आईएस ने दक्षिण एशिया में भी अपनी दस्तक दे दी है

आईएस ने दक्षिण एशिया में भी अपनी दस्तक दे दी है

-तनवीर जाफ़री- इराक़ तथा सीरिया के बड़े हिस्से पर अपना नियंत्रण करने के बाद इस्लाम के नाम पर संचालित होने वाले आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने संभवत: दक्षिण एशिया में भी अपनी दस्तक दे दी है। बावजूद इसके कि इराक व सीरिया में आईएस हमलावरों को अमेरिकी गठबंधन सेना के साथ-साथ आईएस विरोधी कुर्द,शिया तथा सुन्नी समुदाय के एक बड़े वर्ग के विरोध का सामना भी करना पड़ रहा है। परंतु अपनी हिंसक रणनीति पर चलते हुए आईएस के आतंकी अपने विस्तार का अभियान भी साथ-साथ छेड़े हुए हैं। आतंकियों की सुरक्षित पनाहगाह समझे जाने वाले पाकिस्तान में तो आईएस के विस्तार के समाचार पहले भी सुनाई दे चुके हैं। परंतु जिस प्रकार गत् 13 मई को प्रात:काल तीन मोटरसाईकलों पर सवार लगभग 8 हथियारबंद आतंकियों ने कराची में बस में घुसकर शिया इस्माईली समुदाय के 47 लोगों की हत्या की और बाद में घटना स्थल से इस्लामिक स्टेट के ...

Read More

दुबई में चार दिन

इस बार संयुक्त अरब अमारात में आना तीन—चार साल बाद हुआ। मेडिकल इंस्टीट्यूट के प्रसिद्ध हृदरोग—विशेषज्ञ  डॉ. सुभाष मनचंदा का भाषण था और मुझे अध्यक्षता के लिए बुलाया गया था। इंडिया क्लब का पूरा हॉल भरा था। डॉ. मनचंदा बोले ‘योग और स्वस्थ हृदय’ विषय पर। उन्होंने हृदय--रोग के बारे में इतनी सरल और उपयोगी जानकारी दी कि श्रोता कृतार्थ हुए। उन्होंने योग के जरिए न सिर्फ हृदय  को स्वस्थ रहने की तरकीबें बताईं बल्कि १०० साल तक स्वस्थ और प्रसन्न रहने के गुर भी सिखाए। मैंने डॉ. मनचंदा के द्वारा चलाए जा रहे ‘दिया फाउंडेशन’ का परिचय करवाया। यह संस्था झुग्गी--झोपड़ी में रहनेवाले बच्चों को निःशुल्क शिक्षा, वस्त्र, भोजन मुहय्या करवाती है और गरीब दिल के मरीजों का मुफ्त इलाज़ करती है। कुछ श्रोताओं ने आगे होकर इस संस्था के लिए दान और सहयोग की घोषणा की। जैसे ही दुबई पहुँचे शेख नाह्यान मुबारक ने मुझे फ़ोन किया कि आपके ...

Read More

इस्लाम के नाम पर यह क्या?

इस्लाम के नाम पर पश्चिम एशिया में क्या हो रहा है? सीरिया, एराक, यमन आदि देशों में एक के बाद एक शहरों में ‘इस्लामी राज्य’ का कब्ज़ा होता जा रहा है। वहाँ की सरकारें हक्की—बक्की रह जाती हैं। उनकी फौजें और पुलिस भाग खड़ी होती हैं। यह सब तब हो रहा है जबकि इन-अरब राष्ट्रों के पीछे अमेरिकी ताकत लगी हुई है लेकिन अमेरिका की दिक्कत यह है कि उसके जवान मैदान में जाकर आमने—सामने नहीं लड़ते हैं। वे हवाई जवान हैं। तोपों, जहाजों,मिसाइलों से हमला करते हैं। इन हवाई हमलों का बागी लोग डटकर मुकाबला करते हैं। मुस्लिम अरब राष्ट्रों की फौज और पुलिस के जवान भी बागियों के साथ मिल जाते हैं। ये ‘इस्लामी राज्य’ के बागी आखिर चाहते क्या हैं ? वे अरब देशों में कैसी सरकारें चाहते हैं ? उनका कहना है कि वे निजामे—मुस्तफा कायम करना चाहते हैं लेकिन उनके कारनामों को देखकर खुद मुस्तफा दांतों ...

Read More

दिल्ली में दंगल जारी

दिल्ली के मुख्यमंत्री और उप—राज्यपाल के दंगल ने अब अपना अखाड़ा बदल लिया है। अब यह दंगल भाजपा और ‘आप’ के बीच शुरू हो गया है। ‘आप’ के नेताओं का मानना है कि उप—राज्यपाल नजीब जंग केंद्र सरकार के इशारे पर अरविन्द केजरीवाल सरकार को ठप करने पर उतारू हैं। वे न तो किसी अफसर की नियुक्ति और न ही तबादला करने दे रहे हैं। सभी महत्वपूर्ण विभागों की फाइलें सीधे अपने पास मंगा रहे हैं।  अफसरों को वे ही निर्देश कर रहे हैं। वे दिल्ली की सरकार को उसी तरह चला रहे हैं, जैसे कि वे पिछले साल चला रहे थे जबकि वहाँ कोई भी चुनी हुई सरकार नहीं थी।  वैसे तो नजीब जंग और केजरीवाल के संबंध मधुर थे लेकिन यह सब नाटक इसीलिए हो रहा है कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी दिल्ली में अपनी करारी हार का बदला निकालना चाहते हैं। वे अरविन्द की सरकार को सीधे ...

Read More

मोदी की चाणक्य−नीति

मोदी की चाणक्य−नीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस विदेश यात्रा में सबका ध्यान उनकी चीन−यात्रा पर सबसे ज्यादा गया। जाना भी चाहिए था, क्योंकि चीन एशिया का सबसे बड़ा राष्ट्र है और भारत के साथ उसके संबंध उलझनभरे भी हैं लेकिन इस पूरी यात्रा में उनके मंगोलिया और दक्षिण कोरिया जाने का अपना कूटनीतिक और सामरिक महत्व है। मंगोलिया और दक्षिण कोरिया चीन के कुछ−कुछ वैसे ही पड़ौसी हैं, जैसे कि पाकिस्तान हमारा है। पाकिस्तान से हमारे संबंध जितने शत्रुतापूर्ण रहे हैं, उतनी शत्रुता ये दोनों छोटे−छोटे देश चीन से नहीं रख सकते लेकिन इन दोनों देशों को चीन से भयंकर शिकायतें रही हैं। मंगोलिया का बहुत−सा क्षेत्र अभी भी चीन के कब्जे में हैं और दक्षिण कोरिया पर कब्जा करने के लिए चीन हमेशा उत्तर कोरिया को उकसाता रहा है। चीन के ऐसे दो पड़ौसी देशों में भारतीय प्रधानमंत्री का जाना और चीन जाने के साथ−साथ जाना, वास्तव में आचार्य चाणक्य की ...

Read More


आईएस ने दक्षिण एशिया में भी अपनी दस्तक दे दी है

-तनवीर जाफ़री- इराक़ तथा सीरिया के बड़े हिस्से पर अपना नियंत्रण करने के बाद इस्लाम के नाम पर संचालित होने वाले आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने संभवत: दक्षिण एशिया में भी अपनी दस्तक दे दी है। बावजूद इसके कि इराक व सीरिया में आईएस हमलावरों को अमेरिकी गठबंधन सेना के साथ-साथ आईएस विरोधी कुर्द,शिया तथा सुन्नी समुदाय के एक

» Read more

दुबई में चार दिन

इस बार संयुक्त अरब अमारात में आना तीन—चार साल बाद हुआ। मेडिकल इंस्टीट्यूट के प्रसिद्ध हृदरोग—विशेषज्ञ  डॉ. सुभाष मनचंदा का भाषण था और मुझे अध्यक्षता के लिए बुलाया गया था। इंडिया क्लब का पूरा हॉल भरा था। डॉ. मनचंदा बोले ‘योग और स्वस्थ हृदय’ विषय पर। उन्होंने हृदय–रोग के बारे में इतनी सरल और उपयोगी जानकारी दी कि श्रोता कृतार्थ

» Read more

इस्लाम के नाम पर यह क्या?

इस्लाम के नाम पर पश्चिम एशिया में क्या हो रहा है? सीरिया, एराक, यमन आदि देशों में एक के बाद एक शहरों में ‘इस्लामी राज्य’ का कब्ज़ा होता जा रहा है। वहाँ की सरकारें हक्की—बक्की रह जाती हैं। उनकी फौजें और पुलिस भाग खड़ी होती हैं। यह सब तब हो रहा है जबकि इन-अरब राष्ट्रों के पीछे अमेरिकी ताकत लगी

» Read more

दिल्ली में दंगल जारी

दिल्ली के मुख्यमंत्री और उप—राज्यपाल के दंगल ने अब अपना अखाड़ा बदल लिया है। अब यह दंगल भाजपा और ‘आप’ के बीच शुरू हो गया है। ‘आप’ के नेताओं का मानना है कि उप—राज्यपाल नजीब जंग केंद्र सरकार के इशारे पर अरविन्द केजरीवाल सरकार को ठप करने पर उतारू हैं। वे न तो किसी अफसर की नियुक्ति और न ही

» Read more

मोदी की चाणक्य−नीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस विदेश यात्रा में सबका ध्यान उनकी चीन−यात्रा पर सबसे ज्यादा गया। जाना भी चाहिए था, क्योंकि चीन एशिया का सबसे बड़ा राष्ट्र है और भारत के साथ उसके संबंध उलझनभरे भी हैं लेकिन इस पूरी यात्रा में उनके मंगोलिया और दक्षिण कोरिया जाने का अपना कूटनीतिक और सामरिक महत्व है। मंगोलिया और दक्षिण कोरिया चीन

» Read more

नाथूराम गोड़से का अस्थि-कलश विसर्जन अभी बाकी है…

सुरेश चिपलुनकर गत 30 जनवरी को महात्मा गाँधी के अन्तिम ज्ञात (?) अस्थि कलश का विसर्जन किया गया। यह “अंतिम ज्ञात” शब्द कई लोगों को आश्चर्यजनक लगेगा, क्योंकि मानद राष्ट्रपिता के कितने अस्थि-कलश थे या हैं, यह अभी तक सरकार को नहीं पता। कहा जाता है कि एक और अस्थि-कलश बाकी है, जो कनाडा में पाया जाता है। बहरहाल, अस्थि-कलश

» Read more
1 2 3 592