तजिंदर बग्गा किडनैपिंग मामला और केजरीवाल की भूमिका

*बग्गा किडनैपिंग प्रकरण को सहज न लेवें…* दरअसल *क्रिप्टो केजरीवाल यह एक प्रयोग की भांति कर रहा था।*

गनीमत ये समझिए की समय रहते *भाजपा उसके इस प्रयोग के संकेतों में छुपे हुए भविष्य के खतरनाक गूढ़ार्थ को भांपने में समय रहते सफल रही और कल खुलकर फ्रंट फुट पर खेली, जो वो पश्चिम बंगाल में करने में असफल रही* और यहां तक की *राजस्थान, महाराष्ट्र आदि में करने में भी उतनी सफल नहीं हुई!?*

पूरे देश से *भारतीय जनता का व्यापक प्रतिकार स्वरूप सहयोग मिला।*

शाम होते होते केजरीवाल को अपने फेवरेट *आज तक* चैनल पर कई नेताओं की फेवरेट *श्वेता सिंह* के साथ एक इंटरव्यू के बहाने अपनी लुटी हुई इज्जत बचाने के लिए: *”कौन बग्गा… मैं किसी बग्गा को नहीं जानता”* वाला शिगुफा चबाते *बैकफुट पर अलतकिया खेलते पूरे देश ने देखा…*

अगर यह *अति महत्वाकांक्षी आत्ममुग्ध बौना कल पंजाब पुलिस के जरिए बग्गा को पंजाब की जेल तक पहुंचाने में सफल हो जाता!?* तो यकीन मानिए यह कन्वर्टेड लवणासुर, *दिल्ली का झागासुर* दिल्ली में बैठा बैठा पंजाब पुलिस के द्वारा पूरे देश भर में *#संवैधानिक_किडनैपिंग का एक पूरा काला दौर शुरू कर देता…*

इस बौने आदमी के अंदर एक पूरी पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना पार्टी समाहित है…

ईश्वर ना करें और कभी भविष्य में ये बौना बिना गर्दन का शैतान, देश के गद्दार नकली प्रोग्रेसिव, वामपंथियों और खालिस्तानी, पाकिस्तानी, चाइनीज एजेंटों की मदद से *देश की सत्ता में सफल हो गया?* तो यकीन मानिए, पूरा विश्व इतिहास का *सबसे खतरनाक आत्ममुग्ध तानाशाह* देखेगा!

और इतिहास देखेगा… *कैसे भारत जैसा विश्व का सबसे बड़ी आबादी वाला और सबसे प्राचीन लोकतांत्रिक मूल्यों की धरोहर संभाले हुए एक महान राष्ट्र…* अंततः भारतीय गद्दारों की मुफ्तखोरी लालच और महत्वकांक्षा की भेंट चढ़कर *सीरिया, यूक्रेन, श्रीलंका, वेनेजुएला से भी बदतर स्थिति में कुछ ही वर्षों में बदल गया!?*
इसको हल्के में मत लेना *यूं ही नहीं इस घटिया आदमी को भारत की विरोधी तमाम शक्तियां जिसमें चीन भी प्रमुखता से शामिल है… बैक सपोर्ट दे रही है!?* ये जोकर *जेलिंस्की और मुफ्तखोर नकली ह्यूगो शावेज के डीएनए वाला अमरीकी दलाल* है…

खाली स्थानों के गठजोड़ और चीन के सपोर्ट के कारण पंजाब की सत्ता अनायास प्राप्त करके अहंकार में बुद्धि भ्रष्ट हो चुका इतिहास का यह सर्वोच्च दोगला हालांकि *बग्गा प्रकरण के रूप में एक बहुत बड़ी गलती कर चुका है…* जो इसके ताबूत की आखिरी कील भी बन सकता है… अगर सरदारों को ये बात समझ आ जाए की कैसे इस हालेलुइया वाले वैटिकन क्रिप्टो ईसाई ने *बग्गा को पगड़ी तक नहीं पहनने दी* ड्रग माफिया संरक्षक भ्रष्ट डीसीपी को आगे करकर *सिक्खी का अपमान किया* इन हालेलुईया करने वाले गद्दारों द्वारा *पंजाब का, पंजाबियत का और भारतीयता का अपमान अब और नहीं सहेगा हिंदुस्तान!*

जरूरत है, भाजपा अब इस पर यही आक्रमक पॉलिसी बनाए रखें और इसका कोई राजनीतिक निराकरण कर… इसे गर्त में धकेले…

साथ ही भारत का वह हर नागरिक जिसे वास्तव में लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास है… जो संविधान की गरिमा को बरकरार रखना चाहता है… उसका दायित्व है कि अब से हर मोर्चे पर इस *धूर्त ऐनार्किस्ट* आदमी (अराजकतावादी मक्कार वायरस) का प्रतिकार करें…

मैं तो कल्पना मात्र से ही चिंतित हो रहा हूं… आज जब हजारों… दिग्गज जो सदैव इस आत्ममुग्ध बौने का खुलकर विरोध करते रहे हैं, वह लोग पंजाब की जेल में चक्की पीसते कैसे लगते!?🙄

*ऊपर से सोशल मीडिया योद्धाओं की गिरफ्तारी पर उन्हें बचाने सोशल मीडिया से ही शायद कोई धरती पर जमीनी लड़ाई लड़ता दिखाई देता!?*

सावधान रहें सतर्क रहें संभल कर रहे… अब केजरीवाल के पास पंजाब पुलिस है!?

*यह नीच इसीलिये दिल्ली में पुलिस ताकत पाने के लिये रोजाना पैर पीटता था।*

और उसे भाजपा की तरह मूल्यों की आदर्श राजनीति करने का भी कोई रोग कतई नहीं है!

भाजपा से गुजारिश है की… दिल्ली की सुंदर नगरी की *संतोष कोली*, खजूरी के *अंकित शर्मा* , मंगोल पुरी के *रिंकू शर्मा* और दिल्ली की अन्य हत्याओं की जांच करवाएं, *शाहीन बाग*, *किसान आंदोलन* पुलिस पर हमला, समेत दिल्ली दंगों समेत *जहांगीर पुरी का दंगा* काफी है *इसकी मैय्या हरी करने के लिए* अमानत उल्ला, ताहिर हुसैन, अंसार और मंगोल पूरी के आपिये हत्यारों को *उठाएगी* पुलिस तो *कबूल लेंगे* अपने इस *नाजायज बाप* का नाम… जेल ही *ऐसे गद्दारों का सही ठिकाना है…* जो अपने राष्ट्र, जनता और आम आदमी के साथ धोखा करते हैं…

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *