ऐसे भी मनाया जा सकता है 15 अगस्त का राष्ट्रीय पर्व

15 अगस्त 1947 को हमारा देश स्वतंत्र हुआ था| तब से आज तक इसी दिन इसी तारीख यानी 15 अगस्त को हमारे देश में राष्ट्रीय झंडा फहराया जाता है और यह भारत के इतिहास का सर्वाधिक महत्वपूर्ण दिन होता है | ऐसे में 15 अगस्त को जश्ऩ के रूप में तो मनाएंगे ही लेकिन कुछ नए ढंग से इस बार 15 अगस्त को सार्वजनिक समारोह के रूप में भीड़ भाड़ में नहीं मनाएंगे ऐसे में स्वतंत्रता दिवस को अपने घर परिवार के साथ संकल्पों के साथ मनाएं |ऐसे में अपने आप शरीर का विशेष ध्यान रखेंगे इस समय कोरोना संक्रमण से मुक्त रहेगा जो स्वस्थ होगा | जिसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी| ऐसे में इस बार स्वतंत्रता दिवस घर के अंदर रहते हुए मनाए|घर परिवार को स्वस्थ रखने के लिए प्राणायाम करें व्यायाम करें नियमित टहले और अच्छी सकारात्मक सोच के साथ काम करें |

जीवन को खुशहाल बनाने के लिए सकारात्मकता का होना बहुत ही आवश्यक है |मनुष्य की अधिकांश समस्याएं जैसे तनाव और अवसाद नकारात्मक विचारों के हावी होने से उत्पन्न होती है |तनाव और अवसाद पर विजय प्राप्त करने के लिए हमें अपनी सोच को बदलना होगा |और हमें प्राणायाम करते हुए अपने जीवन को अपने आसपास गंदगी घर में गंदगी को दूर रखना होगा | और ऑक्सीजन के लिए औषधीय पेड़ों को लगाना होगा जब घर में रहकर समय नहीं कटता है इस समय में पुस्तकों को आपको अपना मित्र बनाना होगा| अच्छी -अच्छी पुस्तकें पढ़ कर के और अच्छे -अच्छे विचार अपने मन में पैदा करके बुक्स लिख कर के अपने कार्यों को ठीक से आगे बढ़ाएं |ताकि बच्चों में भी पढ़ने की प्रव्रत्ति पैदा होगी |जो आपके तथा आपके परिवार के जीवन में सफलता के लिए बहुत जरूरी है |राष्ट्रीय गान में भी देश के अलग -अलग राज्यों पर्वतो और नदियो का जिक्र किया गया है और उनकी विशषताओ के बारे में बताया गया है जिसे हम राष्ट्रीय एकता के रूप में स्वीकार करें |साभार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest Posts