चौतरफा मर्डर से दहला संभल, चुनावी रंजिश के चलते प्रधान पति पुत्र सहित चार को उतारा मौत के घाट

  • 2016-11-10 03:15:35.0
  • वेदवसु आर्य

  • संभल- ग्राम प्रधान सहित चार की गोली मार कर हत्या, गोलियों से पूरे परिवार को भुना
  • चुनावी रंजिश के चलते की दबंगों ने हत्या, हत्या के बाद से दहला संभल
  • अंधाधुंध फायरिंग कर उतरा मौत के घाट एक दर्जन के खिलाफ मामला दर्ज, आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर,
  • पुरे इलाके में फैली दहसत लोग घरों में ताले डाल हुए फरार ,
  • पुरे गांव भारी पुलिस बल तैनात, कई जिलों की पुलिस को बुलाया गया,
  • डीआईजी डीएम सहित एसपी मौके पर पहुँचे, कई टीमे गठित
  • परिजनों ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप, सूचना मिलने के कई घंटे बाद पहुँची पुलिस डीआईजी एसपी बचा रहे है थाना अध्यक्ष को.

उत्तर प्रदेश के जनपद संभल के कुढ़फतहगढ़ थाना क्षेत्र के गांव छाबड़ा में चुनावी रंजिश के चलते गांव के ही एक दर्जन दबंगों ने गांव की मौजूदा प्रधान शकुंतला देवी पति विसम्बर पुत्र सुशील व् सुनील की गोलियों से भून कर हत्या कर दी और घटना को अंजाम दे कर तमंचों को लहराते हुए और ग्रामीणों को धमकाते हुए मौके से फरार हो गए हम आपको बताते चले की गांव में प्रधानी के चुनाव में गांव की ही शकुंतला देवी ने गांव के ही दबंग महेश को चुनाव में हरा कर जीत हासिल की थी उसी बात से दबंग जख्म खाया हुआ था और मौके की तलाश में थे आज देर शाम तक़रीबन 7:30 ग्राम प्रधान शकुंतला देवी के घर एक दर्जन दबंग युवक हथियारों से लैस हो कर पहुँचे और घर में घुस कर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी और प्रधान शंकुतला देवी पति विसम्बर व् पुत्र सुशील और सुनील के सीने में सुलगता हुआ बारूद उतार दिया दबंगों ने परिवार पर एक नही दो नही बल्कि जब तक गोलियों से भुना जब तक पूरी तरह से पूरा परिवार मौत की अहोश में न सो जाए दबंग घटना को अंजाम दे कर मौके से तमंचों को लहराते हुए फरार हो गए और साथ ही गाँव बालो को धमकी भी दे गए की पूरा गांव खाली कर दो और किसी को भी कुछ मत बताना नही तू तुम्हारा भी यही हाल होगा उसके बाद ये दबंग मौके से चलते बने हम आपको बता दे जिस समय ये घटना हुई तब घर में प्रधान उसके पति दोनों बेटे और दोनों लडकिया थी दबंग पुरे परिवार को ही ख़त्म करने के इरादे से आए थे पर लड़कियों ने कमरा अंदर से बंद कर झुप गयी जिसके कारण इनकी जान बच गयी पर परिवार के चार लोग इस जहा को छोड़ कर सदा सदा के लिए मौत के अहोश में सो गए और छोड़ गए कुछ ऐसे सवाल जिनका जबाब अभी मिलना बाकी है परिजनों का आरोप है कि जब ये घटना हुई थी तब पुलिस को सूचना दी गयी थी पर पुलिस कई घंटे बाद पहुँची हम आपको बता दे की इस घटना घटित होने के बाद ज़िले डीएम एसपी सहित मुरादाबाद रेंज के डीआईजी पहुँचे पर आरोपियो को पकड़ने की बात तो कर रहे है पर अपने किसी भी कर्मचारी पर कार्यवाही की बात से मुँह मोड़ रहे है साफ़ नज़र आ रहा है इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी आला अधिकारी अपने थाना अध्यक्ष को बचाने में जुटे हुए पर कोई पूछे उस परिवार से जिसका पूरा बंश ही ख़त्म हो गया और रह गयी हो कुछ यादे जो अभी भी धुंधली है.

इस घटना के बाद से पूरे जिले में दहसत फेल गयी गांव के अंदर भारी पुलिस बल तैनात करवा दिया गया है पुलिस का कहना है ये घटना चुनावी रंजिश और प्रेम प्रसंग के चलते हुई है पुलिस का कहना है प्रधान पुत्र सुनील का आरोपी महेश की बेटी से प्रेम प्रसंग चल रहा था और शादी करने को कह रहा था और चुनाव के बाद से भी इन परिवारों तनाव था पर सवाल तो यह था कि अगर इन पक्षो में तनाव था तो पुलिस ने इस तनाव को गंभीरता से क्यों नही लिया आए दिन खबरे आती है कि चुनावी रंजिश के चलते हत्या हो गयी पर उसके बाद भी हमारी यूपी पुलिस अपना नाकारापन का सुबूत देती रही और सदा की तरह एक बड़ी घटना का इंतज़ार करती रही इस पूरी घटना में महेश कुमार पुत्र गोविंदा सहित 12 को आरोपी बनाया गया है आरोपियो की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस ने पाँच टीमे भी गठित कर दी है पर अभी तक एक भी आरोपी पुलिस की पकड़ में नही है.

वेदवसु आर्य ( 18 )

Bureo Chief Sambhal, Babrala.