नोएडा ग्रेटर नोएडा के गोल चक्करों , पार्कों व सेक्टरों के नाम क्रांतिकारियों के नाम पर रखने के संबंध में सौंपा गया ज्ञापन

नई दिल्ली। ( अजय कुमार आर्य ) यहां पर भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय संगठन मंत्री और वरिष्ठ राष्ट्रवादी चिंतक संजय विनायक जोशी को आर्य प्रतिनिधि सभा जनपद गौतम बुद्ध नगर और “उगता भारत ट्रस्ट’की ओर से दो अलग-अलग ज्ञापन सौंपकर नोएडा ग्रेटर नोएडा के सभी सेक्टरों, गोल चक्कर और पार्क आदि सार्वजनिक स्थलों के नाम क्रांतिकारियों के नाम पर रखने की मांग की गई।
ज्ञापन में कहा गया है कि आज जब केंद्र और प्रदेश में भाजपा की राष्ट्रवादी सरकार काम कर रही है और अपने इतिहास पुरुषों को सम्मान देते हुए नई पीढ़ी के भीतर इतिहास बोध और राष्ट्रबोध भरने का सराहनीय काम कर रही है तब नोएडा ग्रेटर नोएडा के सेक्टरों व गोल चक्करों के नाम भी इतिहास पुरुषों के नाम पर रखा जाना समय की आवश्यकता है।
ज्ञात रहे कि यह ज्ञापन आर्य प्रतिनिधि सभा की ओर से देव मुनि जी और आर्य सागर खारी व उगता भारत ट्रस्ट की ओर से चीफ पेट्रन देवेंद्र सिंह आर्य एडवोकेट व अध्यक्ष डॉ राकेश कुमार आर्य द्वारा सौंपे गए।
इस मुलाकात है ज्ञापन सौंपने संबंधी समाचार के बारे में जानकारी देते हुए आर्य प्रतिनिधि सभा की ओर से आर्य सागर खारी ने बताया कि ज्ञापन में यह स्पष्ट किया गया है कि ग्रेटर नोएडा में स्थित नलगढ़ा उपनाम नारायणगढ़ गांव में सरदार भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, दुर्गा भाभी और उनके कई क्रांतिकारियों ने रहकर काम किया था। यहीं पर स्थित गांव रामपुर में क्रांतिकारी रामप्रसाद बिस्मिल ने रहकर भी कार्य किया था। इसके अतिरिक्त राव कौशल सिंह का महत्वपूर्ण इतिहास भी यहां के कासना नामक गांव के साथ जुड़ा है। वहीं पर रानी निहालदे का बाग भी है, जो अब उजड़ चुका है। इन
सबके साथ जुड़े स्थलों को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाए और संबंधित क्षेत्र के पार्क या गोल चक्कर का नाम इन्हीं के नाम पर रखा जाए।

स्थानीय राजा राव कौशल सिंह के नाम पर जनपद गौतम बुद्ध नगर का नाम कौशलगढ़ किया जाए तो इससे क्षेत्रवासी बहुत ही आनंद की अनुभूति करेंगे। सभी पार्कों और गोल चक्करों के नाम भी धन सिंह कोतवाल गुर्जर, रामप्यारी गूजरी आदि इतिहासनायकों और क्रांतिकारियों अर्थात भारत के राष्ट्रवादी क्रांतिकारी आंदोलन के महापुरुषों या क्रांतिकारियों के नाम पर रखे जाएं।
यहां के प्रसिद्ध परी चौक का नाम महर्षि दयानंद चौक कराया जाए। इसी प्रकार स्वामी श्रद्धानंद जी महाराज के नाम पर सूरजपुर चौराहे का नाम रखा जाए। श्री आर्य ने बताया कि प्रस्ताव के संबंध में श्री जोशी ने लखनऊ बात करके संतोषजनक जवाब दिया है और अग्रिम कार्यवाही में साथ जुड़े रहने का आश्वासन भी दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *