ‘ के संपादक डॉ राकेश आर्य को ‘ मदनलाल धींगरा पुरस्कार ‘ दे रहे हैं । इसका उद्देश्य भी यही है कि हम क्रांतिकारी विचारधारा के अपने इतिहासनायकों की स्मृतियों को आने वाली पीढ़ियों के मन मस्तिष्क में उतार दें । जिससे वे भारतीय क्रांतिकारियों के दर्शन और चिंतन को समझने के प्रति प्रेरित हों । श्री पोद्दार ने कहा कि श्री आर्य अपने उत्कृष्ट लेखन के माध्यम से ऐसा ही कार्य कर रहे हैं इसलिए उन्हें यह सम्मान दिया जाना फाउंडेशन के लिए गौरव की बात है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *