उत्तर प्रदेश : फिर बन रही योगी सरकार, 2022 में मिल सकता है 2017 के मुकाबले ज्यादा वोट: सर्वे

तथाकथित किसान आंदोलन को समर्थन दे समस्त मोदी विरोधी केंद्र में मोदी सरकार को हटाने के लिए एकजुट हुए हैं, शायद भूल गए कि यही समर्थन उनके विरुद्ध जा रहा है और 26 जनवरी को लाल किला से लेकर लखीमपुर खेरी तक हुए हंगामे से इन सबकी छवि और अधिक धूमिल ही हुई है। क्योकि जनता भी जान चुकी है कि किसान आंदोलन सिर्फ असफल चुनावी हथकंडा है।
जनता इन तथाकथित किसानों और इनको समर्थन दे रही पार्टियों से जानना चाहती है कि किसान आंदोलन में खालिस्तान और दिल्ली दंगे में गिरफ्तार दंगाइयों को रिहा करने की मांग करने का क्या मतलब? जो इस बात को सिद्ध करता है कि इस आंदोलन को किसानों से कोई मतलब नहीं, बल्कि मोदी का विरोध करने में देश में अराजकता फैलाना ही इनका मुख्य उद्देश्य है।
2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, सत्तारूढ़ से लेकर विपक्ष तक सब चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं, चुनाव से कुछ महीनों पहले एक सर्वे आया है, ये सर्वे विपक्ष की नींद उड़ाने वाला है, वहीँ सत्तापक्ष के लिया राहत भरा है, सर्वे के मुताबिक़, एक बार फिर उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बन रही है, वहीँ 2017 के मुकाबले 2022 में वोट प्रतिशत में बढ़ोतरी भी हो सकती है..इस सर्वे को C-वोटर ने किया है और एबीपी न्यूज़ ने प्रसारित किया है।
एबीपी न्यूज़-C वोटर सर्वे के मुताबिक, समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कांग्रेस सहित कोई भी विपक्षी दल भाजपा के आसपास भी नहीं नजर आ रहा है, सर्वे के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश में मौजूदा सरकार लोगों के लिए सबसे पसंदीदा विकल्प बनी हुई है।

सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार, राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों में सत्तारूढ़ भाजपा को 41.5 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद है। 2017 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने राज्य में 41.4 प्रतिशत वोट हासिल किए थे। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सपा का वोट शेयर 2017 में 23.6 प्रतिशत से 8.8 प्रतिशत बढ़कर 2022 में 32.4 प्रतिशत होने की उम्मीद है।

सर्वे से पता चलता है कि मायावती के नेतृत्व वाली बसपा के वोट शेयर 2017 में 22.2 प्रतिशत से 7.5 प्रतिशत गिरकर 2022 में 14.7 प्रतिशत होने की संभावना है। देश की सबसे पुरानी पार्टी – कांग्रेस, 1989 से राज्य में सत्ता से बाहर है, उसे 5.6 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद है, पार्टी ने 2017 में 6.3 प्रतिशत वोट हासिल किए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *