सरकार के दबाव में दोहरे मानदंड अपना रहा है प्रशासन

अयोध्या,कांग्रेस जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव व महानगर अध्यक्ष अकबर अली मेजर ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता कर कहा की नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जागरूकता के लिए कांग्रेस पार्टी को अनुमति न देकर एवं कांग्रेसजनों को घर में नजरबंद कर प्रशासन ने अपनी हठधर्मिता एवं दोहरा मापदंड दिखाया है एक तरफ कट्टर सोच व समाज को बांटने वाले लोगों को अनुमति दे दी जाती है और दूसरी ओर शांति पूर्वक लोगों को सच्चाई से अवगत कराने से कांग्रेस पार्टी उनके कार्यकर्ताओं को रोका जाता है यह स्पष्ट रूप से दर्शाता है की प्रशासन इनकी हाथों की कठपुतली है कांग्रेस पार्टी जो नागरिकता संशोधन कानून के बारे में लोगों को सच्चाई से अवगत कराना चाहती है कि यह कानून गरीबों को परेशान करने वाला वह समाज को बांटने वाला है ऐसे में सभी को आगे आकर ऐसे कानून के विरुद्ध अपना कड़ा विरोध दर्ज करा कर भाजपा सरकार को इसे वापस लेने पर मजबूर करना चाहिए जिससे आपसी प्रेम,भाईचारा एवं आपसी सद्भाव बना रहे कांग्रेस नेताओं ने कहा भारतीय जनता पार्टी की सरकार हर महीने रसोई गैस,डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ा रही है रेलव भाड़ा,बस भाड़ा बढ़ा दिया मोटर अधिनियम के जुर्मान में रातों-रात भारी बढ़ोतरी की शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण की फीस में भारी बढ़ोतरी की कानून व्यवस्था ध्वस्त है बेरोजगारी अपने चरम पर है युवा परेशान है जीडीपी गिरती चली जा रही है किसान बदहाल है महिलाएं असुरक्षित हैं महंगाई चरम पर है इन सभी को लेकर जनता में भारी आक्रोश है इसी हकीकत को छुपाने के लिए एवं लोगों का ध्यान इन मुद्दों से हटाने के लिए भाजपा सरकार नागरिकता संशोधन कानून लेकर आई इस कानून से आम जनता का कोई भला नहीं होने वाला है कांग्रेसी नेताओं ने कहा कट्टर सोच व समाज को बांटने वाले लोगों को इन मुद्दों पर लोगों को जागरूक करने की याद नहीं आती इन्हें केवल लोगों को गुमराह व नित नए जुमले फेंक कर अपनी सत्ता बनी रहे इसी में लगे रहते हैं परंतु कांग्रेस जन ऐसा होने नहीं देंगे और देश हित में जो भी बन पड़ेगा वो कुर्बानी देंगे। इसी बीच नजर बंद होने की खबर पाकर पूर्व प्रदेश सचिव सुनील पाठक के आवास पर एआईसीसी सदस्य राजेंद्र प्रताप सिंह, पीसीसी सदस्य मोहम्मद शरीफ,जिला उपाध्यक्ष शीतला पाठक,बृजेश सिंह चौहान,महानगर उपाध्यक्ष सुनील कृष्ण गौतम,फ्लावर नकवी आदि रहे उपरोक्त नजरबंदी का उच्च अधिकारियों से मिलकर विरोध करने की योजना बना रहे थे तभी पुलिस फोर्स ने पहुंचकर सभी को नजरबंद कर दिया एवं 4:00 बजे शाम को रिहा किया एवं जिला अध्यक्ष व महानगर अध्यक्ष के साथ नजर बंद होने वालों में छवि राज यादव,दिनेश यादव,अब्दुल हकीम,राकेश यादव,प्रभात यादव अमरजीत रावत सैयद फजले अली आदि नज़रबंद रहे।उपरोक्त घटनाएं यह दर्शाती हैं कि सरकार डरी हुई है और तानाशाही पर उतर आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: