राम मंदिर निर्माण के लिए बनता जा रहा है उचित परिवेश : विनोद कुमार बंसल

ग्रेनो । ( सुंदरलाल शर्मा ) ‘ उगता भारत ‘ समाचार पत्र परिवार की ओर से आयोजित की गई आर्य समाज मंदिर डेल्टा -1 की संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि माता हमें उच्च संस्कार प्रदान करती है और पिता हमारे लिए संसार में विष्णु का काम करता है । इसलिए माता-पिता को हमारे यहां पर साक्षात चेतन देवता के रूप में मान्यता प्रदान की गई है । उन्होंने कहा कि वर्तमान बिगड़े हुए संस्कारों को ठीक करने के लिए शिक्षा में व्यापक सुधारों की आवश्यकता है ।

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि हमारे सब की संगठित शक्ति का परिणाम यह है कि अब देश में राम मंदिर निर्माण के लिए उचित परिवेश बनता जा रहा है । शीघ्र ही वह समय आएगा जब आप सब लोग न केवल राम मंदिर बनता हुआ देखेंगे बल्कि उसमें अपनी उपस्थिति और सहभागिता भी सुनिश्चित करेंगे । श्री बंसल ने कहा कि पहली बार देश का सर्वोच्च न्यायालय राम मंदिर के लंबित वाद में सुनवाई के प्रति गंभीर हुआ है । पहले यह सुनवाई 18 अक्टूबर तक संपन्न होनी थी , परंतु अब सर्वोच्च न्यायालय ने एक दिन और कम कर दिया है । श्री बंसल ने कहा कि कुछ लोग उनसे अक्सर यह प्रश्न पूछा करते हैं कि जब देश में अनेक और राम मंदिर बने हुए हैं तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की क्या आवश्यकता है ? तब मैं उन लोगों को एक ही जवाब दिया करता हूं कि जैसे आपका जन्म स्थान पूरे जीवन आपके लिए महत्वपूर्ण होता है , वैसे ही राम जी का जन्म स्थान हमारे लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने इस समस्या को अनावश्यक ही हिंदू मुस्लिम की समस्या बनाकर प्रस्तुत करने का प्रयास किया है , जिससे कि उनकी वोट बैंक की राजनीति चलती रहे , जबकि यह शुद्ध भारतीय अस्मिता से जुड़ा हुआ प्रश्न है और हिंदुओं की आस्था का भी प्रश्न है ऐसे में केवल एक ही रास्ता है कि राम जन्मभूमि पर रामचंद्र जी का भव्य मंदिर निर्मित हो ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *