14 हजार छात्र-छात्राओं के भविष्य का फैसला आज

प्रमुख समाचार/संपादकीय

ग्रेटर नोएडा, सीबीएसई के बाद अब यूपी बोर्ड परीक्षा के परिणामों की बारी आ गई है। मंगलवार को यूपी बोर्ड की 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित हो जाएगा। छात्रों के सामने दूसरे बोर्डो के छात्रों को टक्कर देने की चुनौती होगी। इस परीक्षा परिणाम के बाद स्नातक स्तर पर पारंपरिक और तकनीकी पाठ्यक्रमों में दाखिले की दौड़ तेज हो जाएगी। खासकर दिल्ली विश्वविद्यालय में। जिले में इंटरमीडिएट के 14,360 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। परीक्षा के लिए करीब 49 केंद्र बनाए गए थे। परीक्षा परिणाम का प्रतिशत सुधारने के लिए यूपी बोर्ड ने उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के दौरान विशेष निगरानी भी की थी। परीक्षकों को स्टेपवाइज मार्किंग के विशेष निर्देश दिए गए थे। इसके साथ ही विषयवार मूल्यांकन के सूत्रों का भी ध्यान रखा गया था। अब देखना यह है कि यूपी बोर्ड की कवायद का इंटरमीडिएट के परीक्षा परिणाम पर क्या प्रभाव पड़ता है? जानकार मानते हैं कि यूपी बोर्ड के छात्र अंकों के प्रतिशत में अन्य बोर्डो से मात खाते रहे हैं। इसकी वजह से मेरिट लिस्ट के आधार पर होने वाले दाखिले में पीछे होने के कारण दिल्ली विश्वविद्यालय जैसे संस्थान में दाखिले से वंचित होते रहे हैं।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *