गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के नाम से हो ग्रेटर नोएडा में विश्वविद्यालय

ग्रेटर नोएडा। (विशेष संवाददाता) इतिहासकार डॉ राकेश कुमार आर्य ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम लिखे एक खुले पत्र में मांग की है कि गुर्जर सम्राट मिहिर भोज इतिहास के एक ऐसे नायक हैं जिनके द्वारा अपनी विशाल सेना के माध्यम से देश की संस्कृति की रक्षा करते हुए उस समय ‘घर वापसी’ और ‘शुद्धि’ का भी महान कार्य किया गया था। उनके महान कार्यों की स्मृति में एक विश्वविद्यालय की स्थापना ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में की जाए। जिससे हम अपने इस इतिहास नायक का उचित सम्मान कर सकें। डॉ आर्य ने अपने पत्र में कहा है कि जेवर के हवाई अड्डे का नाम हमारे इस इतिहास नायक गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के नाम पर रखा जाए।
  डॉक्टर आर्य का कहना है कि दादरी जैसे ऐतिहासिक नगर को गुर्जरों की राजधानी के नाम से जाना जाता रहा है। अतः मुख्यमंत्री से अनुरोध है कि दादरी रेलवे स्टेशन का नाम गुर्जर सम्राट मिहिर भोज रेलवे स्टेशन रखा जाए।
इतिहासकार डॉ आर्य ने कहा कि गुर्जर समाज का बलिदानी इतिहास रहा है ।इस समाज में 1857 की क्रांति का शुभारंभ गुर्जर धन सिंह कोतवाल के नेतृत्व में किया था । अतः 1857 की क्रांति के महानायक गुर्जर धनसिंह कोतवाल के बलिदान की स्मृति में गाजियाबाद मेरठ हाईवे का नाम गुर्जर धनसिंह कोतवाल क्रांति पथ रखा जाए और मेरठ के प्रवेश द्वार पर एक विशाल कीर्ति स्तंभ स्थापित कर वहां पर धनसिंह गुर्जर धन सिंह कोतवाल गुर्जर की प्रतिमा स्थापित कर उसके नीचे उन सभी बलिदानियों के नाम अंकित कराए जाएं जिन्होंने 1857 की क्रांति में भाग लेकर अंग्रेजों के विरुद्ध बगावत की थी और अपना सर्वोत्कृष्ट बलिदान दिया था।
श्री आर्य कहते हैं कि गुर्जर वंश के गौरवशाली इतिहास को सम्मान देने के लिए जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्य कर रहे हैं उसके दृष्टिगत उनसे अपेक्षा की जाती है कि उपरोक्त मांगों पर गंभीरता से विचार करेंगे और गुर्जर समाज को कृतार्थ करेंगे। इस मांग को भीम आर्मी या कोई और विपक्षी दल उठाए, इससे पहले उचित होगा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुर्जर समाज की भावनाओं का सम्मान करते हुए अपने स्तर पर निर्णय लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *