भारत में हिंदू वीरों ने नहीं होने दिया था इस्लाम का सपना साकार : श्याम सुंदर पोद्दार

नई दिल्ली । (अजय आर्य ) अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्यामसुंदर पोद्दार ने कहा है कि अबसे १४०० वर्ष पूर्व इस्लाम का प्रादुर्भाव हुवा। अपने जन्म के २०० वर्षों मे इसने अरब से लेकर मिश्र तक के देशों को जीत डाला , पर हिंदुओं की तीव्र प्रतिरोधक क्षमता के कारण दिल्ली जीतने में इसे इस्लाम के जन्म से ६०० वर्ष लगे।

श्री पोद्दार ने कहा कि पृथ्वीराज चौहान की पराजय

के बाद औरंगजेब के शासन तक इस्लामिक राज्य रहा। हिन्दु शूरवीरों ने व मराठा सरदारों के नेतृत्व मे रास्ते मे आई मुग़ल सेना को गाजर मूली की तरह काटते हुये इस्लामिक राज्य को नेस्तनाबूद कर दिया।

हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि इस्लामिक राज्य की समाप्ति पर अंग्रेज़ों का राज आया। हिन्दू वीरों की बहादुरी ही थी कि उन्होंने इस्लामिक राज्य को नेस्तनाबूद ही नही किया, बल्कि इस्लामिक मज़हब के जहाज़ को डूबा कर हिन्दू धर्म,संस्कृति,सभ्यता की रक्षा भी की।

इस्लाम धर्म की हिन्दुओं के हाथ पराजय पर इस्लामिक कवि

मौलाना हाली ने लिखा :–

वो दीने हजाजी का बेबाक बेडा,

जो कुलजम में झिझका न् जेहू में अटका।

मुकाबिल हुआ कोई खतरा न जिसका ।

किये थे पार जिसने सातों समन्दर।

वह डूबा दहाने में गंगा के आकर।।

मौलाना हाली ने जितने अफसोस और खेद के साथ इन पंक्तियों को लिखा था उनसे पता चलता है कि हमारे देश के हिंदू वीरों का शौर्य इस्लाम के लिए कितना खतरनाक साबित हुआ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *