मुहम्मद के बारे में गुप्त जानकारियां


मुहम्मद साहब के बारे में अनेकों लेखकों ने कई भाषाओँ में किताबें लिखी हैं , लेकिन मुस्लिम विद्वानों ने जो भी मुहम्मद के बारे में लिखा है उसमे मुहम्मद का महिमा मंडन ही किया है , कुछ समय पहले श्री जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ़ वसीम रिजवी जी ने भी मुहम्मद के बारे में एक किताब प्रकाशित की थी , जो अंगरेजी किताबों से प्रमाण लेकर बनाई है ऐसा लगता है , हम पिछले 18 सालों से इस्लाम के बारे में अपने शोध पूर्ण लेखों के माध्यम से लोगों को इस्लाम के बारे में प्रामाणिक जानकारी देते आये है , हमारे लेख हमारे ब्लॉग और फेसबुक में पोस्ट होते रहते हैं , और आज तक कोई हमारे किसी लेख का खंडन नहीं कर पाया , लोगों सुझाव पर हमने मुहम्मद सम्बन्धी 56 महत्वपूर्ण लेख जमा करके एक किताब प्रकाशित की है , इस किताब का नाम ” मुजम्मंम गाथा ” है , जो मुहम्मद का असली नाम है , जिसे मुस्लिम छुपा देते है किताब में 320 पेज हैं और किताब की कीमत 560 रुपया है ,हम जानते हैं की आजकल लोग बड़ी बड़ी किताबें नहीं पढ़ते इसलिए हमने छोटे छोटे लेखों को किताब का रूप दे दिया ताकि लोग जब चाहे किताब के किसी भी लेख को जब चाहे पढ़ सकें और उनको असली बात यद् रहे और दिए गए सबूतों उपयोग आपसी चर्चा में या डिबेट में प्रयोग करके हिन्दू विरोधी इस्लाम के दुष्प्रचार का मुंहतोड़ जवाब दे सकें .यह अत्यंत प्रामाणिक और महत्वपूर्ण पुस्तक आप सीधे प्रकाशक से , अमेजॉन से या गूगल प्ले से भी मंगवा सकते हैं ,इनकी लिंक दी जा रही है –
1-Insta Publish Store: http://instapublish.in/book_detail.php?id=IP220067
2-Amazon: https://www.amazon.in/dp/9390719658?ref=myi_title_dp
3-google play: https://play.google.com/store/books/details?id=d-JiEAAAQBAJ
4-Google Books: https://books.google.co.in/books/about?id=d-JiEAAAQBAJ&redir_esc=y
5-Publisher-
http://instapublish.in/book_detail.php?id=IP220067&fbclid=IwAR2hVtdw5n2_25mYlW6VFBeYJlmG2jyufsjlpumcx-IIbUCVXydTYrsa2T8

प्रबुद्ध पाठक भली भांति जानते हैं कि इस्लाम जैसे विषय पर किताब बनवाना आसान नहीं है पहले तो प्रकाशक भी जल्दी से तैयार नहीं हुआ क्योंकि वह बोलै की हमारे सामने वासिम रिजवी की किताब का उदहारण मौजूद है , हम झंझट में नहीं पड़ना चाहते , हमने कहा की यह लेख पहले ही प्रकाशित हो चके है हमने तो इनको जमा करके किताब बनाने को कहा है , अगर कोई आपत्तिजनक बात होती तो हमारी आई डी कबकी बंद हो गयी होती या अब तक हमारे ऊपर 50 केस हो गए होते , और जब प्रकाशक राजी हुआ तो पैसों की समस्या आयी , इसके लिए कुछ लोगों ने व्यक्तिगत रूप से आर्थिक सहयोग किया हम उन सभी का आभार मानते हैं .
इसलिए हम उन सभी पाठकों से अनुरोध करते हैं जो इस निवेदन को पढ़ रहे हैं ,कृपया इस किताब को अवश्य मंगवाएं और अपने मित्रों को भी प्रेरित करें सौभाग्य आज समय हमारे अनुकूल है , जीतनी शक्ति से जिहादी शक्तियों का मुकाबला करेंगे देश उतना ही सुरक्षित बनेगा , और हिन्दू युवा मानसिक रूप से सशक्त होंगे , धन्यवाद
ब्रिज नंदन शर्मा मो 9171335143
11.March 2022

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *