हिंदू महासभा के नेता संदीप कालिया बोले : पीओके पर कब्जा करने का अब सही समय

नई दिल्ली । (विशेष संवाददाता ) अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष संदीप कालिया ने कहा है कि पीओके पर कब्जा करने का यह सही समय है ।उन्होंने भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के इस संबंध में दिए गए बयान पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि भारत के पौरुष और शौर्य को दिखाने वाले इस बयान का सारे देश को न केवल समर्थन करना चाहिए बल्कि देश की सरकार को भी सेना को पीओके में भेजने की तैयारी करनी चाहिए और आदेश देना चाहिए कि पीओके को कब्जा कर अपने भारतीय भूभाग में सम्मिलित कर लिया जाए ।

ध्यान रहे कि हमारे सेना प्रमुख के दिए गए बयान से पाकिस्तान तिलमिला उठा है. बौखलाए पाकिस्तान ने भारत को गीदड़ भभकी दी है. उसने कहा है कि पाकिस्तान सशस्त्र बल किसी तरह की भारतीय कार्रवाई का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

जबकि भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा था कि अगर संसद चाहे तो पीओके पर भी कार्रवाई करेंगे । भारतीय सेना प्रमुख के इस बयान का सभी देशवासियों ने स्वागत किया है।

सेना प्रमुख ने वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि संसद की प्रस्तावना है कि पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा है । यह पूछे जाने पर कि क्या पीओके को अपने कब्जे में लेने की मंशा का सरकार ने संकेत दिया है ? उन्होंने कुछ नहीं कहा, लेकिन जोर दिया कि जब भी सरकार निर्देश देगी, तब यह किया जाएगा।

जनरल नरवाणे ने कहा, “यदि ऐसा कहा गया, तो ऐसा ही होगा.” पिछले साल तत्कालीन सेना प्रमुख और वर्तमान में देश के पहले सीडीएस (चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ) जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि पाकिस्तान पीओके पर गैर-कानूनी रूप से कब्जा किए हुआ है।

जनरल रावत ने कहा था, “वास्तव में, इस क्षेत्र पर पाकिस्तानी प्रशासन का नहीं, बल्कि आतंकवादियों का कब्जा है. पाकिस्तान के प्रशासन वाला कश्मीर वास्तव में आतंकवादियों द्वारा संचालित होता है ।” सितंबर, 2019 में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा था कि पीओके भारत का हिस्सा है।

श्री कालिया ने कहा कि देश अपनी सशस्त्र सेनाओं के साथ है और इस समय हमारी सेना का मनोबल भी बहुत ऊंचा है । जबकि अमेरिका और ईरान के झगड़े के कारण इस समय अमेरिका या कोई अन्य देश भी भारतीय सेनाओं की इस प्रकार की कार्रवाई के बारे में कुछ नहीं बोलेगा , इसलिए उपयुक्त समय का लाभ केंद्र सरकार को उठाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: