भाम्रक विज्ञापनों पर सेलिब्रिटी को हो सकती है पांच साल की जेल

  • 2016-08-30 04:15:46.0
  • वरूण आर्य

भाम्रक विज्ञापनों पर सेलिब्रिटी को हो सकती है पांच साल की जेल

नई दिल्ली: भ्रामक विज्ञापन करने वाली हस्तियों पर जवाबदेही तय करने संबंधी एक नये विधेयक पर आज विचार किया जाएगा। इस मसौदे के तहत भ्रामक विज्ञापन करने वाली हस्ती पर 50 लाख रूपये जुर्माने व पांच साल की जेल की सजा रखी जा सकती है।

वित्त मंत्री अरूण जेटली की अध्यक्षता वाले मंत्री समूह की बैठक आज हो सकती है। इस अनौपचारिक मंत्री समूह में जेटली के अलावा उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान, स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद, बिजली मंत्री पीयूष गोयल तथा वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण भी हैं।

इस विधेयक में अपराध पर 10 लाख रूपये का जुर्माना व दो साल की सजा का प्रस्ताव है। वहीं अगर कोई सेलिब्रिटी या एंबैडसर दूसरी बार या आगे और गलती करता है तो 50 लाख रूपये तक का जुर्माना या पांच साल की सजा हो सकती है।

उल्लेखनीय है कि केंद्र ने पिछले साल अगस्त में उपभोक्ता संरक्षण विधेयक 2015 लोकसभा में पेश किया ताकि 30 साल पुराने उपभोक्ता संरक्षण कानून को हटाया जा सके। संसद की स्थायी समिति ने अपनी सिफारिशें अप्रैल में सौंप दीं। समिति की रपट का अध्ययन करने के बाद उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कुछ प्रमुख सिफारिशों को स्वीकार किया जिनमें सेलिब्रिटी की जवाबदेही तय करना तथा मिलावट के लिए कड़ा दंड आदि शामिल है।

मिलावट पर लगाम लगाने के लिए मंत्रालय ने कड़े दंड व जुर्माने का प्रस्ताव किया है। इसके तहत लाइसेंस का निलंबन व रद्द किया जाना भी शामिल है।