मनुष्य को मास्क नहीं बचा पा रहा

_____________

बैक्टीरिया वायरस से सुरक्षा में ,उन्हें स्वसन तंत्र में घुसने से रोकने में मास्क कारगर नहीं है ताजा शोध यही बता रहे हैं|कोरोना वायरस के मामले में यही हो रहा है.. हालांकि अमेजन कंपनी ने 1 अरब से अधिक मास्क बेचे कौराना से बचाव के लिए|

मास्क केवल धूल के कणों से बचा सकता है बैक्टीरिया वायरस जैसे सूक्ष्म जीव मास्क से फिल्टर नहीं होते वायरस इतने सूक्ष्म है… एयरबोर्न बैक्टीरिया वायरस को बाजार में उपलब्ध मास्क रोक ही नहीं सकता… आटा छानने की छलनी से आप अणु परमाणु को कैसे छान सकते हैं… इसे ऐसे समझे एक सुई की नोक पर करोड़ों वायरस समा सकते हैं एक नैनोमीटर से लेकर 300 नैनोमीटर तक होते हैं आकार में… एक नैनोमीटर मीटर का 1000000 वा हिस्सा होता है| मनुष्य सांस लेता है तो पूरे दिन में आधा लीटर पानी जलवाष्प के माध्यम से निकलता है जब हम मास्क लगाते हैं तो मास्क पर नमी हो जाती है मास्क व नाक के बीच गरम वातावरण निर्मित होता है जो बैक्टीरिया वायरस के लिए आदर्श वातावरण होता है… बैक्टीरिया वायरस तेजी से मास्क से चिपक जाते हैं इंसान को संक्रमित होने का 10 गुना खतरा हो जाता है..|

कुछ विशेष मास्क कारगर है केवल कुछ हद तक लेकिन वह बहुत महंगे हैं केवल वैज्ञानिक प्रयोगशालाओं में इस्तेमाल में लाए जाते हैं आम व्यक्ति को उनको इस्तेमाल करना पहनना भी नहीं आता भारत की तो बात छोड़िए जापान चाइना अमेरिका में भी लोग उन्हें इस्तेमाल करने से कतराते हैं|

योगी ऋषि-मुनियों ने बीमारियों से बचने का सबसे उत्तम तरीका निकाला है यदि योग प्राणायाम व संयम से शरीर की शक्ति रोग प्रतिरोधक क्षमता को इतना बढ़ा दिया जाए कि वायरस शरीर में घुस जाए तुरंत ही शरीर का सशक्त प्रतिरक्षा तंत्र उसे नष्ट कर दे ऐसा ही होता भी है | हमारे कांति दर्शी पूर्वज जानते थे कि इन सूक्ष्म रोगाणुओं को शरीर के नौ द्वारों आंख नाक प्रवेश करने से नहीं रोका जा सकता… चाहे कितनी भी युक्तियां इंसान लगा ले| वैदिक संस्कृति की यह मान्यता है पर्यावरण को प्रदूषित कर उससे मुख मोड़ मास्क लगाकर इंसान दुष्परिणामों से नहीं बच सकता बल्कि इंसान को प्रायश्चित स्वरूप वायु जल की शुद्धि के निमित्त हवन अग्निहोत्र करना चाहिए| दूषित प्रदूषित वायु का ही इलाज कर दीजिए समस्त जीव जगत का इलाज हो जाएगा | मांसाहार रोगों का घर है, उन्होंने शाकाहार को अपनाया|

निष्कर्ष यही है शरीर को अंदर से इतना मजबूत बनाया जाए कि शरीर तुरंत इन रोगाणुओं के खात्मे के लिए एंटीबॉडी बनाएं| शक्ति आएगी यज्ञ योग शाकाहार ब्रह्मचर्य से|

आर्य सागर खारी ✍✍✍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: