पश्चिमी बंगाल में हिंदुओं के साथ हो रहे अत्याचार दुर्भाग्यपूर्ण:पंडित बाबा नंद किशोर मिश्रा

पश्चिमी बंगाल में हिंदुओं के साथ हो रहे अत्याचार दुर्भाग्यपूर्ण : पंडित बाबा नंद किशोर मिश्रानई दिल्ली। ( एल एस तिवारी ) अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित बाबा नंदकिशोर मिश्र ने कहा है कि पश्चिम बंगाल की हिंदू विरोधी ममता सरकार जिस प्रकार हिंदुओं के साथ अत्याचार करवा रही है वह बहुत ही निंदनीय है । हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यह स्वतंत्र भारत के लिए बहुत ही अपमानजनक स्थिति है कि कभी भारत का बौद्धिक नेतृत्व करने वाले पश्चिम बंगाल जैसे प्रांत की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हिंदुओं पर अत्याचार करवा रही हैं और 1946 में सोहरावर्दी के द्वारा किए गए अत्याचारों कि कोई याद दिला रही हैं ।उन्होंने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा हाल ही में आर एस एस के लोगों पर बढ़े अत्याचारों को लेकर चिंतित है । जिसके लिए हम संवैधानिक उपायों के अंतर्गत किसी भी प्रकार की कार्यवाही करने के लिए स्वतंत्र हैं ।बाबा नंद किशोर मिश्र ने कहा कि हिंदू विरोध का अभिप्राय यहां पर राष्ट्रद्रोह है और सेक्युलरिज्म के लबादे को ओढ़कर जिन लोगों ने या राजनीतिक दलों ने यहां पर अपनी राजनीतिक दुकानें चला रखी हैं , उन दुकानों को अब बंद करने का समय आ गया है । पंडित बाबा नंद किशोर मिश्र ने कहा कि हिंदू स्थान होने के कारण भारत स्वाभाविक रूप से हिंदू राष्ट्र है इसे औपचारिक रूप से हिंदू राष्ट्र घोषित करने की आवश्यकता नहीं है । उन्होंने कहा कि इस संबंध में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए गए बयान का हिंदू महासभा स्वागत करती है।हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि ममता बनर्जी तुष्टीकरण की राजनीति का एक ज्वलंत उदाहरण है । जो हिंदुओं को अल्पसंख्यक मुसलमानों के सामने निरीह प्राणी के रूप में डालने का कार्य कर रही है उन्होंने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा ममता बनर्जी के इस प्रकार के कृत्य को न केवल असंवैधानिक मानती है अपितु अक्षम्य भी नहीं मानती है। जिसके लिए हम केंद्र की मोदी सरकार से मांग करते हैं कि प्रदेश की ममता सरकार की अक्षमता और तुष्टिकरण की राजनीति के चलते उसे तुरंत बर्खास्त किया जाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: