सुपरकूल है नया आईओएस 7

प्रमुख समाचार/संपादकीय

 मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम में एक बड़ी वॉर की शुरू हो गई है। एपल ने हाल ही में अपनी आईओएस डिवाइसेज के लिए नया ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस7 लॉन्च किया है। एंड्रॉयड, ब्लैकबेरी और विंडोज ओएस से मिल रही कड़ी चुनौती को देखते हुए एपल ने अपने ढ्ढह्रस् आईओएस का रंग-रूप तक बदल डाला है। एपल का नया ओएस यंगस्टर्स को एक नया एक्सपीरियंस देगा। आइए जानते हैं क्या खास है एपल के नए आईओएस7 में..

एक्साइटिंग इंटरफेस

नए ओएस के यूजर इंटरफेस में आईफोन ने रिवॉल्यूशनरी बदलाव किया है। यूजर को इसमें बोरियत का अहसास नहीं होगा। नए इंटरफेस में आइकंस को मॉर्डन लुक देने की कोशिश की गई है। आइकंस को फ्लैट लुक के साथ नए कलर पैलेट में डिजाइन किया गया है, साथ ही नए फॉन्ट्स एपल की स्क्रीन पर दिखने में बेहतर लग रहे हैं। यूजर इंटरफेस में लेयरिंग इफेक्ट्स विंडोज फोन8 और विंडोज8 जैसा दिखता है मैन्यू और पॉप-अप विंडोज में दिया गया ट्रांसल्यूसेंट बैकग्राउंड अपीलिंग और स्टाइलिश है। साथ इस बार एपल ने व्हाइट स्पेस का खासा यूज किया है, जिससे आइकंस क्लियर और बड़े-बड़े नजर आते हैं।

मल्टीटॉस्किंग

आईओएस7 में एपल ने मल्टीटॉस्किंग की नई डेफिनेशन दी है। अभी तक एप्स के बीच स्मार्ट तरीके से स्विच करने को ही मल्टीटॉस्किंग कहते थे। लेकिन नए ओएस में यह और स्मार्ट हुआ है। नए फीचर की खासियत होगी कि आपके एप खोलने से पहले ही एप का कंटेंट ऑटोमेटिक अपडेट हो जाएगा। जैसे आप सुबह 9 बजे रोजाना फेसबुक चेक करते हैं, तो आपकी फीड रेडी होगी और आपके खोलने का इंतजार कर रही होगी। उसे पहले से पता होगा कि आप क्या चाहते हैं ? इसके अलावा मल्टीटॉस्किंग के लिए होम बटन पर दो बार प्रेस करना होगा, जिसके बाद स्क्रीन प्रिव्यू देख सकेंगे।

कंट्रोल सेंटर

अपने नाम की तरह इसका काम भी है। कंट्रोल सेंटर से यूजर कंट्रोल और एप्स को क्वीक एक्सेस कर सकते हैं। यूजर को केवल स्क्रीन पर स्वाइप भर करना होगा, यहां तक कि लॉक स्क्रीन पर भी, और कंट्रोल सेंटर को एक्सेस कर सकते हैं। यहां से यूजर एयरप्लेन मोड से स्विच करने के अलावा वाई-फाई ऑन-ऑफ, डू नॉट डिस्टर्ब जैसे कई फंक्शंस एक्सेस कर सकते हैं। इसके अलावा यहीं से ब्राइटनेस, टॉर्च, केलकुलेटर, टाइमर, कैमरा जैसे फीचर एक टैप पर एक्सेस किए जा सकते हैं।

आईट्यूंस रेडियो

एप्स मार्केट में पहले से ही कई इंटरनेट रेडियो सर्विसेज मौजूद हैं। एपल ने नए ओएस में 200 से ज्यादा इंटरनेट बेस्ड रेडियो स्टेशंस को इंटीग्रेट किया है। यूजर इन्हें पर्सनलाइज्ड भी कर सकते हैं। यह सर्विस बिल्कुल फ्री है, बस यूजर को डाटा पैक का खर्च देना होगा। आईट्यूंस रेडियो पर चल रहे गाने को यूजर खरीद भी सकता है और तुरंत डाउनलोड भी कर सकता है। यह एप आईफोन, आईपैड, आईपॉड टच, मैक, पीसी और एपल टीवी पर उपलब्ध होगी।

कैमरा

इस बार एपल ने नए ओएस में कैमरे के लिए फॉर्मेट्स का ऑप्शन दिया है। आफोन यूजर्स की शिकायत रहती थी कि आईफोन में कैमरा फीचर्स नहीं है और उन्हें इसके लिए थर्ड पार्टी एप्स डाउनलोड करनी पड़ती थीं। अब इसमें आप स्टिल के साथ वीडियो, पेनोरमा और स्क्वॉयर (इंस्टाग्राम स्टाइल) फीचर भी शामिल हो गए हैं। इसके अलावा कई आर्टिस्टिक फिल्टर्स जैसे रेट्रो, ब्लैक एंड व्हाइट जैसे फिल्टर्स भी हैं, जिन्हें इमेज में अप्लाई किया जा सकता है। इन फिल्टर्स को स्टिल और स्क्वॉयर फोटोज में यूज कर सकते हैं, साथ ही प्रिव्यू का भी ऑप्शन होगा या फिर फोट खींचने के बाद भी अप्लाई किया जा सकता है।

इजी फाइल शेयरिंग

नए ओएस की एप्स में शेयर बटन होगा, जिसे टैप करने के बाद नई विंडो शेयर शीट खुलेगी, जिसमें यूजर फोटो, वीडियो, कॉन्टेक्ट्स को मेल, आईक्लॉउड, ट्विटर, फेसबुक या एसएमएस से भेज सकेंगे। इसके अलावा एक दूसरा फीचर है एयरड्रॉप। इस फीचर के जरिए नजदीक की आईओएस 7 डिवाइस पर ब्लूटूथ या वाई-फाई से पाइल ट्रांसफर कर सकेंगे। शेयर शीट में आपके आसपास मौजूद आईओएस7 डिवाइसेज की लिस्ट होगी। यह फीचर केवल आईओएस7-टू-आईओएस7 इंस्टॉल्ड डिवाइसेज पर ही काम करेगा। इसके लिए किसी सेटअप की जरूरत नहीं होगी।

इजी ब्राउजिंग

आईओएस7 में ब्राउजिंग एक्सपीरियंस को भी इंप्रूव करने की कोशिश की गई है। एपल के ब्राउजर सफारी में ब्राउजिंग के दौरान बटन और बार्स हिडन हो जाएंगे, जिससे डिवाइस पर कंटेंट बड़ा और क्लियर दिखाई देगा। स्वाइप करके पीछे पर आगे के पेजेज पर जाया जा सकेगा। इसके अलावा इसमें यूनिफाइड स्मार्ट सर्च फील्ड का फीचर भी है। कोई भी यूआरएल या सर्च टर्म लिखने पर सफारी आपको ऑटोमैटिकली क्लोजेस्ट सर्च रिजल्ट ऑप्शन देगा। इसके साथ ही ओपन वेब पेजेज और टैब्स का व्यू स्टाइल भी बदला गया है। ओपन टैब्स बड़े ही स्टाइलिश तरीके से दिखाई देंगी। इसमें रीडिंग लिस्ट का फीचर भी होगा, जिससे आर्टिकल्स को फटाफट पढ़ा जा सकेगा।

पासवर्ड मैनेजर

आजकल हर वेबसाइट पर रजिस्टर होना पड़ता है। ऐसे में पासवर्ड याद रखना मुश्किल हो जाता है। नए ओएस में आक्लाउड कीचेन का फीचर दिया गया है। इसके जरिए अब आपको पासवर्ड याद नहीं रखने पड़ेंगे। आईक्लाउड आपके अकाउंट नेम्स, पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर भी याद रखेगा। सफारी पर ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान या किसी वेबसाइट पर साइन-इन के दौरान यह सभी डिटेल्स ऑटोमैटिकली फिल कर देगा। एपल का दावा है कि यह फीचर बेहद सिक्योर है और 256-बिट एईएस एनक्रिप्शन पर वर्क करेगा। साथ ही एक और यूनीक फीचर इसमें होगा, जैसे ही किसी साइट पर आपको अकाउंट बनाना होगा, पासवर्ड जेनरेटर फीचर आपको यूनीक पासवर्ड सजेस्ट करेगा। अगर आप उसे सलेक्ट करते हैं, तो वह पासवर्ड और वेबसाइट आईक्लाउड की मेमोरी में सेव हो जाएगी, जिसे आप फ्यूचर में यूज कर पाएंगे।

सीरी हुआ री-डिजाइन

नए ओएस में सीरी को भी इंप्रूव किया गया है। इसमें सीरी पहले से ज्यादा पॉवरफुल हुआ है। इसके इंटरफेस को री-डिजाइन करने के साथ व्यू को फेड किया गया है। मेल-फीमेल साउंड को नेचुरल टच देने की कोशिश की गई है, ताकि आसानी से समझ में आ सके। इसके अलावा आंसर देने में भी यह पहले से फास्ट होगी। इसका दायरा भी बढ़ाया गया है। अब यह कॉन्टेक्ट्स लिस्ट के अलावा बिंग, विकीपीडिया और ट्विटर से सर्च करके आसंर देगी। इसके अलावा इसका एक्सट्रा टास्क यह होगा कि रिटर्न कॉल्स का आसंर देने के अलावा वॉयसमेल प्ले करेगी, साथ ही आईट्यूंस रेडियो को भी कंट्रोल करने जैसे कई काम भी करेगी।

फाइंड माई फोन हुआ पॉवरफुल

नया ओएस इंस्टॉल करने के बाद अगर आपका आईफोन खो जाता है, तो घबराने की जरूरत नहीं। क्योंकि इतना तो तय है कि उसे और कोई इस्तेमाल नहीं कर पाएगा और न ही उसे बेच पाएगा। फाइंड माई फोन फीचर को नए ओएस में और पॉवरफुल किया गया है। अगर कोई फाइंड माई फोन फीचर को टर्न ऑफ भी कर दे, तो डिवाइस से डाटा इरेज करने के लिए एपल आईडी और पॉसवर्ड की जरूरत पड़ेगी। फोन को रिएक्टिवेट करने के लिए भी एपल आईडी और पासवर्ड चाहिए होगा। रिमोट इरेज करने के बाद भी फोन लॉक स्क्रीन पर मैसेज दिखता रहेगा।

किन डिवाइसेज पर उपलब्ध होगा?

यह सवाल कई लोगों के मन में होगा कि नया ओएस किन डिवाइसेज को सपोर्ट करेगा। नया ओएस आईफोन 4, आईफोन 4एस, आईफोन 5, आईपॉड टच 5जी, आईपैड 2, आईपैड 3, आईपैड 4 और आईपैड मिनी को सपोर्ट करेगा और फ्री में अपडेट किया जा सकेगा। आईफोन 3 और आईफोन 3जी और आईफोन 3जी एस को सपोर्ट नहीं करेगा।

कब आएगा अपडेट?

एपल ने इस बात का कोई ऐलान नहीं किया है कि नया आईओएस7 एपल डिवाइसेज पर कब उपलब्ध होगा। एपल के मुताबिक आईओएस डेवलेपर्स नए ओएस को तुरंत डाउनलोड कर सकते हैं। लेकिन सभी डिवाइसेज के लिए आने में वक्त लगेगा। खबरों के मुताबिक सितंबर से अक्टूबर के बीच में एपल डिवाइसेज को अपडेट किया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *