योगी के राज में भी मुसलमानों ने हिंदू की बारात रोकी , 150 हिंदू परिवार छोड़ेंगे गांव, हिंदुओं की बरात कभी नहीं निकलेगी: एआईएमआईएम नेता सैयद नाजिम अली

आचार्य श्री विष्णु गुप्त


योगी आदित्यनाथ के राज्य में भी हिंदुओं की बरात नहीं निकलेगी, हिंदुओं की बरात निकलने पर मुसलमान हिंसा फैलाएंगे ,हिंदुओं का कत्लेआम करेंगे, उनकी बहू बेटियों को उठा के ले जाएंगे, यह सिर्फ धमकी नहीं है बल्कि ऐसा कर के मुसलमानों ने दिखाया है।


…….. घटना उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के नूरपुर गांव की है जहां पर हिंदुओं की जान पर आफत आई है. हिंदू दलित की बरात सरेआम रोक दी गई ,बरात नहीं निकलने दी गई, कहा यह गया कि हिंदुओं की बरात से इस्लाम की तौहीन होती है, इस्लाम का अपमान होता है, बरात निकालना गैर इस्लामी है, इतना ही नहीं बल्कि बरात निकालने पर अडे हिंदुओं को जान से मारने की धमकी दी गई। हथियारों से लैस मुस्लिमों की भीड़ बरात के सामने खड़ी हो गई, हार कर हिंदू दलित की बरात नहीं निकली।
…….. .. नूरपुर गांव एक मुस्लिम बहुल गांव है जहां की आबादी 1200 घर से ऊपर है करीब 900 घर मुस्लिमों का है, जबकि डेढ़ सौ घर हिंदुओं का है। अधिकतर हिंदू दलित वर्ग से आते हैं, जिनकी स्थिति काफी दयनीय है। मुसलमानों के सामने इनकी हमेशा तौहीन होती है, इन्हें मुसलमानों के सामने दोयम दर्जे के नागरिक के रूप में रहना पड़ता है, अपमान भी बार बार झेलना पड़ता है।
………. मुसलमानों का साफ कहना है ,गांव में अगर रहना है तो इस्लाम स्वीकार करना ही होगा , इस्लाम स्वीकार नहीं करोगे तो फिर जान की आफत आएगी और हिंदू कर्मकांड करने से वंचित रहोगे। कई बार इसकी शिकायतें प्रशासन से हुई है लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ, प्रशासन भी मुसलमानों की जिहादी मानसिकता के खिलाफ कार्रवाई करने से डरता है।
……. जब यह प्रश्न मीडिया में उठा तब मुस्लिम संगठनों ने भी जिहादी मानसिकता को अपना लिया।AIMIM के नेता सैयद नजीब अली का कहना है कि नूरपुर गांव मुस्लिमों का है ,यहां हिंदुओं का रहना गैर इस्लामी है , यहां पर नमाज तो अदा की जाएगी पर बरात नहीं निकलेगी ,किसी भी सरकार या संगठन की औकात नहीं है के हिंदुओं की बरात निकालकर नूरपुर गांव में दिखाएं, नजीब अली ने योगी सरकार को भी सीधे चेतावनी दी है कि इस मामले में पढ़ेंगे तो उन्हें भी हानि होगी ,बमुसलमान किसी के सामने झुकेंगे नहीं, हिंदुओं का कर्मकांड बंद करा कर के ही रहेंगे।
…… ऐसी घटनाएं हिंदुओं और हिंदुओं की ऐसी प्रताड़ना तो हम गैर भाजपा राज्यों में देख रहे थे, ममता बनर्जी ,जगन मोहन रेड्डी और राजस्थान में कांग्रेस की सरकार में हिंदुओं के कर्मकांड को रोका जा रहा है, प्रशासन जिहादियों के पक्ष में काम कर रहा है, सरकार भी जिहादियों के पक्ष में है।
. ……… लेकिन अब हिंदुओं के कर्मकांड पर जिहादियों का प्रतिबंध भाजपा राज्यों में भी शुरू हो गया है। योगी आदित्यनाथ का राज आइडियल हिंदुत्व राज्य के रूप में देखा जा रहा था पर नूरपुर की घटना योगी आदित्यनाथ की सरकार के लिए कलंक है, हिंदुओं की भावना और समर्पण का मान योगी सरकार ने अभी तक नूरपुर में नहीं दिखाया, इसलिए नूरपुर की हिंदू जनता के लिए योगी आदित्यनाथ भी मायावती और अखिलेश यादव जैसा ही साबित हुए हैं।
….. नूरपुर के हिंदुओं के सामने अब सिर्फ दो ही विकल्प बचे हैं, एक विकल्प यह है कि हिंदू 150 परिवारों हिंदू मुसलमान बन जाये या फिर गांव छोड़कर पलायन कर जाएं। अधिकतर हिंदू जो संपन्न हैं, कहीं और जाकर बसने के लिए सक्षम है वे गांव छोड़ने के लिए तैयार हैं। गरीब हिंदू की अपनी संपत्ति बेचकर भागने के लिए तैयार हैं ,ऐसा करना उनकी मजबूरी है। अगर पलायन नहीं करेंगे तो फिर मुसलमान उन्हें जिंदा नहीं रहने देंगे। हिन्दुओं ने अपने घरों में मकान बिकाऊ है का बोर्ड लगा दिया है।
. .. नूरपुर की घटना हिंदुओं के लिए अपने ही देश में खतरे की घंटी के समान है, नूरपुर जैसी घटना अब तो देश के कोने कोने में घटने लगी है, हिंदुओं के पक्ष में ना तो सरकार होती है ना पुलिस होती है ना प्रशासन होता है । मीडिया भी ऐसी खबरों को दबा देता है। आज हिंदू नूरपुर से भागेगे ,कल पूरे देश से खदेड़े जाएंगे ।नूरपुर की घटना देश के कोने कोने में घटेगी ।हिंदू जातियों में विभाजित है, उनके बीच एकता नहीं है। हिंदू सावधान।


आचार्य श्री विष्णु गुप्त
मोबाइल .. 9315206123
Date … 03/06/2021
New Delhi


डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

मुख्य संपादक, उगता भारत

More Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *