बंदा बैरागी का हुक्मनामा

सन 1710 में बंदा बैरागी द्वारा सतयुग शासन की स्थापना करने पर तम्बाकू, शराब,अफीम, मांस, मछली पर प्रतिबन्ध लगाने का हुकुमनामा जारी किया गया।
यह स्पष्ट रूप से वेदों के आदेश का पालन था। वेद कहते है समाज को पथभ्रष्ट होने से बचाना राजा का कर्त्तव्य है।

बंदा बहादुर का हुकुमनामा हिंदी और पंजाबी में पढ़िए।

ॐ फ़तेह दर्शन
श्री सच साहिब जी का हुकुम है सरबत खालसा
जौनपुर का गुरु राखो गुरु जपना जन्म स्वर्गा
तुसी अकाल पुरख जी का खालसा हो
5 हथियार बाण के हुकुम देखदिया दर्शनी आवो
खालसा ही रेहत रहना
भांग,तम्बाकू, अफ़ीम, पोस्ट, दारू कोई नहीं खाना। मांस, मछली और प्याज नहीं खाना।
आसा सतयुग वार्ताया है।
आप विच प्यार करना मेरा हुकुम है।
जो खालसा दी गत रहेगा
गुरु उसदी भली करेगा
दिनांक-पोष 13, सम्वत 1

ਬਾਬਾ ਬੰਦਾ ਸਿੰਘ ਬਹਾਦਰ ਜੀ ਦਾ ਹੁਕਮ ਨਾਮਾ :-
ਇੱਕ ਓਂਕਾਰ ਫਤਿਹ ਦਰਸ਼ਨ
ਸਿਰੀ ਸਚੁ ਸਾਹਿਬ ਜੀ ਕਾ ਹੁਕਮ ਹੈ ,
ਸਰਬਤ ਖਾਲਸਾ ਜਉਨ ਪੁਰ ਕਾ ਗੁਰੂ ਰਖੋਗੁਰੂ ਗੁਰੂ ਜਪਣਾ ਜਮਨ ਸਵਾਰੇਗਾ,
ਤੁਸੀ ਸਿਰੀ ਅਕਾਲ ਪੁਰਖ ਜੀ ਕਾ ਖਾਲਸਾ ਹੋ,
ਪੰਜ ਹਥਿਆਰ ਬਨੁ ਕੈ ਹੁਕਮੁ ਦੇਖਦਿਆਂ ਦਰਸ਼ਨੀ ਆਵੌ,
ਖਾਲਸੇ ਦੀ ਹਰਤ ਰਹਿਣਾ, ਭੰਗ, ਤਮਾਕੂ, ਅਫੀਮ, ਦਾਰੂ, ਪੋਸਤ ਨਹੀਂ ਖਾਣਾ, ਮਾਸੁ , ਮੱਛੀ , ਪਿਆਜ ਨਹੀਂ ਖਾਣਾ।
ਚੋਰੀ ਜ਼ਾਰੀ ਨਹੀਂ ਕਰਨੀ ਅਸਾਂ ਸਤਯੁਗ ਵਰਤਾਇਆ ਹੈ,
ਆਪ ਵਿੱਚ ਪਿਆਰ ਕਰਨਾ ਮੈਰਾ ਹੁਕਮ ਹੈ।
ਜੋ ਖਾਲਸੇ ਦੀ ਗਤ ਰਹੇਗਾ ਉਸ਼ਦੀ ਗੁਰੂ ਭਲੀ ਕਰੇਗਾ।।
ਮਿਤੀ ਪੋਹ 13 ਸੰਮਤ ਪਹਿਲਾਂ 1..

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *