*🚩लव जिहाद कारण और समस्या समाधान🚩*

मनुष्यो में धार्मिक मान्यताओं के आधार पर वर्तमान में तीन प्रमुख समूह बने हुए है हिंदू मुस्लिम ईसाई | मुस्लिम एवं ईसाई दोनो ही अपने संप्रदाय की संख्या वृद्धि के लिये नैतिक/अनैतिक प्रयास करते है और मुस्लिम तो अपनी संख्या वृद्धि के साथ दूसरे समुदाय के लोगो को मार काट करके उनकी संख्या कम करने को भी अपना धार्मिक कार्य समझते है।
वर्तमान की ज्वलंत समस्या है “लव जिहाद”
अर्थात हिंदू लड़कियों को प्रेम जाल में फांस कर उनका खूब योन शोषण करना और अंत में उन्हे मार देना।
चिंतन का विषय है कि हमारी हिंदू लड़कियां मुसलमानों के प्रेम जाल में क्यों फंस जाती है जिसके प्रमुख कारण निम्न है –
1. हिंदू लड़को का डरपोक होना और सेक्स संतुष्टि की क्षमता कम होना
2. हिंदू बालक बाल्यकाल में ही अप्राकृतिक सेक्स संतुष्टि के कार्य में लिप्त हो जाते है जिससे वो शीघ्र पतन का शिकार हो जाते है परिणाम स्वरूप उनमे सेक्स संतुष्टि की क्षमता कम हो जाती है |
3. मुस्लिम लड़के बचपन से ही छेड़खानी करने में माहिर होते हैऔर इनका खुला पारिवारिक परिवेश होने से ये सेक्स करने में संकोच नहीं करते |
👉मुस्लिम लड़कों में सेक्स क्षमता अधिक होने के मुख्य दो कारण है
– उत्तेजक खानपान ( मांसाहार इत्यादि) एवं खुला परिवेश जिसमें एक ही कमरे में अबु अम्मी , चाचा-चाची , दादा – दादी और उनके दर्जनों बच्चे रहते है ये बच्चों की उपस्थिति में ही सब कुछ कर लेते है |
मुसलमानी क्रिया (खतना) बचपन में ही लिंग के ऊपर की चमड़ी काटकर अलग कर देना। इससे लिंग की संवेदनशीलता कम होने के साथ कठोर हो जाता है |
मुसलमान लघुशंका के बाद लिंग को कवेलु(कठोर वस्तु) पर रगड़ता है जिससे भी लिंग असंवेदनशील व कठोर हो जाता है परिणाम स्वरूप सेक्स करते समय जल्दी वीर्य स्खलित /शीघ्र पतन नही होता ।
इसी कारण मुस्लिम लड़को में सेक्स करने की क्षमता अधिक होती है
हिन्दू लड़के व लड़कियाँ घर परिवार के बीच बंदिशों में रहते है व टीवी , फोन इत्यादि से आकर्षित होकर हस्तमैथुन करने लग जाते है जिससे हिन्दू लड़के शीघ्रपतन के शिकार व हिन्दू लड़कियाँ कठोर लिंग की चाह करती है |
1. हिन्दू लड़के विवाह के पश्चात अपनी पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाते परिणामस्वरूप मनमुटाव , विवाह विच्छेद इत्यादि हो जाते है |
2. लड़कियाँ अपनी संतुष्टि के लिए हिन्दू लड़कों को कम पसन्द करती है व मुस्लिम लड़कों के पास जाने के लिए लालायित होती है |
इस अन्धेपन के कारण वे अन्य सभी आवश्यकताऐं जैसे घर , परिवार , समाज , रिश्तें , कपडे़ , भोजन इत्यादि सब कुछ छोड़ने को तैयार हो जाती है उन्हें केवल अधिक से अधिक सेक्स चाहिए इसके अतिरिक्त कुछ नहीं |
अतः हिंदू बालक/बालिकाएं
ब्रह्मचर्य आश्रम के नियमो का कठोरता से पालन करें व अपने जीवन को नष्ट होने से बचाऐं |
🚩जय माँ भारती🚩

सोशल मीडिया से साभार

Comment: