Categories
राजनीति

आखिर राजस्थान कांग्रेस का घमासान कहां जाकर रुकेगा ?

रमेश सर्राफ धमोरा राजस्थान कांग्रेस में मचा घमासान थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। पिछले 25 सितंबर को जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक का पार्टी विधायकों द्वारा बहिष्कार करने की घटना के बाद राजस्थान कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर पहुंच गई हैं। पार्टी के नेता एक-दूसरे के खिलाफ खुलकर बयान बाजी […]

Categories
मुद्दा राजनीति विधि-कानून

समान नागरिक संहिता: हिन्दू-हित या चुनावी प्रपंच

-शंकर शरण १८ नवंबर २०२२ उचित होगा कि संविधान के अनु. 30 के दायरे में देश के सभी समुदाय और हिस्से सम्मिलित किये जाएं।’’ वह मात्र एक पृष्ठ का, किन्तु अत्यंत मूल्यवान विधेयक था। यदि वही विधेयक हू-ब-हू फिर लाकर पास कर दिया जाए, तो राष्ट्रीय हित के लिए एक बड़ा काम हो जाएगा। उस […]

Categories
देश विदेश राजनीति

भारतीय विदेश नीति का स्वर्णिम दौर, परिवर्तनशील विश्व में भारत का बढ़ता वर्चस्व

भारत राष्ट्र की बीते 75 वर्षों की यात्रा का सिंहावलोकन करें तो हम पाते हैं कि यह यात्रा आसान नहीं रही है। एक लंबी इस्लामी-ब्रिटिश परतंत्रता के बाद देश जब स्वतंत्र हुआ तो दुनिया ने इसके विफल होने की भविष्यवाणी की थी। भारत ने अपनी जिजीविषा एवं संघर्ष के बल पर एक ऐसा मुकाम हासिल […]

Categories
देश विदेश महत्वपूर्ण लेख राजनीति विविधा

क्या पीओके वापस लेने की तैयारी में है भारत ?

-हिमांशु मिश्र पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर को लेकर भारतीय सेना के उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी का बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा कि PoK (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) को वापस लेने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है। जब भी सरकार आदेश देगी, हम उसपर अमल कर देंगे। […]

Categories
राजनीति हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

वीर सावरकर का अपमान कर कांग्रेस ने जो चाल चली थी वह विफल हो गयी

सुरेश हिंदुस्तानी कांग्रेस द्वारा अपने सत्ता निर्वासन को समाप्त करने के लिए भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। जो कांग्रेस की तड़पन को दूर करने के लिए अपरिहार्य भी है। लेकिन कभी कभी इस यात्रा के दौरान ऐसा भी लगने लगता है कि इस यात्रा का मूल उद्देश्य भारतीय समाज को जोड़ने के लिए […]

Categories
इतिहास के पन्नों से मुद्दा राजनीति हमारे क्रांतिकारी / महापुरुष

वीर सावरकर के विरोध के निहितार्थ

कांग्रेस द्वारा अपने सत्ता निर्वासन को समाप्त करने के लिए भारत जोड़ो यात्रा यात्रा निकाली जा रही है। जो कांग्रेस की तड़पन को दूर करने के लिए अपरिहार्य भी है। लेकिन कभी कभी इस यात्रा के दौरान ऐसा भी लगने लगता है कि इस यात्रा का मूल उद्देश्य भारतीय समाज को जोड़ने के लिए नहीं, […]

Categories
राजनीति

मुलायम के कुनबे पर कानून का ‘शिकंजा’

समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक रहे मुलायम सिंह यादव एवं उनके परिवार पर आय से अधिक संपत्त का मामला एक बार फिर चर्चा के केंद्र में आ गया है। मुलायम कुनबे पर वर्ष 2005 में कांग्रेस से जुड़े वकील विश्वनाथ चतुर्वेदी ने यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री और पूरे परिवार पर अवैध संपत्ति का मामला […]

Categories
राजनीति

इंदिरा की बेरुखी, 2 साल के वरुण संग ससुराल छोड़तीं मेनका… कैसे उजड़ा खुशहाल गांधी परिवार?

दीपक वर्मा आपातकाल के बाद, 1977 में इंदिरा गांधी सत्‍ता से बेदखल कर दी गईं। आम चुनाव में हार के बाद इंदिरा अपनी बहुओं, पोते-पोतियों के साथ 12, विलिंगटन क्रेसेंट में शिफ्ट हो गईं। उस दौर में, संजय गांधी की पत्‍नी मेनका ‘सूर्या’ मैगजीन निकालती थीं। अपनी सास के विरोधियों को किनारे लगाने में मेनका […]

Categories
राजनीति

पंजाब सरकार को कानून व्यवस्था संभालने के प्रति जल्द ही गंभीर होना होगा

ललित गर्ग देश की कृषि एवं महापुरुषों की शांति भूमि राजनीतिक कारणों से हिंसा, आतंकवाद एवं नशे की भूमि बन गयी है। जबसे आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है, हिंसा, हथियारों एवं नशे की उर्वरा भूमि बनकर जीवन की शांति पर कहर ढहा रही है। राज्य में तेजी से पनप रही बंदूक एवं नशे […]

Categories
राजनीति

संजय राउत के बोल बचन के मायने

राजनीति /महाराष्ट्र अश्विनी कुमार मिश्र जेल से छूटने के बाद उद्धव सेना के नेता संजय राउत के बदले बोल को लेकर तरह तरह की राजनीतिक चर्चाओं का बाजार गर्म है. आखिर संजय राउत महाराष्ट्र की नयी सरकार की प्रशंसा क्यों कर रहे हैं.? उनके गोल वचन और और अंदाजे बयां से यह कहा जाने लगा […]

Exit mobile version