झारखंड में हिंदुओं की भावनाओं के साथ हो रहे खिलवाड़ पर सारे सेकुलर मौन : गाय की हो रही है खुल्लम खुल्ला हत्या

भेलाटांड़ में ३१.०७.२०२० को अहले सुबह गौ मांस से भरी गाड़ी को हिंदुराष्ट्र सेना के कार्यकर्ता व स्थानीय युवको ने पकड़ा| भारी मात्रा में गौ मांस को एक बड़े से बैग में भरकर रखा गया था , जिसे वेस्पा में लोड कर भेलाटांड़ से जोगता की ओर ले जाया जा रहा था| जैसा की सन्गठन वालों की जानकारी थी आये दिन इस मार्ग से होकर गौ मांस की तस्करी होती रहती है प्रशासन को सुचना देने के वावजूद कोई करवाई नहीं की जाती है | दिनाक ३१.०७.२०२० की सुबह हिन्दू संगठन के युवको ने एक तस्कर को धर दबोच जबकि उस का दूसरा साथी भागने में सफल रहा तत्पश्चात युवको ने मामले की जानकारी दोहता पुलिस को दी. सूचना पाकर आनन फानन में पुलिस मौके पर पहुंच मांस से भरे बैग और तस्करी के उपयोग में लाये गये वाहन को जब्त किया एवं तस्कर भद्री निवासी इबरार अहमद को हिरासत में लेकर थाने ले गई | इस घटना से मुस्लिम समुदाय नाराज होकर शिकायत करता गौरव झा के घर पर अपने लोगों के साथ घटना के दुसरे दिन हमला कर देता है | चुकी धनबाद में मुसलमानों के द्वारा गौ हत्या कर उसके मांस को बेचा जा रहा था जिसे रोकने के लिए हिंदू राष्ट्र सेना के प्रदेश प्रभारी श्री गौरव ने अपने लोगों के साथ मांस विक्रेता को पकड़ा और थाने के हवाले कर दिया इसके उन लोगों ने गौरव झा को अपना दुश्मन मान लिया और उनके के घर पर अपने लाव लश्कर के साथ सैकड़ों की संख्या में जुट गए और उनके घर पर हमला बोल दिया| वो तो भगवान की कृपा थी वो अपने घर परिवार के साथ सुरक्षित बच पायें | सबसे बड़ी आश्चर्य की बात है इस कोरोना काल में जहां सभी जगह लॉकडाउन लगा हुआ है उसके बावजूद गौ मांस की तस्करी कैसे होती है और अगर कोई इसे रोकने का कार्य करता है तो उसके घर पर हमला किया जाता है क्या झारखंड में प्रशासन नाम की चीज नहीं है? आश्चर्य तो तब और होता है जब थाना क्षेत्र के टाटा में टाटा कॉलोनी निवासी हिंदू राष्ट्र सेना के प्रदेश प्रभारी गौरव झा के घर पर सैकड़ो मुसलमानों ने हमला किया इस दौरान हमलावरों ने दो युवकों को खींचकर जमकर पिटाई भी कर दी जबकि गौरव झा ने अपने परिवार के साथ घर में कैद होकर अपनी जान बचाई | सूचना मिलने के तुरंत बाद पुलिस वाले घटनास्थल पर पहुंच गए और उन्होंने हमलावरों को खदेड़ दिया | झारखण्ड में गौ मांस तस्करों को पकड़वाने वालों के घरों पर हमला बोल देना और उसे जान से मारने का प्रयास करना यह दर्शाता है कि झारखण्ड ने न्याय व्यवस्था पूर्णत: ध्वस्त हो गई है | आज भी मुसलमान लोग गौरव झा के घर के आस-पास रेकी करते नजर आ रहें है वैसे तो प्रशासन ने उनकी सुरक्षा के लिए २५ पुलिसकर्मीयों को नियुक्त कर दिया है | दूसरी ओर शांतिप्रिय समुदाय के लोगों की ओर से गौरव झा के उपर झूठा मुकदमा भी कर दिया गया है | झारखण्ड में इस प्रकार की घटना अब आम हो चली है | ०१.०८.२०२० को हजारीबाग में दिन दहाड़े बकरीद के अवसर पर सुबह के 10:00 बजे हजारीबाग में भी गौ वध कर दिया गया | हजारीबाग में नरसिंह स्थान के पास खापरियावा में मुसलमानों ने कुर्बानी के नाम पर एक गाय को बांधकर रखा और जब हिंदुओं ने उसका विरोध किया तो उन लोगों ने बकायदा हिंदुओं पर पत्थरबाजी शुरू कर दी पुलिस के भी कई जवान जख्मी हुए हैं और जब इस बात की जानकारी सभी लोगों तक पहुंचाने के लिए भारतीय जन क्रान्ति दल डेमोक्रेटिक के प्रदेश अध्यक्ष भावेश मिश्र ने  इस पूरी घटना का वीडियो रिकॉर्डिंग कर उसे फेसबुक पर डाल दिया तो मुसलमानों ने न सिर्फ उनपर हमला किया बल्कि उनपर आई टी एक की धाराओ के अंतर्गत केस भी फ़ाइल् करवा  दिया | हजारीबाग में कोरोना का कहर व्याप्त है | इस लॉक डाउन की स्थिति में किसने बकरी ईद मानाने की इजाजत दी ? क्या लॉक डाउन में सामूहिक तौर पर नमाज़ पढने और गाय को काटते की इजाजत है ? गौ मांस की बिक्री प्रतिबंधित है उसके बावजूद लोग गौ मांस की बिक्री कैसे करते हैं यह समझ के परे हैं|
  ( दिव्य रश्मि से साभार )

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *