झूठी निकली हरि बाबा के पुनर्जन्म की कहानी अफवाह में उमड़ा जन शैलाव

  • 2016-09-16 02:30:29.0
  • वेदवसु आर्य

झूठी निकली हरि बाबा के पुनर्जन्म की कहानी अफवाह में उमड़ा जन शैलाव

गवाँ (सम्भल) । कई दिनों से सम्पूर्ण खादर क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी परम् संत श्री हरि बाबा महाराज जी के पुनर्जन्म की कहानी बुद्धवार को झूठी सावित हो गयी। हरि बाबा महाराज के द्वारा पुनर्जन्म में अवतार लेने की अफवाह पर 14 सितम्बर बुद्धवार रात्री में श्री हरि बाबा बाँध आश्रम पर जन शैलाव उमड़ पड़ा। बदायूँ जनपद की तहसील बिसौली में फैजगंज बेहटा थाना क्षेत्र के ग्राम नूरपुर कौरिया में एक 9 वर्षीय बालक को हरिबाबा का अवतार माना जा रहा था। लोग भावना में डूब कर उसकी पूजा करने लगे। ग्रामीणों की माने तो इस बालक में जन्म से श्री हरिबाबा महाराज जी जैसे लक्षण दिखाई दे रहे थे । तथा हरि बाबा जी का अवतार कहे जाने वाले दीपक यादव नाम के इस बालक ने बिना कुछ खाये - चालीस दिनों तक यज्ञ किया है। तथा उस यज्ञ की भस्मी से सैकड़ों लोगो के रोगों को दूर किया है। तथा इसमें श्री हरि बाबा महाराज जी जैसे ही लक्षण दिखाई दे रहे हैं। इसने जब से होश संभाला हैं तभी से हरिबाबा के जीवन चरित्र का बखान करना शुरू कर दिया था तभी से इसका नाम हरी बाबा रख दिया। इतना ही नहीं 9 वर्ष की उम्र में ही उसने बताया कि गंगा के किनारे बाँध आश्रम पर मेरे एक शिष्य ने शरीर त्याग दिया है । तथा बाँध आश्रम पर मेरी पुस्तक एबम खड़ाऊं रहे हुये हैं। 6 वर्ष के बाद में स्वयं भी बाँध आश्रम पर पहुँच जाऊंगा। कथित अवतार दीपक यादव के पिता का नाम राजाराम यादव है । जिसने अपने कुछ अन्य साथियों के साथ मिलकर हरि बाँध आश्रम पर पहुँचने की योजना बनाई और 14 सितम्बर 2016 को गाजे - बाजे, एवं घण्टा व् ढोल - मजीरों के के साथ भजन -कीर्तन करते रजपुरा थाना क्षेत्र के कस्बा गावँ के हरि बाबा बाँध पर पहुँच गए। उनकी इस यात्रा में भावना में डूबे लोगों ने खूब धन वर्षा की। हरी बाबा अवतारी के बाँध पर पहुँचने की खबर संपूर्ण खादर क्षेत्र में आग की तरह फैल गयी। कुछ श्रद्धा में तो कुछ लोग कोतुहल के लिये बाँध आश्रम पर इकट्ठा हो होने लगे। रास्ते के गांवों में जिसे भी हरि बाबा अवतारी के बाँध आश्रम पर पहुंचने की सूचना मिली वही अपने अन्य साथियों के साथ बाँध आश्रम की ओर चल पड़ा। वुधवार रात्री करीब नो बजे कथित हरि बाबा अवतारी, आने सैकड़ों साथियों व श्रद्धालुओं के साथ श्रीहरि बाबा बाँध आश्रम पर पहुंच गये तथा रासलीला पंडाल में मंच पर विरजमान हो गए। बाँध आश्रम के सेवकों एवं श्री हरि बाबा महाराज जी के जीवन काल में उनकी लीलाओं को अपनी आँखों से देखने बालों को यह बात अटपटी लगने लगी तो उन्होंने कथित हरि बाबा अवतारी से कुछ ऐसे सवाल ऐसे सवाल खड़े कर दिये जिन्हें स्वयं हरिबाबा महाराज जी एवं उनके सेवक ही जानते थे। बाँध आश्रम के सेवकों के प्रश्न सुनकर कथित हरि बाबा अवतारी के पेट में दर्द हो गया तथा नींद आने लगी। अपने ड्रामा की पोल खुलते देख कथित हरि बाबा अवतारी के साथ आये सैकड़ों समर्थकों में हलचल पैदा होने लगे तथा वे सभी भागने लगे लेकिन बाँध आश्रम के लोगों ने उनके वाहनों को कब्जे में लिया तथा सत्यता स्पष्ट कराने को कथित हरि बाबा अवतारी को उसके पिता एवं कुछ अन्य साथियों सहित एक कमरे में बन्द कर दिया। स्थिति को बिगड़ते देख बाँध आश्रम पर पहले से मौजूद सिपाहियों ने थाना रजपुरा को सूचना दी जिसपर थानाध्यक्ष कुञ्ज विहारी मिश्र भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे तथा कथित हरि बाबा अवतारी 9 वर्षीय बालक दीपक यादव एवं उसके पिता राजाराम यादव को उसके साथियों सहित बाँध आश्रम के लोंगो से मुक्त कराकर थाना ले आये। थानाध्यक्ष के अनुसार कथित हरि बाबा अवतारी एवं उसका पिता व् उसके गाँव के अन्य लोग भजन कीर्तन करते हुए गंगा स्नान के लिये बाँध आश्रम वाले गंगा घाट पर जा रहे थे। यहाँ कुछ अज्ञात लोगों ने उनका बालक छीन कर कैद कर लिया। जिसके लिये उसने कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ परेशान करने एवं बालक को छीन कर कैद करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

वर्ष का बालक क्यों बना हरि बाबा का अवतार
क्या लोगों की भावनाओं से खिलबाड़ करना अपराध नहीं है

खादर क्षेत्र को गंगा जी के क्रोध से अभय दान देने वाले श्री हरि बाबा महाराज जी को उनके भक्त भगवान मानकर पूजते हैं। दिल्ली, बरेली, आगरा, मथुरा-बृन्दावन, पंजाब, महाराष्ट्र आदि सैकड़ो नगरों से गुरु पूर्णिमा एवं फाल्गुन मास में बाँध आश्रम पर अपने परम् पूजनीय श्री महाराज जी की पूजा अर्चना के लिये आते हैं। सम्भल, बदायूँ, बुलंदशहर, अलीगढ़, अमरोहा, मुरादाबाद, हापुड़ आदि आदि जनपदों के श्रद्धालु लगभग प्रत्येक धर्मिक त्यौहार पर अपने परम् श्रध्य् श्री हरि बाबा महाराज जी का पूजन व दर्शन करने बाँध आश्रम पर पहुँचते है । ऐसे परम् संत के नाम पर लोंगों की भावनाओं से खिलबाड़ करके उनका अवतारी बनने के पीछे आखिर क्या सोच रही होगी। आखिर स्थनीय पुलिस ने यह जानने का प्रयास क्यों नहीं किया? क्या लोगों की भवनाओं से खिलबाड़ करना अपराध की श्रेणी नहीं आता है? लोंगों की भवनाओं से खिलबाड़ करने वाले कथित हरि बाबा अवतारी के पिता की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। तो क्या किसी संत के भक्तों की भवनाओं को पुलिस नजर अंदाज करेगी। इस विषय में गुन्नौर के क्षेत्राधिकारी महोदय ने बताया कि प्रथम दृश्या मामला कुछ लोगों के द्वारा 9 वर्ष के बालक को जबरदस्ती श्री हरि बाबा जी का अवतार बनाये जाना का मामला संज्ञान में आया है। बाँध आश्रम अथवा श्री हरिबाबा महाराज जी के श्रद्धालुओं के द्वारा इस तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है यदि कोई शिकायत मिलती है तो जाँच करके कार्यवाही की जाएगी। दीपक यादव के पिता राजाराम के द्वारा उन्हें परेशान करने एवं जालीदार कमरे में बंद करने व जबदस्ती अवतार बनाने की तहरीर पर रिपोर्ट लिखी गई है। आगे इस मामले की जाँच की जायेगी।

वेदवसु आर्य ( 18 )

Bureo Chief Sambhal, Babrala.