इस देश के अंदर पाकिस्तानियों को हम कब तक ढोते रहेंगे ?

-जब पाकिस्तान जीता तो हिंदुस्तान में रहने वाले मुसलमानों ने कल जमकर पटाखे फोड़े और आतिशबाजी की… कल दिल्ली में उन इलाकों से पटाखों की आवाजें आती रहीं जहां शाहीनबाग आंदोलन का सबसे ज्यादा जोर था और ऐसा लगा कि ये कोई पटाखों की आवाज नहीं है… ये उन अदृश्य जूतों की आवाज थी जो हिंदू को कायदे से बार बार लगाए जाते हैं और हिंदू हर बार ऐसे जूतों को ना सिर्फ सहता है बल्कि सहने का आदी हो चुका है

-वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर ने तक दिल्ली के सीलमपुरी और तमाम मुस्लिम बहुल इलाकों में फोड़े गए पटाखों पर ट्वीट किया और कहा कि पाकिस्तान की जीत पर जो लोग पटाखें फोड़ रहे हैं वो लोग दिवाली पर पटाखे ना जलाने का ज्ञान बिलकुल भी ना दें ।

-पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने कल एक बयान जारी करके पाकिस्तान की जीत को समूचे आलमे इस्लाम की जीत बताया है । और कहा है कि पाकिस्तान की जीत का जश्न हिंदुस्तान का मुसलमान भी मना रहा है

  • शोएब अख्तर ने भी ट्वीट करके ये बयान दिया है कि पाकिस्तान की जीत का जश्न भारत के अंदर रहने वाले लोगों ने भी मनाया है… उन्होंने खुलकर भारत के मुसलमानों की तरफ संकेत किया है कि पाकिस्तान की जीत पर भारत के मुसलमान खुश हैं

-सवाल ये है कि ये कोई दबी छुपी बात नहीं है कि हिंदुस्तान का मुसलमान पाकिस्तान के जीतने पर खुश होता है… गली नुक्कड़ की चाय की दुकानों पर बैठने वाले लोग इन बातों को बहुत अच्छी तरह जानते और समझते हैं कि मैं जिस गांव का रहना वाला हूं वहां के मुसलमान बिलकुल खुलकर चाय की दुकानों पर पाकिस्तान क्रिकेट टीम का समर्थन करते हैं । मेरे आपके सभी के इस तरह के अनुभव रहे हैं लेकिन इसे बाद भी हम गांधी और नेहरू के किए गए पापों को भुगतने के लिए मजबूर रहे हैं

-रविवार की रात को देश के मुस्लिम बहुल इलाकों में जश्न मनाया गया और इस जश्न के तमाम वीडियो भारत के अंदर सोशल मीडिया फेसबुक ट्विटर व्हाट्सएप पर वायरल हो रहे हैं । पटाखों की आवाजें दिल्ली के लोगों ने अपने कानों से सुनी है कोई दबी छुपी बात नहीं है

-लेकिन इसके बाद भी पूरी भारत सरकार दिल जीतने की मुहिम में जुटी हुई है । अभी यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंडिया टीवी को दिए गए एक इंटरव्यू में ये बताया था कि यूपी में 20 प्रतिशत मुसलमान हैं लेकिन सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वालों में 37 प्रतिशत मुसलमान हैं । यहां का खाकर यहां का पानी पीकर यहां की सरकार से मदद लेकर… सरकारी राशन पर कब तक पाकिस्तान की सोच वाले लोगों को पाला पोसा जाता रहेगा

-हमें इस बात का बहुत दुख और अफसोस है कि हम आज भी इन मामलों पर ब्लैक एंड व्हाइट में कुछ भी नहीं सोच पा रहे हैं… हम सभी लोग कन्फ्यूज है

-कल पाकिस्तान ने विश्वकप में जो मैच जीता है … वो भी भारत के हिंदुओं के लिए एक ऐतिहासिक सबक हो सकता है… जिस तरह पृथ्वीराज चौहान ने तराइन के पहले युद्ध में मुहम्मद गोरी को हराया था और फिर इसके बाद उसके माफ कर दिया था… उसका नतीजा दूसरे तराइन के युद्ध के बार सिर्फ पृथ्वीराज चौहान को नहीं बल्कि पूरे हिंदुस्तान को भुगतना पड़ा । आंखें तो पृथ्वीराज चौहान की फोड़ी गई लेकिन उम्मीद की रोशनी तो पूरे भारत की ही चली गई

-खेल या युद्ध… हार या जीत… कई बार परिस्थितियों और किस्मत पर भी निर्भर करती है… जिस तरह लगातार विश्वकप में पाकिस्तान भारत से हारता रहा और अचानक जीत गया । ठीक उसी तरह ये जरूरी नहीं है कि हर बार भारत की सेना पाकिस्तान को हराती ही रहेगी… कभी ना कभी ऐसे ग्रह नक्षत्र और परिस्थितियां ऐसी जरूर बदलेंगी जब पाकिस्तान भारत पर बड़ी विजय हासिल कर लेगा । बंद घड़ी भी 24 घंटे में एक बार सही समय बताती ही है ।

-मैं कभी नहीं चाहता हूं कि ऐसा हो लेकिन कड़वी और सच बात यानी कटुसत्य बोले बिना नहीं रह सकता हूं । आप अपने घर के अंदर तब तक ही सेफ हैं जब तक बॉर्डर पर आर्मी खड़ी है वरना बाहर का पाकिस्तान और अंदर का पाकिस्तान 2 मिनट के अंदर आपको दबोच लेगा । ये जो पाकिस्तान के नेता फजलुर्रहमान… रोज नारे लगाते हैं कि चलो इस्लामाबाद… वो जब भारत की सेना हार जाएगी तो नारा लगाएंगे… चलो दिल्ली । मुझे आतंकी हाफिज सईद का वो बयान रह रह कर याद आता रहता है जो उसने अपने एक भाषण में दिया था.. इंशाल्लाह… दिल्ली दुल्हन बनेगी ! हमारे लिए दिल्ली दुल्हन बनेगी !

-ये सोच है पाकिस्तान की और भारत के अंदर रहने वाले पाकिस्तान के समर्थकों की… मेरी भारत सरकार से और देश के लोगों से भी ये अपील है कि जिन लोगों ने पाकिस्तान की जीत पर पटाखें फोड़े हैं इसकी उचित तरीके से जांच करवाकर फैसला लें या तो इन लोगों को फांसी की सजा दी जाए या फिर इन लोगों को देश निकाला दिया जाए ।

-आखिर देश के गद्दारों पर… देश के दुश्मनों पर फैसला तो करना ही होगा… श्रीमदभगवतगीता में स्पष्ट लिखा है… संशयात्मा विनश्यती.. यानी जो संशय में रहता है शक में रहता है वो नष्ट हो जाता है ! ठीक इसी तरह हिंदू अगर संशय में रहेगा और कोई एक्शन नहीं लेगा तो नष्ट हो जाएगा ।

-भारत के समस्त लोगों ने मेरी ये अपील है कि इस लेख को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं । देश के पहले गृहमंत्री सरदार पटेल ने 1947 के एक भाषण में कहा था कि जिन लोगों को पाकिस्तान से मोहब्बत है वो पाकिस्तान चले जाएं यहां भारत के अंदर रहकर पाकिस्तान से दोस्ती नहीं चलेगी । सरदार पटेल की ये बात हर मोबाइल तक पहुंचनी चाहिए ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *