भाईचारा सौहार्द पूर्ण वातावरण बनाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी: जिलाधिकारी

बुलन्दशहर (सू0वि0), 04 नवम्बर
जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा कलेक्ट्रेट स्थित जिला पंचायत सभागार में जनपद के हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों तथा संभ्रान्त नागरिकों के साथ बैठक कर आगामी 10-15 दिनों में अयोध्या प्रकरण पर मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्णय दिये जाने के फलस्वरूप कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत जनपद में अमन चैन और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि भाईचारा सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जनपद बुलन्दशहर में अमन चैन, शान्ति व्यवस्था बनाये रखना ही जिला प्रशासन का उद्देश्य है इसके लिए जिला प्रशासन बिल्कुल निष्पक्ष भाव से कार्य करेगा।
जिलाधिकारी ने हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों से कहा कि वह समाज के स्तम्भ हैं, राष्ट्रहित समाज हित में पूर्ण सद्भावना बनाये रखने में अपनी अहम भूमिका निभाये। उन्होंने बताया कि यदि कोई छोटी सी घटना घटित होती है तो उसका बड़ा रूप होने से स्थानीय लोगों को ही घाटा होता है, इसलिए जनपद में सर्व समाज के संभ्रान्त लोगों की जिम्मेदारी है कि वह अपने स्तर से आस-पास के लोगों तथा धार्मिक स्थलों पर अवगत करायें। ऐसे असामाजिक तत्त्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। जिला प्रशासन आप सभी के साथ निष्पक्ष रूप से खड़ा है, किसी भी स्तर पर लापरवाही के संबंध में वह सीधे फोन कर सूचित कर सकते है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों के विरूद्ध आईटी एक्ट के तहत दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। उन्हांेने कहा कि निर्णय आने पर ज्यादा खुशी तथा विरोध में नारेबाजी, धरना प्रदर्शन स्वीकार नहीं होगा। जनपद में पहले से ही धारा-144 लागू कर दी गयी है। उन्हांेने कहा कि जनपद मंे कानून व्यवस्था के दृष्टिगत त्वरित कार्यवाही करने के लिए जनपद स्तर पर एक कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गई है। जोकि 24 घण्टे कार्यरत रहेगा, जिसका टोल फ्री नं0 05732-282828 है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि धर्मगुरू और संभ्रान्त लोग समाज के बहुत सम्मानित लोग होते है जो कि विषम परिस्थितियों को नियंत्रित करने और सही दिशा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है। उन्होंने कहा कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या पर जो फैसला आने पर संयम बरतने की आवश्यकता होगी। जिससे जनपद में सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहे। समस्या आने पर 112 नम्बर पर तत्काल सूचित कर सकते हैं। किसी प्रकार का जाम, प्रदर्शन, जुलूस निकालने की कोशिश न करें जिससे कोई अव्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि धैर्य और संयम बनाये रखने के लिए आपके कन्धों पर दायित्व हैं। समाज के कुछ ही लोग अराजक तत्त्व होते हैं जो बड़ो की बात नहीं मानते है। ऐसे लोगों को कुछ भी आपत्तिजनक कार्य करने की अनुमति नहीं होगी और ऐसे अराजक तत्त्वांे के साथ सख्ती से निपटा जायेगा।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री रवीन्द्र कुमार ने बताया कि यदि कोई भी आपत्तिजनक सामग्री सोशल मीडिया वाट्सअप, फेसबुक पर डालेगा या आगे फारवर्ड करेगा तो उसके विरूद्ध आईपीसी की धारा के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया जायेगा। उसके विरूद्ध एनएसए तक की कार्रवाई भी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पोस्ट डालने से यह भी देख लें कि उसमें कोई ऐसी आपत्तिजनक सामग्री तो नहीं है। ग्रुप एडमिन का कत्र्तव्य होगा कि ऐसी सामग्री डालने वाले को तुरन्त ग्रुप से बाहर करें और इसकी सूचना पुलिस को दें। उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि उत्सुकतापूर्वक या किसी अन्य को जानकारी देने के लिए कुछ आपत्तिजनक फारवर्ड न करें।
बैठक में उपस्थित विभिन्न हिन्दू संगठानों के पदाधिकारी तथा संभ्रान्त नागरिकों द्वारा भरोसा दिलाया गया कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आयेगा वह सबको मान्य होगा और इससे एक दूसरे के प्रति सहज भाव रहेगा। उन्होंने कहा कि जनपद के सभी लोग शान्ति एवं भाईचारे के साथ रहना चाहते हैं और वह प्रशासन का हर प्रकार से सााथ देने को तैयार है। बैठक में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुश्री ईशाप्रिया, एसपी देहात श्री हरेन्द्र कुमार, नगर मजिस्ट्रेट श्री विवेक कुमार मिश्र, सीओ सिटी श्री राघवेन्द्र मिश्रा सहित एसडीएम, सीओ तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों सहित हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी एवं समाज के संभ्रान्त नागरिक उपस्थित रहे।भाईचारा सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखना हम सबकी जिम्मेदारी-जिलाधिकारी
जो कानून तोड़कर समाज को खतरे में डालेगा, वह कड़ा दण्ड भुगतेगा-एसएसपी
कानून व्यवस्था के दृष्टिगत कन्ट्रोल रूम का टोल फ्री नं0 05732-282828 शुरू
सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर होगी दण्डात्मक कार्यवाही
हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी, संभ्रान्त नागरिकों की जिला प्रशासन के साथ सौहार्दपूर्ण बैठक सम्पन्न
बुलन्दशहर (सू0वि0), 04 नवम्बर 2019
जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा कलेक्ट्रेट स्थित जिला पंचायत सभागार में जनपद के हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों तथा संभ्रान्त नागरिकों के साथ बैठक कर आगामी 10-15 दिनों में अयोध्या प्रकरण पर मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्णय दिये जाने के फलस्वरूप कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत जनपद में अमन चैन और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि भाईचारा सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जनपद बुलन्दशहर में अमन चैन, शान्ति व्यवस्था बनाये रखना ही जिला प्रशासन का उद्देश्य है इसके लिए जिला प्रशासन बिल्कुल निष्पक्ष भाव से कार्य करेगा।
जिलाधिकारी ने हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों से कहा कि वह समाज के स्तम्भ हैं, राष्ट्रहित समाज हित में पूर्ण सद्भावना बनाये रखने में अपनी अहम भूमिका निभाये। उन्होंने बताया कि यदि कोई छोटी सी घटना घटित होती है तो उसका बड़ा रूप होने से स्थानीय लोगों को ही घाटा होता है, इसलिए जनपद में सर्व समाज के संभ्रान्त लोगों की जिम्मेदारी है कि वह अपने स्तर से आस-पास के लोगों तथा धार्मिक स्थलों पर अवगत करायें। ऐसे असामाजिक तत्त्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। जिला प्रशासन आप सभी के साथ निष्पक्ष रूप से खड़ा है, किसी भी स्तर पर लापरवाही के संबंध में वह सीधे फोन कर सूचित कर सकते है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों के विरूद्ध आईटी एक्ट के तहत दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। उन्हांेने कहा कि निर्णय आने पर ज्यादा खुशी तथा विरोध में नारेबाजी, धरना प्रदर्शन स्वीकार नहीं होगा। जनपद में पहले से ही धारा-144 लागू कर दी गयी है। उन्हांेने कहा कि जनपद मंे कानून व्यवस्था के दृष्टिगत त्वरित कार्यवाही करने के लिए जनपद स्तर पर एक कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गई है। जोकि 24 घण्टे कार्यरत रहेगा, जिसका टोल फ्री नं0 05732-282828 है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि धर्मगुरू और संभ्रान्त लोग समाज के बहुत सम्मानित लोग होते है जो कि विषम परिस्थितियों को नियंत्रित करने और सही दिशा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है। उन्होंने कहा कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या पर जो फैसला आने पर संयम बरतने की आवश्यकता होगी। जिससे जनपद में सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहे। समस्या आने पर 112 नम्बर पर तत्काल सूचित कर सकते हैं। किसी प्रकार का जाम, प्रदर्शन, जुलूस निकालने की कोशिश न करें जिससे कोई अव्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि धैर्य और संयम बनाये रखने के लिए आपके कन्धों पर दायित्व हैं। समाज के कुछ ही लोग अराजक तत्त्व होते हैं जो बड़ो की बात नहीं मानते है। ऐसे लोगों को कुछ भी आपत्तिजनक कार्य करने की अनुमति नहीं होगी और ऐसे अराजक तत्त्वांे के साथ सख्ती से निपटा जायेगा।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री रवीन्द्र कुमार ने बताया कि यदि कोई भी आपत्तिजनक सामग्री सोशल मीडिया वाट्सअप, फेसबुक पर डालेगा या आगे फारवर्ड करेगा तो उसके विरूद्ध आईपीसी की धारा के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया जायेगा। उसके विरूद्ध एनएसए तक की कार्रवाई भी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पोस्ट डालने से यह भी देख लें कि उसमें कोई ऐसी आपत्तिजनक सामग्री तो नहीं है। ग्रुप एडमिन का कत्र्तव्य होगा कि ऐसी सामग्री डालने वाले को तुरन्त ग्रुप से बाहर करें और इसकी सूचना पुलिस को दें। उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि उत्सुकतापूर्वक या किसी अन्य को जानकारी देने के लिए कुछ आपत्तिजनक फारवर्ड न करें।
बैठक में उपस्थित विभिन्न हिन्दू संगठानों के पदाधिकारी तथा संभ्रान्त नागरिकों द्वारा भरोसा दिलाया गया कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आयेगा वह सबको मान्य होगा और इससे एक दूसरे के प्रति सहज भाव रहेगा। उन्होंने कहा कि जनपद के सभी लोग शान्ति एवं भाईचारे के साथ रहना चाहते हैं और वह प्रशासन का हर प्रकार से सााथ देने को तैयार है। बैठक में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुश्री ईशाप्रिया, एसपी देहात श्री हरेन्द्र कुमार, नगर मजिस्ट्रेट श्री विवेक कुमार मिश्र, सीओ सिटी श्री राघवेन्द्र मिश्रा सहित एसडीएम, सीओ तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों सहित हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी एवं समाज के संभ्रान्त नागरिक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: