क्रांतिकारियों को सम्मानित कर गौरवान्वित होता है वीर सावरकर फाउंडेशन : धर्मचंद पोद्दार

वीर सावरकर फाउंडेशन जमशेदपुर झारखंड के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री धर्म चंद पोद्दार का कहना है कि क्रांतिकारियों को इतिहास में उनका समुचित स्थान दिला कर सम्मानित करके वीर सावरकर फाउंडेशन स्वयं को गौरवान्वित अनुभव करता है। हम अपने इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए अनेकों क्रांतिकारियों की जयंती और बलिदान दिवस आदि को मनाते रहते हैं। जिससे कि हमारे देश की वर्तमान युवा पीढ़ी उनके आदर्श जीवन से प्रेरणा लें और देश धर्म व संस्कृति के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने के लिए प्रेरित हो । श्री पोद्दार ने ‘उगता भारत ‘ के साथ एक विशेष बातचीत में कहा कि मदनलाल धींगरा की जयंती आगामी 18 सितंबर को है । जिसे फाउंडेशन बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मना रहा है । इस अवसर पर ऐसे कार्यक्रम देने का प्रयास किया जाएगा जिससे क्रांतिकारियों को इतिहास में उनका समुचित स्थान प्राप्त हो और हमारे युवा पीढ़ी उनके जीवन से कुछ प्रेरणा ले सकें।

श्री पोद्दार ने कहा कि वीर सावरकर स्वयं एक क्रांतिकारी थे । यही कारण है कि हमने उनके नाम पर ही इस फाउंडेशन का नाम रखा है । जिस प्रकार वीर सावरकर स्वयं आजीवन क्रांतिकारियों का सम्मान करते रहे और भारत के युवाओं का सैनिकीकरण कर उनमें क्रांति भाव उत्पन्न करते रहे उसी प्रकार फाउंडेशन भी वर्तमान युवा पीढ़ी को क्रांति और सैनिकीकरण के लिए प्रेरित करता है ।उन्होंने कहा कि भारतीय इतिहास में क्रांतिकारी आंदोलन को उचित स्थान न मिलना सबसे अधिक दुर्भाग्य का विषय है । जब तक किसी देश का वास्तविक पौरुष उसकी युवा पीढ़ी के समझ में नहीं आता है तब तक उस देश की युवा पीढ़ी अपने बलिदानी पूर्वजों के साथ न्याय नहीं कर पाती ।

भारत के इतिहास का विकृतिकरण इसी दृष्टिकोण से किया गया कि यहां की युवा पीढ़ी अपने बलिदानी पूर्वजों को भूल जाए। परंतु अब फाउंडेशन इस दिशा में विशेष कार्य करेगा और अपने सभी क्रांतिकारी बलिदानीयों को इतिहास में समुचित स्थान दिला कर भारत को विश्व गुरु बनाएगा। इसी उद्देश्य से आगामी 18 सितंबर को हम मदन लाल धींगरा की जयंती मना रहे हैं ।

डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

मुख्य संपादक, उगता भारत

More Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *