आइए जाने किन लोगों के लिए बनी है अटल पेंशन योजना

कमलेश पांडेय

अटल पेंशन योजना में कोई भी भारतीय अपना निवेश शुरू कर सकता है। बस, इस योजना में भाग लेने के लिए आपका बैंक खाता होना जरूरी है। साथ ही, इस योजना के वास्ते खाता खोलने के लिए इसे आधार कार्ड से जुड़ा होना भी अनिवार्य है।

देश मे असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले आमलोगों के लिए अटल पेंशन योजना काफी फायदेमंद सामजिक सुरक्षा योजना है। जिसमें नियमित निवेश करने से आपके अवकाश प्राप्ति के बाद के खर्च करने के लिए आपको नियमित आय मिलती रहती है। केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में इस जनप्रिय योजना की शुरुआत मई 2015 में की थी। क्योंकि इससे पहले असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए इस तरह की कोई योजना नहीं थी, जिसके लाभुक व उनके आश्रितों का भविष्य एक हद तक सुरक्षित रहे। इसलिए मोदी सरकार ने इसे लागू किया और अपने दूसरे कार्यकाल में भी वह इसमें अपेक्षित सुधार करके इसे और आकर्षक बना सकती है।

बता दें कि अटल पेंशन योजना में निवेश करने से कोई भी व्यक्ति रिटायर होने के बाद प्रति माह तयशुदा पेंशन पाने के हकदार हो जाते हैं। इस योजना की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता यह है कि अगर आपकी किसी कारण वश असामयिक मृत्यु हो जाती है तो आपके आश्रितों को इसका फायदा दिए जाने के प्रावधान सुनिश्चित किये गए हैं। जिसके तहत निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में उसके बच्चों को पेंशन दिए जाने का प्रावधान है। शर्त सिर्फ यह कि रिटायर होने के बाद आजीवन पेंशन पाने के लिए आपको इस योजना में कुछ सालों तक ही निवेश करना होता है। आपको पता होना चाहिए कि आपके निवेश के साथ ही सरकार भी अटल पेंशन योजना में अपनी ओर से अंशदान देती है, जिससे यह आकर्षक बना रहता है।

किसके लिए बनी है अटल पेंशन योजना?

आमतौर पर अटल पेंशन योजना में कोई भी भारतीय अपना निवेश शुरू कर सकता है। बस, इस योजना में भाग लेने के लिए आपका बैंक खाता होना जरूरी है। साथ ही, इस योजना के वास्ते खाता खोलने के लिए इसे आधार कार्ड से जुड़ा होना भी अनिवार्य है। शर्त सिर्फ इतनी कि अटल पेंशन योजना का लाभ उन्हीं लोगों को मिल सकता है जो इनकम टैक्स स्लैब से बाहर हैं। साथ ही, ईपीएफ और ईपीएस योजना का लाभ पहले से नहीं ले रहे हैं।

आयु सीमा क्या है और कम से कम कितने साल करना होगा निवेश?

अटल पेंशन योजना हेतु निवेश के इच्छुक लोगों को छह भागों में बांटा गया है, जिसे दिए हुए चार्ट (1) के माध्यम से समझा जा सकता है। इस योजना का फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा, इस योजना के तहत पेंशन पाने के लिए आपको कम से कम 20 साल तक निवेश करना होगा। हां, यदि उससे पहले पति की मृत्यु हो जाती है तो पत्नी या उसके बच्चे एकमुश्त राशि या फिर अंशदान जमा करते रहने पर आजीवन पेंशन के हकदार होंगे। पति की मृत्यु पर पत्नी और पत्नी की मृत्यु पर नॉमिनी एक मुश्त दावा धनराशि या फिर आजीवन पेंशन के हकदार होंगे।

अटल पेंशन योजना के तहत किसी भी निवेशक को कितना पेंशन मिलेगा? जानिए उसका स्लैब?

अटल पेंशन योजना में पेंशन की रकम आपके द्वारा किए गए निवेश और आपकी तत्कालीन उम्र पर निर्भर करती है। हालांकि इस योजना के तहत किसी भी व्यक्ति को कम से कम 1,000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकता है। पेंशन शुरू होने की उम्र सीमा 60 साल है। इस उम्र से आपको पेंशन मिलना शुरू हो जाएगा। हां, इतना अवश्य है कि आप जितनी जल्दी इस पेंशन योजना से जुड़ेंगे, उतना अधिक फायदा आपको मिलेगा। उदाहरणतया, अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में इस पेंशन योजना से जुड़ता है तो उसे हर महीने 210 रुपये का निवेश करना होगा। तब जाकर रिटायर होने के बाद अर्थात 60 साल की उम्र से आपको हर महीने 5000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी। यहां यह स्पष्ट कर दें कि ऐसे लोग जो आयकर के दायरे में आते हैं, या सरकारी इम्प्लाई हैं या फिर पहले से ही ईपीएफ और ईपीएस जैसी योजना का लाभ ले रहे हैं, वे किसी भी कीमत पर अटल पेंशन योजना का हिस्सा नहीं बन सकते।

# कम निवेश में सुरक्षित कीजिए भविष्य

खास बात यह कि अटल पेंशन योजना से आप जितनी जल्‍दी जुड़ेंगे, आपको उतने ही कम पैसे जमा करने होंगे। अगर आप 60 साल की उम्र के बाद प्रति माह 5,000 रुपए प्राप्‍त करना चाहते हैं तो अटल पेंशन योजना से बेहतर विकल्‍प कदापि नहीं मिलेगा। क्योंकि इस योजना से अगर आप 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं और प्रतिदिन 7 रुपये बचाकर हर महीने मात्र 210 रुपए जमा करते हैं तो 60 साल की उम्र के बाद आपको हर महीने 5,000 रुपए मिलेंगे।

# कितनी मिलती है पेंशन? और कितने-कितने रुपये का है स्लैब?

अटल पेंशन योजना के तहत पात्र व्‍यक्ति को 1,000 रुपए से 5,000 रुपए तक की पेंशन प्रति माह मिल सकती है। हां, आप जितनी कम उम्र में इस योजना में निवेश की शुरुआत करेंगे, आपको प्रति माह उतनी ही कम रकम देनी होगी। उदाहरणतया, प्रति माह 1,000 रुपए की पेंशन प्राप्‍त करने के लिए निवेशक को उसकी उम्र के हिसाब से 42 रुपए से लेकर 291 रुपए प्रति माह जमा करवाना पड़ सकता है। लेकिन, किस्‍त देने वाले व्‍यक्ति की यदि किसी कारणवश मृत्‍यु हो जाती है तो उसके नॉमिनी को एकमुश्‍त 1,70,000 रुपए मिलेंगे। उसी प्रकार, यदि आप प्रति माह 2,000 रुपए की पेंशन पाना चाहते हैं तो आपको प्रत्येक माह 84 रुपए से लेकर 582 रुपए तक की किस्‍त देनी होगी, जो आपकी उम्र पर निर्भर करती है। यदि इस दौरान व्‍यक्ति और उसकी पत्‍नी की मृत्‍यु किसी कारणवश हो जाती है तो उनके नामित संतान को 3,40,000 रुपए एकमुश्त मिल जाएंगे। इसी तरह, प्रति माह 5000 रुपए की पेंशन के लिए आपको प्रत्येक महीने 210 रुपए से लेकर 1,454 रुपए जमा करने पड़ सकते हैं। यदि इस दौरान व्‍यक्ति और उसकी पत्नी की मौत हो जाती है तो उनके द्वारा नामित किये गए संतान को 8,50,000 रुपए की एकमुश्त धनराशि मिलेगी।

# कौन-कौन उठा सकता है अटल पेंशन योजना का फायदा

बता दें कि मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई अटल पेंशन योजना समाज के कमजोर वर्ग के लिए है ताकि 60 साल के बाद उन्‍हें आर्थिक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े। यही वजह है कि इस योजना से 18 से 40 साल तक की उम्र के वैसे सभी लोग जुड़ सकते हैं, जो इसके वास्तविक पात्र हैं। क्योंकि इस योजना में कम से कम 20 साल का निवेश करना नितांत जरूरी है, मृत्यु गत परिस्थितियों के अलावे। खास बात यह कि अटल पेंशन योजना से जुड़ने के लिए किसी भी बैंक में आपका एक बचत खाता और आधार कार्ड होना अनिवार्य है।

अटल पेंशन योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप दी हुई वेबसाइट लिंक पर जाकर अद्यतन जानकारी हासिल कर सकते हैं: https://npscra.nsdl.co.in/nsdl/scheme-details/APY_Scheme_Details.pdf

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *