ग्रेटर नोएडा में 130 मीटर रोड पर चल रहे धीमे काम को लेकर लोगों में बढ़ा आक्रोश : 2 मिनट के रास्ते को पार करने में लगता है आधा घण्टा

ग्रेटर नोएडा। ( रामकुमार वर्मा) यहां पर 130 मीटर रोड पर डीएमआईसी की पटरी के दृष्टिगत चल रहे धीमे काम को लेकर लेकर लोगों में धीरे-धीरे आक्रोश बढ़ता जा रहा है। लोगों का मानना है कि यह कार्य एक ओर की सड़क को खोले रखकर भी पूरा किया जा सकता था। लेकिन संबंधित विभाग और प्रशासनिक अधिकारियों ने जनता की परेशानी को बढ़ाते हुए सड़क को दोनों ओर से बंद कर दिया। जिससे लोगों की समस्याएं बढ़ गई। न केवल ग्रेटर नोएडा के निवासियों को इससे समस्या हुई है बल्कि जो लोग दूर से और बाहर से आते हैं उनके लिए तो यह समस्या और भी अधिक गहरी हो गई है। क्योंकि उन्हें लोकल रास्तों की कोई जानकारी नहीं होती और यदि उन्हें परी चौक या ग्रेटर नोएडा को पार करना होता है तो उनके लिए मुख्य सड़क पर लौटना बहुत कठिन हो जाता है।
इस संबंध में समाजसेवी नीरपाल भाटी का कहना है कि शुरुआत में प्रशासनिक अधिकारियों ने कहा था कि यह काम 6 महीने में पूरा हो जाएगा जबकि अब लगभग 2 साल से भी अधिक का समय हो गया है पर यह काम पूरा नहीं हुआ है और बढ़ता ही जा रहा है। जिससे लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है।
इसी प्रकार इस सड़क को अपने काम के लिए लगभग रोजाना प्रयोग करने वाले विपिन आर्य का कहना है कि जो लोग इस रास्ते को पहली बार प्रयोग कर रहे होते हैं उनके लिए तो ग्रेटर नोएडा को पार करना बहुत ही महंगा और कड़ा हो गया है। जबकि प्रशासनिक अधिकारियों की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
लोगों की समस्याओं के दृष्टिगत और प्रशासनिक प्रगति की धीमी चाल को देखते हुए यह माना जा सकता है कि प्रशासनिक अधिकारियों ने लोगों की समस्या का ध्यान न रखते हुए ही इस सड़क पर अस्त-व्यस्तता फैला दी है। यह समस्या उस समय और ज्यादा गहरी और गंभीर हो जाती है जब 130 मीटर रोड से डिजाइन आर्क सोसाइटी की ओर को जाने वाली सभी सड़कें अपनी टूटी फूटी हालत को दिखाती हैं और उन पर रोजाना जाम की स्थिति बन जाती है। देखते हैं ग्रेटर नोएडा के लोगों को इस समस्या से कब निजात मिलती है ?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *